एक हसीन शाम भाभी के साथ

मैने कहा भाभी मैं ये ही तो चाहता था. आप भगवान कसम बहोत ज़्यादा सेक्सी लग रही हो. आज तो आप बाहर के लोगो को मार ही डालोगी. फिर भाभी मेरे साथ बाइक पर चलने के लिए तैयार हो गई. भाभी के गोरे चेहरे पर ब्लॅक गोगल्स बहोत अच्छे लग रहे थे. भाभी जब मेरे पीछे बैठी थी तो उनके बूब्स मेरे कमर पर लग रहे थे. मैने भाभी से जान कर प्लीज़ आप ठीक से बैठो मुझे बाइक चलाने मे दिक्कत हो रही है.

भाभी मेरा इशारा समझ गई भाभी मुझसे एकदम चिपक गई. और अपने हाथो को मेरी कमर के चारो तरफ से पकड़ लिया. मेरा लंड झट से पूरा खड़ा हो गया. और जोकि भाभी के हाथो से टच कर रहा था. उसके बाद हम दोनो मॉल मे आ गये. मैने बाइक को पार्क किया और फिर सब से उप्पर कॉर्नर वाली सीट ली. मूवी को लगे काफ़ी टाइम हो गया था. इसलिए हाल ऑलमोस्ट खाली ही था, वाहा पर मेरे जेसे आशिक़ ही अपनी गर्ल फ्रेंड को ले कर आए थे.

मैं और भाभी सब से उप्पर बैठ गये. कुछ ही देर मे मूवी मे सेक्सी सीन चलने लग गये. मैने भाभी के हाथ पर हाथ रख लिया, भाभी ने मुझे कुछ नही कहा. फिर मैने भाभी को इशारा करके कहा वो देखो हमारे सामने वाली सीट पर कैसे लड़का लड़की को किस कर रहा है. मैने महसूस किया की भाभी की साँसे बहोत गरम और तेज होने लग गई. फिर मैने मोका देख कर भाभी के बूब्स पर हाथ रख लिया. और धीरे से उनके कान मे कहा भाभी क्या हो रहा है.

भाभी ने कहा तू मुझे जान कर ऐसी डर्टी मूवी दिखाने ले कर आया है ना. मैने कहा नही भाभी और फिर मैने भाभी के होंठो पर अपने होंठ रख लिए. और दोनो किस करने लग गये हम दोनो के करीब 5 मिनिट तक बहोत ज़ोर से किस किया एक दूसरे को. फिर मैने भाभी के टॉप और जीन्स मे एक साथ हाथ डाल दिया. और बूब्स और चूत को मसलने लग गया. भाभी का भी हाथ अब मेरे पैंट के अंदर चला गया था.

तभी भाभी बोली ओएमजी तेरा इतना बड़ा है. मैं कुछ नही बोला और मैने अपनी 2 उंगलिया भाभी की चूत मे डाल दी. भाभी ने अपनी आँखें बंद कर ली. और फिर मैं भाभी की चूत को अपनी उंगलियो से चोदने लग गया. भाभी ने अपनी दोनो आँखें बंद कर ली थी और चुदाई का मज़ा ले रही थी. फिर कुछ ही देर मे भाभी की चूत पानी पानी हो गई. भाभी ने मुझे किस किया और कहा चलो घर चलते है मूवी गई भाड़ मे.

मेरा प्लान कामयाब हो गया था हम दोनो ने अपने कपड़े सेट किए. और मैं जल्दी से बाइक निकाल कर लाया और स्पीड मे घर भाभी को ले आया. भाईया ने शाम को आना था और टाइम अभी 12 बजे थे. भाभी ने अंदर आते ही मुझे अपनी बाहो मे भर लिया. और मेरे होंठो को ज़ोर ज़ोर से चूसने लग गई. फिर भाभी ने मुझे दीवार पर लगाया. और लंड को बाहर निकाल कर मेरे लंड को बहोत ज़ोर ज़ोर से चूसने लग गई. ऐसा मज़ा मुझे आज तक नही आया था. वो मेरे लंड को अपने गले मे उतारने की कोशिश कर रही थी.

अफ़सोस मेरा बड़ा लंड उनके गले मे जाने का नाम तक नही ले रहा था. मैने 15 मिनिट तक उनका मूह चोदा और फिर उनको पूरा नंगा कर के बेडरूम मे ले गया. फिर मैने उनके दोनो बूब्स को चूस चूस कर लाल कर दिया. और फिर सीधा उनकी दोनो टाँगे खोल कर उनकी चूत को चूसने लग गया. भाभी की गुबाली चूत मे से रस बाहर आ रहा था. जिसे मैं चूस चूस कर चाट रहा था. मुझे सच मे बहोत मज़ा आ रहा था.

चूत को चूसने के बाद अब मैने अपना लंड भाभी की चूत पर सेट किया. और एक ही धक्के मे पूरा लंड भाभी की चूत मे उतार दिया. भाभी बहोत ज़ोर से चिल्लाई और बोली हरामजादे आराम से चोद तेरी भाभी कोई रांड़ नही समझा. मैं बोला मेरी जान फिकर मत कर तू आज से तू मेरी रांड़ बन कर ही रहगी. फिर क्या था मैं उसे बहोत ज़ोर ज़ोर से चोदने मे लगा रहा. और भाभी को अलग अलग स्टाइल मे चोदा. भाभी की चूत मे से उनकी चूत का पानी बाहर आ रहा था.

जो की नीचे गिर रहा था. अब मेरा लंड भी जवाब देने वाला था. इसलिए मैने उनके होंठो को अपने होंठो मे लिया. और ज़ोर ज़ोर से भाभी की चूत को चोदने लग गया. भाभी की चूत मे अपने लंड की 8-10 पिचकारी मारी. और फिर भाभी बोली आज पहली बार इतना मज़ा आया है मेरे राजा. तू सही कह रहा था की आज से मैं भाभी नही रंडी बन गई हूँ. आई लव यू थोड़ा रेस्ट करते है और एक बार फिर से ऐसे ही चोद दे बस मुझे तू.

Pages: 1 2 3