तारक मेहता का उल्टा चश्मा का चुदक्कड़ परिवार

“शु करे छे सोढ़ी? गोगी फिर से बाहर आ जाएगा. ए बाबा मने जल्दी कपड़ा पेहरवा दे ने.”

जैसे ही सोढ़ी ने रोशन की चूत में उंगली डालने की कोशिश की, तभी रोशन ने सोढ़ी की ओर मुड़ते हुए उसे मना किया.

“अरे सोनिये! एक बार मेनू इस चूत का रस तो चख लेन दे.” सोढ़ी ने ऐसा बोलते हुए फिर से रोशन को सोफे पर कुहनियों बल पर झुका दिया और खुद घुटनों के बल बैठ कर रोशन की चूत चाटने लगा.

कुछ देर चूत चाटने के बाद रोशन ने एक बार और अपना पानी निकाल दिया, जिसे सोढ़ी बड़े आराम से पी गया.

जब सोढ़ी रोशन की चूत चाट रहा था, तभी गोगी फिर से बाहर निकल आया. इस बार रोशन ने जैसे तैसे करके खुद को संभाला, लेकिन इस बार गोगी ने अपनी मां को ठीक से देख ही लिया था.

“मम्मी, मैं किचन में आपका वेट कर रहा हूँ, प्लीज़ जल्दी आ जाइए.”
“बस आवी ज गयी डिकरा ..” कहते हुए रोशन खड़ी हुई और अपना ड्रेस पहनने लगी.

“तू भी एकदम नॉटी थई गयो छे सोढ़ी! बेटे के सामने ही मां को चोद दिया?” इतना बोलते ही रोशन ने अपने होंठ सोढ़ी के होंठ पर टिका दिए और रोशन को एक बड़ा सा किस कर दिया.

फिर उसने घुटनों के बल बैठ कर सोढ़ी के लंड पर एक किस की और उसको पैंट पहनाते हुए बोली- अब फिर कभी मज़ा करेंगे मेरे राजा.

वो गांड मटकाती हुई किचन की ओर चल पड़ी. जब कि सोढ़ी कपड़े पहन कर सोसाइटी कंपाउंड में जाने के लिए निकल पड़ा.

आपको यह फेंटेसी Xxx स्टोरी कैसी लगी, हमें जवाब ज़रूर दें.

Pages: 1 2 3