तारक मेहता का उल्टा चश्मा का चुदक्कड़ परिवार

इस फेंटेसी Xxx स्टोरी में मैंने तारक मेहता का उल्टा चश्मा वाले सोढी और उसकी बीवी की गांड चुदाई की कल्पना की है. देश में लॉकडाउन था तो सबको चुदाई ही सूझती थी. हैलो फ्रेंड्स, ये फेंटेसी Xxx स्टोरी एक कल्पना पर आधारित है, इससे किसी की भावनाओं को ठेस पहुंचाने की मंशा नहीं है. मगर जिस तरह से टीवी पर आने वाले सीरियल तारक मेहता का उल्टा चश्मा में एक पंजाबी सोढ़ी को अपनी पारसी बीवी रोशन के साथ मस्ती करते हुए दिखाया जाता है. उस मस्ती से मेरे दिमाग में उनके बीच होने वाले सेक्स की कल्पना ने जन्म लिया. साथ ही उन दोनों का लड़का गोगी को भी मैंने इस सेक्स कहानी में एक रोल दिया है. आइए फेंटेसी Xxx स्टोरी का मजा लेते हैं. जैसा कि आप सभी को मालूम है कि तारक मेहता वाले सीरियल में सोढ़ी नामक एक सरदार बड़ा ही नॉटी दिखाया जाता है और उसकी सेक्सी बीवी रोशन भी बड़ी चुलबुली किरदार है. रोशन अपने मस्त फिगर के कारण सोढ़ी को हमेशा ललचाती रहती है. सोढ़ी भी अपनी बीवी को किसी न किसी तरीके से पकड़ कर चोद देना चाहता था. पिछले साल जब पूरे देश में लॉकडाउन लग गया था और इसकी वजह से पूरा देश बंद हो चुका था. उसका असर गोकुलधाम परिवार पर भी हुआ था. सभी सोसाइटी वाले अपने अपने घरों में कैद होकर रह गए थे. एक दिन सुबह सुबह सोढ़ी अपने हॉल में बिना कपड़े पहने हुए एकदम नंगा बैठा था और ‘साथी हाथ बढ़ाना, साथी हाथ बढ़ाना …’ का गाना गाते हुए अपने लंड को तेल लगाकर मालिश कर रहा था. उसका लंड सात इंच का एकदम कड़क हो चुका था और वो किसी भी तरह से अपनी बीवी रोशन को चोदने की फिराक में था. इस समय उसके दिमाग में सिर्फ अपनी बीवी रोशन की जवानी ही घूम रही थी. दो दिन से गोगी के कारण रोशन ने उसे चुत चोदने नहीं दी थी इसलिए सोढ़ी का दिमाग भन्नाया हुआ था. वो सुबह से एक पैग लगा आकर अपने लंड की खुल्लम खुला मसाज कर रहा था. रोशन को ये पता ही नहीं था कि उसका पति सोढ़ी बाहर ड्राइंगरूम में अपना लंड हिला रहा है. रोशन की चुत भी लंड के लिए कुलबुला रही थी. जैसे ही रोशन के कानों में सोढ़ी के गाने की आवाज आई वो अपने हाथ में कड़छी लिए हुए किचन से बाहर निकल कर ड्राइंगरूम में आ गई. उसने रोशन को अपना हथियार हिलाते हुए देखा, तो वो पहले तो एकदम से गर्म हो गई. फिर उसे अपने गोगी पुत्तर की याद आई तो वो अपने पति सोढ़ी से कहने लगी- आ तू शु करे छे सोढ़ी? तुझे नहीं पता गोगी पुत्तर अन्दर सो रहा है?’ मगर सोढ़ी पर उसकी बात का कोई असर नहीं हो रहा था. वो बदस्तूर अपना लंड हिलाते हुए गाना गाता रहा. सोढ़ी को लंड की तेल मालिश न रोकता हुआ देख कर रोशन सर पीटने लगी. उसने इस समय बिना स्लीव वाली घुटनों तक आती हुई ड्रेस पहनी हुई थी. सोढ़ी- ओये सोनिये … तुसी 100 साल जियेगी डार्लिंग … तुझको ही याद करके लंड की तेल मालिश कर रहा था. यह बोलते हुए सोढ़ी ने अपनी बीवी को अपनी ओर खींच लिया और उसको अपनी गोद में बिठा लिया. रोशन को अपनी गोद में बिठाते वक़्त सोढ़ी ने उसकी स्कर्ट पीछे से ऊंची कर दी, जिससे रोशन की गांड में उसका लंड समा सके. उधर सोढ़ी के लंड पर बैठते ही रोशन की चुत मचल उठी मगर उसके दिमाग में अभी भी अपने पुत्तर गोगी की चिंता समाई हुई थी. वो सोढ़ी से छूटने की कोशिश करने लगी. मगर सोढ़ी ने रोशन को अपनी बांहों में दबोचा हुआ था. सोढ़ी- सोनिये … आह तुहाडी गांड किन्नी हसीन है. रोशन को अपने लंड पर बिठाने के बाद उसकी गांड पर हाथ फेरते हुए सोढ़ी ने रोशन की एक चूची भी मसल दी. “तू भी न सोढ़ी! एकदम गांडो थई गयो छे.” रोशन ने सोढ़ी के गाल पर हल्की सी थपकी लगाते हुए कहा. मगर तब तक सोढ़ी का पूरा लंड रोशन की गांड में समा चुका था. रोशन की दर्द भरी कराह निकल गई और वो सीत्कार करते हुए बोली- शु करे छे गांडा … गलत छेद में पेल दिया साले … आगे डाल कमीने. सोढ़ी अपनी मस्ती में रोशन में कंधे दबाता हुआ उसे अपने लंड पर ठांसता चला गया. वो अपनी मस्ती में बोला- आह सोनिये … मैंने सही जगह लंड पेला है … आज मेरा लंड बहुत कड़क है, इसे तेरी गांड की सैर करनी थी. अब तक रोशन ने भी उसके लंड को अपनी गांड में झेल लिया था … वो भी मस्ती में गांड हिलाते हुए मचलने लगी. सोढ़ी ने लंड अन्दर बाहर करते हुए कहा- ओह सोनिये … साली दो दिन से तेरी ले ही नहीं पा रहा था. अब तो लॉकडाउन है. हम रोज़ यूँ ही चुदाई करेंगे कुड़िये … आह … आह … ले!

Pages: 1 2 3