मैडम ने गर्लफ्रेंड बनकर मुझसे गांड चुत चुदवाई

इस बार उन्होंने मेरे लोअर पर हाथ डाला और मुझे भी नंगा होने के लिए कह दिया.

मैंने झटपट अपने कपड़े उतार दिए और अपना लम्बा मोटा लंड मैडम के सामने लहरा दिया.

मैडम ने मेरे लंड को देखा तो उनकी आंखों में चमक आ गई.

जल्द ही मैडम ने मेरे लंड को चूसना शुरू कर दिया और हमारे बीच सेक्स का खेल एक बार फिर से शुरू हो गया.

इस बार सबसे पहले मैंने मैडम की गांड में उंगली की, तो मैडम ने कहा- पीछे से शुरुआत करोगे?
मैंने कहा- हां, मुझे आपकी गांड बहुत मस्त लगती है.
उन्होंने कुछ नहीं कहा.

वो क्रीम की डिब्बी उठा लाईं और मुझे देते हुए इशारा कर दिया.
मैंने मैडम की गांड में उंगली के साथ साथ क्रीम भी भरना शुरू कर दी.
पहले एक फिर दो फिर तीन उंगलियों से मैंने मैडम की गांड को ढीला किया.

फिर लंड के टोपे को गांड के मुहाने पर रख कर घिसा तो मैडम ने अन्दर करने का कह दिया.

मैंने सुपारा फंसा कर तेज झटका मार दिया और मैडम की घुटी हुई चीख निकल गई.
मैं लगा रहा और कुछ देर बाद मैडम को गांड मराने में मजा आने लगा.

करीब दस मिनट तक गांड मराने के बाद मैडम ने कहा कि अब आगे आ जाओ.
मैंने उन्हें चित लिटाया और उनकी चुत में लंड पेल दिया.

मैडम को चुदाई में मजा आने लगा और दस मिनट बाद मैंने मैडम के कहने पर अपना पानी उनके पेट पर निकाल दिया.

उस दिन मैंने बहुत देर तक उनकी गांड चुत में दो दो बार लंड डाल कर कुत्ते की तरह उन्हें चोदा. मैडम की चुदाई करने में मुझे बहुत अच्छा लग रहा था.

रात को एक बजे मैं मैडम के कमरे से निकल कर अपने कमरे में आ गया.

उस दिन के बाद से मैडम की चुत गांड मेरे लिए हर वक्त खुली रहने लगी थी.

आपको मेरी ये होम ट्यूटर सेक्स कहानी कैसी लगी, प्लीज़ मेल करके जरूर बताएं.
मेरी ईमेल आईडी है

Pages: 1 2 3 4