विधवा मौसी का प्यार और चुत गांड चुदाई

उसके बाद तो अक्सर मैं मौसी के घर जाने लगा और हम दोनों खूब मज़े करने लगे.

सच कहूँ दोस्तो, तो मुझे अब जिंदगी जीने में फिर से मज़ा आने लगा था और मौसी भी ये खेल पूरा खुल कर खेलती थीं.
इतना मज़ा कोई जवान औरत या लड़की नहीं दे पाएगी, जितना मज़ा मौसी ने मुझे दिया.

उसके बाद मौसी ने अपनी चार सहेलियों की चुदाई भी मुझसे करवाई और एक दो बार तो हमने थ्री-सम सेक्स भी किया.

मेरी विडो सेक्स कहानी आपको कैसी लगी, ज़रूर बताइएगा. मेरी मेल आईडी पर संपर्क करें. मुझे आपके मेल की प्रतीक्षा रहेगी.

Pages: 1 2 3 4