मेरी बहनकी कच्ची चूत

मैने एक और ज़टका दिया तो लंड पूरा अंदर चला गया और वह चिल्ला रही थी, वह सिलपेक होने के कारण खून निकलने लगा और वह घबरा गई, मैने उसे समजाया, हम पूरी रात भर चुदाई कर रहे थे और मैने ३ शॉट मारे, सुबह ६ बजे उठने के बाद और एक शॉट हो गया, हमने कंडोम के बिना किया था तो उसको एक i पिल लाकर दे दी.

दुसरे दिन बहन एकदम थक चुकी थी और उसने मुझे हाथ भी लगाने नही दिया. उसकी चूत में दर्द हो रहा था, उसके अगले दिन उसे पीरियड आ गये, और हमने पीरियड में भी चुदाई के मजे ले लिए.

अब हम लोग रूम पे जाकर नंगे ही रहते हे और खूब मस्ती भी करते हे, रात को साथ में ही सोते हे और सेक्स का पूरा पूरा मजा लेते हे, घर में ही सेक्स मिल जाने की वजह से हम काफी खुश थे.

अब हम लोग रूम में रोज पति पत्नी की तरह चुदाई का मजा लेते थे.

जब हम घर पर जाते हे और जब घर पर कोई नही होता तो हम वहा भी चुदाई करते हे, मेरे ज़ट के बाल वह साफ करती हे और में उसके चूत के बाल साफ करता हु.

में उकसे ब्रा और पेंटी खुद शोपिंग कर के ले आता हु, चार महीने बाद मेरी पढाई पूरी होने पर हम घर जाने वाले हे, एक दुसरे की शादी होने के बाद भी हम ने चुदाई करने का प्लान किया हे.

कहानी पढने के बाद अपने विचार आप निचे कमेन्ट बोक्स में जरुर लिखे, और आपके लिए कहानियो का दोर उही चलता रहे.

दोस्तों यह मेरी पहली स्टोरी हे जो सच में हुई एक सच्ची घटना हे, अगर कोई गलती हुई हो तो माफ़ कर देना और इस कहानी में यदि आपको कुछ जूठ लगता हे तो आप मेल पर मुझे कोंटेक्ट कर सकते हे में आपको ट्रिक्स बता सकता हु यदि आपको अपनी बहन को या किसी लड़की को चुदवाना हे तो आप मुझे कभी भी मेल कीजिये और में आपकी सेवा के लिए हमेशा हाजिर हु.

Pages: 1 2