एक तीर से चार की चुदाई

फिर मैने सारी आइस क्रीम चाट ली उसने कहा की वो नहा के आएगी और मै उसका बेडरूम में इंतेजार करू मै माना नही जैसे वो बाथ रूम में गयी मै उसके पीछे गया और उसके कपड़े उतारे धीरे धीरे वो बाथ टब में गयी और मै उसपे चड गया हमने साथ में नहाया किस किया, रात के 10 :30 बज रहे थे.

मैने उसे कहा अब हम बेड रूम में चलते है उसने कहा चलो मै तुम्हे अपनी चूत देती हू उसने मेरा लंड चूसा मैने अपना सारा पानी उसके मूह में छोड़ा और मैने कॉन्डोम अपने साथ लाया था दोस्तों सेक्स से पहले कॉन्डोम ज़रूर यूज़ करे.

मै कॉन्डोम लगाने गया लेकिन वो मुझपे घुस्सा हुई उसने कहा कॉन्डोम क्यू लगते हो मुझे एड्स नही है मैने कहा ठीक है मै धीरे से अपना लंड उसकी चूत पर रगड़ रहा था वो बहुत डेस्परेट हो रही थी.

मैने कहा सबर का फल मीठा होता है मेरी जान उसने कहा जानू आप अपने लंड से मेरी सील तोड़ दो जल्दी करो उसकी चूत दर्द से तड़प रही थी.

मैने अपने लंड को उसके चूत में सेट किया और थ्रस्ट लगाया मेरा लंड उसके चूत मे चला गया वो ज़ोर से चिल्लाई अह्ह्ह्हहह अह्हहह मेरा लंड पूरा उसकी चूत में चला गया उसकी चूत मे खून आ रहा था पर उसने वो नज़रअंदाज किया और मेरे लंड का मज़ा लेती रही मैने उसे बहुत चोदा फिर मुझे बहुत बड़ी खुश खबरी मिली.

मुझे पता चला की मेघना पूरे एक महीने तक मेरे सिटी में रहेगी हमारी कल रात की चुदाई यादगार थी उसे बहुत मज़ा आया मेरा लंड उसकी चूत में फस गया था.

फिर अगले दिन मेघना ने अपने फ्रेंड्स को बुलाया उसके साथ उसकी और तीन फ्रेंड्स थी अर्पिता , नेहा और उसकी बड़ी बेहन स्नेहा वो भी मेघना की तरह मेरे सेक्स फ्रेंड्स बनना चाहती थी.

मैने हा कर दी अगली रात हम चारो चुदाई के लिए तैयार थे पहले दोपहर मे मै उनके साथ शॉपिंग के लिए गया उन्होने अपने लिए मेरे पसंद का सेक्स वियर खरीदा रात को हम सब साथ में नहाए अर्पिता की हाइट बहुत लंबी थी और उसके बूब्स बड़े थे और नेहा और स्नेहा बहुत सुंदर दिखते थे नेहा की गांड छोटी थी..

पर बूब्स बड़े थे मतलब बहूत बड़े और स्नेहा की गांड बहुत सेक्सी थी मैने रात में पहले वायग्रा लिया और मेरा लंड रात भर चुदाई के लिए तैयार मैने स्नेहा को एनल सेक्स दिया सबसे पहेले क्यूंकी बाकी सबकी गांद का होल इतना बड़ा नही था पर स्नेहा ओह्ह येअह फिर मैने अर्पिता को डॉगी स्टाइल में चोदा आ आ आ आहह आह्ह्ह वो सारी एक दूसरे को चोद रही थी.

सही कहता हू दोस्तों मुझे जो मज़ा आया ना वो एक लड़की के साथ रात गुज़ारने मे नही आता था मैने पूरी रात उनकी चुदाई किया और सुबह पूरा दिन हम नंगे रहे.

फिर एक महीने तक हम रोज चुदाई करते रहे और अपने आप को सॅटिस्फाइ करते रहे हमने एक दूसरों का फोन नो. लिया अभी भी मैं उनके कांटेक्ट में रहता हू इसीलिए मैने टाइटल में कहा था एक तीर 4 चुतो मे घुस गया.

तो दोस्तों मेरी कहानी कैसे लगी ज़रूर बताना मेरी मैल आइडी है “दीक्षंतजाधव[email protected]गमाल.कॉम” कोई भाभी या वर्जिन गर्ल को सेक्स चाहिए फ्री में तो कांटेक्ट करे ईमेल पे पर होटेल का खर्चा आपको देना पड़ेगा थैंक यू.

Pages: 1 2