चुदाई की वो रात क्या बात

उसने मुझे कहा जाओ पानी लेकर आओ और मैं पानी लेकर आया और जान बुजकर उसके बूब्स पर पानी गिरा दिया और वो मुझे कातिल नज़रो से देखने लगी और डाँटने लगी, निशा “ये क्या किया”, मैं “कुछ नही जाओ चेंज कर लो”, निशा “मुझे अकेले डर लगता है रूम मे यही चेंज कर लून”, मैं “कर लो”, निशा “तुम अपनी आँखे बंद करो”, मैं “हान ओके”, और मैने अपनी आँखे बंद कर ली सिर्फ़ निशा को दिखाने के लिए पर मैं उसे देख रहा था उसने जैसे ही अपनी सारी हटाई उसके बूब्स बाहर आने को तरस रहे थे और उसने मुझे कहा जीत हेल्प करो ये ब्लाउस की डोर खोलने मे, मे समझ गया की अब निशा भी चुदवाने के मूड मे है और मैं उसकी ब्लाउस की डोर को खोलने लगा और जाबर दस्ती उसे एक किस कर दी, पहले तो उसने नखरे दिखाए और फिर वो मेरा साथ देने लगी और हम दोनो का स्मूच काफ़ी देर तक चलता रहा, दोस्तो उसके होंठ इतने मुलायम थे की उसके होठों के रस से मेरा मूह भर गया था कसम से किस करने से ही पूछ-पच की आवाज़े आने लगी थी.

थोड़ी देर स्मूच के बाद मैने अपना एक हाथ उसके बूब्स पर रखा और उन्हे मसलना शुरू कर दिया वो मेरे होटो को काटने लगी और कहती जा रही थी बस करो जीत बस करो ज़रा धीरे जीत धीरे पर मैं कहा मानने वाला था, मैने उस लाल पारी की सारी अब पूरी तरह उतार दी थी और अब उसे बाहों मे उठा कर अपने बेड पर ले गया और उसे पागलो की तरह किस करने लगा, फ्रेंड्स सेक्स करने से पहले फॉरपले ज़रूर करें इससे आपके पार्ट्नर मे सेक्स तेज़ी से चढ़ता है, फिर मैने उसे ज़ोर-ज़ोर से चिप-छाप छाप करके किस किए उसके नेक पे उसके कानो मे उसके होठों मे पागलो की तरह वो भी मुझे ज़ोर-ज़ोर से किस किए जा रही थी, आगे की स्टोरी बाद मे फ्रेंड्स की कैसे उस रात हमने चुदाई की और कैसे हम लोगो ने 5 बार सेक्स के मज़े लिए वो अगले पार्ट मे फ्रेंड्स प्लीज़ मैल मी फॉर नेक्स्ट पार्ट, मेरी मैल आईडी है “[email protected]”. कहानी पढ़ने के बाद अपने विचार नीचे कॉमेंट्स मे ज़रूर लिखे, ताकि हम आपके लिए रोज़ और बेहतर कामुक कहानियाँ पेश कर सके – डीके

Pages: 1 2

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *