दारू पार्टी में चुदाई पार्टी हो गयी

पंकज अभी तक नंगा लेटा हुआ था, हमने उसके ऊपर चादर डाल दी।

फिर मैंने उसे जगाया तो वो बोला- राज भाई रात को थोड़ी ज्यादा हो गई थी।

मैंने कहा- हां मुझे भी बहुत नींद आई।
वो बोला- तेरी भाभी कहां है? चाय पी कर जाना।
बस इतना बोलकर वो फिर से सो गया।

उधर रूपा भाभी चाय बना रही थी। मैंने पीछे से उसे पकड़ लिया और चूमने लगा।
वो बोली- राज … रातभर सेक्स सेक्स सेक्स … इतने में भी तुम्हारा मन नहीं भरा?
मैंने कहा- भाभी, आप बहुत मस्त हो, मेरा तो फिर से मन हो रहा है।

मैं ऊपर से भाभी की चूचियों को दबाने लगा और उसकी गान्ड पर चांटें मारने लगा।
वो बोली- राज छोड़ो, अब नहीं।

वो नीचे बैठ गई और चाय छानने लगी। मैंने लंड निकाल लिया और उसका सिर पकड़ कर उसके मुंह में डाल दिया और चोदने लगा।

उसने लंड को निकाल दिया तो मैंने फिर से घुसा दिया और झटके देने लगा। उसने फिर से निकाला और मैंने फिर घुसा दिया।

अब वो भी हार गयी और लंड को चूसने लगी।
मैं उसके मुंह को वहीं खड़ा खड़ा चोदने लगा।

मैंने झटकों की रफ्तार बढ़ा दी और गले तक पेलने लगा। अब मैंने उसे कसकर पकड़ लिया और वो चूसने लगी।

तभी मेरी आंखें बंद हो गईं और लंड से ज्वालामुखी फूट पड़ा। मेरे वीर्य से रूपा का मुंह भर गया और वो गटागट करके पी गई और लंड को निचोड़ कर साफ़ कर दिया।

थोड़ी देर हमने बात की और फिर मैं जाने लगा।
वो बोली- राज … आते रहना। तुम्हारे दोस्त की बीवी को अपने लौड़े का मज़ा देते रहना।

मैंने कहा- भाभी, आप जब बुलाओगी आ जाऊंगा मैं!
वो बोली- राज तुम मस्त चोदते हो, अपने दोस्त को भी सिखाओ।
मैंने हंसते हुए कहा- इसमें तो मेरा ही घाटा है।

वो भी हंसने लगी और बोली- अच्छा … दोस्त की बीवी को चोदने में बहुत मजा आता है क्या?
मैंने कहा- भाभी, आपको चोदने में आता है। पंकज ने पहले नहीं बताया कि भाभी इतनी अच्छी मछली खिलाती है।

भाभी बोली- आपका घर है, जब खाना हो आ जाना।
फिर मैंने उसे गले लगाया और उसके होंठों को चूसने लगा।
वो भी साथ देने लगी।

फिर दोबारा आने का वादा करके मैं गुड़गांव अपने रूम पर आ गया।
उसके बाद भी मैंने कई बार रूपा भाभी को चोदा।

आपको मेरे दोस्त की बीवी की चुदाई की कहानी कैसी लगी मुझे जरूर बताना।
सेक्स सेक्स सेक्स कहानी पर कमेंट करना न भूलें।

Pages: 1 2 3 4