चचेरी बहन की सील पैक गांड मारी- 1

ब्रदर एंड सिस्टर सेक्सी स्टोरी मेरे चाचा की बेटी की है. मैं चाचा के घर छुट्टियां बिताने गया तो अपनी चचेरी बहन्की जवानी देख मेरा लंड खड़ा हो गया. हैलो फ्रेंड्स, मैं आपके सामने अपनी एक और मस्त सच्ची सेक्स कहानी के साथ पुन: हाजिर हूँ. ये ब्रदर एंड सिस्टर सेक्सी स्टोरी मेरे चाचा की लड़की के साथ की है. मेरी पिछली कहानी थी: मामा की जवान बेटी की गांड फाड़ी मेरे चाचा चाची लखनऊ में रहते हैं. वो दोनों ही सरकारी नौकरी करते थे. मैं चाचा के यहां छुट्टी बिताने गया था. उस समय मैं 20 साल का हो गया था. मेरे चाचा की लड़की भी जवान हो गई थी और उसका शरीर काफी गदराया हुआ सा दिखने लगा था. उसे देख कर मेरे मन में पहला ख्याल यही आया था कि इसे देख कर ऐसा लग रहा है कि जलेबी शीरा पी गई है. मतलब उसने लंड का स्वाद ले लिया है या अपने किसी ब्वॉयफ्रेंड से दूध दबवा लिए हैं. चूंकि वो एक बड़ी सिटी में रहती थी, तो हो सकता है कि उसे इधर की आधुनिकता की हवा लग गई हो और ब्वॉयफ्रेंड पाल रखा हो. लेकिन उसकी बातों से और उसकी मासूमियत देखने से नहीं लग रहा था कि इसका कोई हमदम होगा. मेरी चचेरी बहन की गांड एकदम कसी हुई है और उसके चूतड़ भी एकदम टाईट हैं मतलब चलते समय उसके चूतड़ों को देख कर ऐसा नहीं लगता था कि अभी इसकी मशीन चल चुकी हो. हालांकि मेरा उसके लिए कोई गलत विचार नहीं था और न ही मैं उसके साथ कुछ भी ऐसा वैसा करने का मन रखता था. तो चाचा जी के घर में मैं मस्ती से अपनी छुट्टियां बिताने लगा. एक दिन मैं बाथरूम में नहा रहा था. मैं इस बात का बड़ा ख्याल रखता था कि गेट लगा कर ही नहाऊं. उस दिन भी मैं बाथरूम का गेट बंद करके नंगा नहा रहा था. मगर पता नहीं, उस दिन क्या हुआ कि गेट शायद ठीक से नहीं लग सका था. मैं अन्दर साबुन लगा कर लंड सहला रहा था. मेरा लंड एकदम से तन्नाया हुआ था और लंड पर झाग ही झाग था. मेरा 7 इंच का लंड इस समय 9 इंच दिख रहा था. तभी एकदम फटाक की आवाज आई और मेरी चचेरी बहन अन्दर आ गई. उसने अचानक से गेट खोल दिया था. उस समय मैं गेट की तरफ मुँह करके ही लंड हिला रहा था. उसका दरवाजा खोलना हुआ और मेरा खड़ा लंड सीधा उसके मुँह के पास जा लगा था. चूंकि मेरी बहन की हाईट कुछ छोटी है, तो मेरा लंड उसके मुँह पर जा लगा. वो खड़ा लंड देख कर एकदम से सकपका गई और पलट कर भाग गई. मैंने भी जल्दी से दरवाजा बंद किया और एक हादसा समझ कर गौर नहीं दिया. कुछ देर बाद मैंने नहा कर बाहर आ गया. इस घटना के बाद वो मुझे अक्सर अजीब सी नजरों से देखने लगी और जब भी मैं सुसु करने जाता, वो उसी समय मेरे पास आकर मुझसे बात करने लगती और मेरा लंड देखने की कोशिश करती. पहले तो मैंने कभी इस बात पर ज्यादा गौर नहीं किया. मगर जब अक्सर ऐसा होने लगा, तो मैंने सोचा कि ये पता नहीं क्या देखना चाहती है. साली रोज रोज ऐसा करती है, तो क्यों न एक दिन इसको फिर से लंड दिखा ही दूँ. इसका मन भर जाएगा, तो शायद आगे से न देखे. यही सोच कर मैंने उसे लंड दिखाने का मन बना लिया. दूसरे दिन में पेशाब कर रहा था, तो वो अपनी आदत के चलते मेरे नजदीक आ गई. मैंने पेशाब करके लंड उसके मुँह की तरफ कर दिया और मुठ मारने जैसे आगे पीछे करके लंड हिलाने लगा. मैंने लंड हिला कर उसे ठीक से देखने दिया और पैंट के अन्दर कर लिया. मैंने सोचा कि अब नहीं देखेगी. लेकिन उसी दिन शाम के समय वो फिर से मेरे मूतने के समय पास आकर खड़ी हो गई. उस वक्त मैंने जींस पहनी थी, तो लंड बाहर नहीं आ पा रहा था. मैं काफ़ी देर से मोबाइल में ब्लूफिल्म देख रहा था और मेरा लंड एकदम तना हुआ था … तो जींस से निकल नहीं रहा था. मैंने जींस की जिप खोली और अंडरवियर को नीचे कर दिया. जैसे ही अंडरवियर नीचे आया … मेरा लम्बा लंड फट से झूलता हुआ बाहर आ गया. उसने मेरी तरफ देखा, तो उसका मुँह खुला का खुला रह गया क्योंकि मेरा लौड़ा जड़ तक साफ़ दिख रहा था. मैंने उसे नजरअंदाज किया और पेशाब करके वापस आ गया. इसके बाद मैंने उसकी नजरों का पीछा करना शुरू किया कि लंड देखने के अलावा और क्या क्या करती है. तो पाया कि सुबह जब मैं सोकर उठता हूँ, तो मेरा लंड मुझे झड़ा हुआ मिलता है. चूंकि मैं बहुत गहरी नींद में सोता हूँ तो मुझे होश ही नहीं रहता है कि किस ने मेरे साथ क्या किया.

Pages: 1 2 3