मेरी चुद्कद दीदी का लिव-इन रीलेशन

दीदी ने फिर कहा के मेरे भाई ने रंडी बाज़ार में मुझे नौकरी दिला कर बोह्त अच्छा किया था. मुझे बुरा तब लगा जब उसने हटवा लिया वाहा पे रोज़ मेरी एसी ही चुदाई करते थे, यह सुनते ही जीजा जी ने मुस्करा कर दीदी को चूसने लगे.

उसने दीदी को घोड़ी बनाया और दीदी की गांड पे थ्हपड मारकर भोसड़ी में लंड घुसा दिया. दीदी की ठुकाई वो बहुत बुरे तरीके से करता रहा और उसने एक दफ़ा भी दीदी पे तरस नही खाया और बस दरिंदो के जेसे लगा रहा.

फिर जीजा जी बेड पे लेट गये और दीदी को अपने लंड पे बिठा कर ज़ोर-ज़ोर से झटके मारने लगा. फिर दीदी ने उन्हे एक दम ही रोक दिया.

मुझे लगा के दीदी शायद अब थक्क गई है, पर एसा न्ही था. अब दीदी का काम शुरू हुआ दीदी अपनी गांड को हिला हिला कर चूत में लंड ले रही थी.

दीदी ने अपनी गांड को हिल्लाना शुरू किया जैसे वो कोई पॉर्न डॅन्सर हो या कोई पोर्नस्टार, दीदी का रंडी पना देख कर मैं हैरान रह गया और फिर जीजा जी ने लंड निकाला और दीदी को लिटा के उनके उपर लेट गये और उन्हे ज़ोर ज़ोर से धक्के मारने लगे, दीदी की चूत गांड मूह एक दम लाल ही चुके थे और धक्के इतने ज़ोर से थे एसा लग रहा है किसी ने पॉर्न वीडियो फास्ट फॉर्वर्ड करके रख दी हो.

जीजा जी के धक्के का ज़ोर और दीदी की हवस यह वाला बेड भी सहन नही कर पाया और यह बेड भी टूट गया. लेकिन दीदी और श्याम हस पड़े और दीदी कहते यह 37त बेड था और फिर से एक दूसरे को चूसने लगे.

मैं दीदी की यह बात सुन कर हैरान रह गया और जीजा जी कहते के आजा ज़मीन पर लेट. दीदी ने उनकी बात मानी और ज़मीन पे लेट गई. जीजू ने अपनी उंगलियो पे थूक लगाया और दीदी की भोसड़ी पे लगा दिया.

जीजू ने दीदी का एक लेग उस तरफ और दूसरा लेग दूसरी ओर करके खोल दिया. फिर अपने लंड पे दुबारा थूक फेंक कर दीदी की भोसड़ी में घुसा दिया और ज़ोर ज़ोर से मारने लगा.

एक दम ही दीदी ने जीजू को पीछे किया और दीदी की चूत से पानी निकलने लगा और जीजू हसने लगे. बस थोड़ी देर और चुदाई करने के बाद उसने दीदी की चूत के उपर अपना रस गिरा दिया और एक आफ्टर सेक्स किस दिया.

धन्यवाद उमीद है आपको यह कहानी पसंद आई होगी, हमे कॉमेंट करके बताए के मेरी दीदी की असली कहानी आपको कैसी लगी?

Pages: 1 2 3

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *