सर आप मेरे को प्रैक्टिकल में अच्छे नंबर दे दो! मैं आपको अपनी चूत का उपहार दूंगी

“चलो आज मैं स्पेशल प्रैक्टिकल कराता हूँ! तुम सब अपने अंग से ही सीख लो!” मैंने कहा
“ठीक है सर आप मेरे को सब सिखा दो” सुष्मिता ने कहा, हिंदी पोर्न स्टोरीज डॉट कॉम
मैंने उसके पास जाकर उससे चिपकाते हुए कहा
“तुम पहले अपने कपडे निकाल दो फिर तुम्हे सब बताता हूँ” मैंने कहा
“सर मेरे को शर्म आती है! मैंने सिर्फ एक बार ही अपना किसी और के सामने निकाला है” उसने कहा
“मतलब तुम पहले से ही चुदी हो??” इतना कहकर उससे अपना मुह फेरने लगा
“सर आप मेरे को प्रैक्टिकल में अच्छे से नंबर दे दो! इसीलिए मैंने आपको अपनी चूत का उपहार देने के लिए के सब कर रही हूँ” सुष्मिता ने कहा

मैं तो चौंक ही गया। उसकी ऐसी बाते सुनकर मेरा लंड खड़ा हो गया। उसके चूत को देखने के लिए उत्सुकता

बढ़ती ही जा रही थी। मैंने उसके कपडे को देखा तो टाइट टाइट जीन्स पहने हुई थी। उसकी गांड उसमे से निकली हुई दिख रही थी। मै बहुत दिनों बाद किसी नयी चूत को हाथ लगाने जा रहा था। इतने दिनों की तड़प आज बुझने वाली थी। मेरे को सुष्मिता की चूत पाने का बहुत ही इन्तजार करना पड़ा। मैंने उसकी शर्म का चादर हटा दिया। उसके कपडे को एक एक करके उतारने लगा। देखते ही देखते वो और भी ज्यादा हॉट लगने लगी। मैंने उसके होंठो को अपने होंठो से चिपका कर जोर जोर से होंठ चुसाई कर रहा था। उसके गुलाबी होंठ और भी ज्यादा गुलाबी हो गया।

क्या मस्त हॉट सेक्सी दिख रही थी! उसके गोरे गोरे बूब्स उसकी ब्लू कलर की ब्रा में बहुत ही आकर्षक लग रहे थे। मै सुष्मिता की दूध को हाथ में लेकर दबाने लगा। सॉफ्ट सॉफ्ट चूंचियो को दबाने में बहुत मजा आ रहा था। मैंने उसके ब्रा को निकाल कर निप्पल को पीने लगा। “……अई…अई….अई……अई….इसस्स्स्स्…….उहह्ह्ह्ह…..ओह्ह्ह्हह्ह….” की मीठी मधुर आवाज निकाल रही थी। मेरे को उसका दूध पीने में बहुत मजा आ रहा था। उसके मोटे मोटे निप्पल को काट कर उसे गर्म कर रहा था। सुष्मिता गर्म होकर मेरे को अपने बूब्स मे दबा रही थी। लगभग 10 मिनट तक दूध पीने के बाद उसके निप्पल कड़े होकर खड़े हो गए। मैंने भी अपना पैंट शर्ट निकाल कर सिर्फ अंडरवियर और बनियान में हो गया। मेरे लंड को अंडरवियर के ऊपर से वो दबाने लगी। मै बेड से नीचे खड़ा था। सुष्मिता बेड पर बैठे बैठे ही मेरे अंडरवियर को निकाल कर मेरे लंड को घूरने लगी।

सांवले रंग के लंड के किनारे काले काले छोटे बाल बहुत ही जबरदस्त लग रहे थे। वो मेरे लंड को अपने हाथो से पकड़ कर मुठ मारने लगी। कुछ देर बाद उसने जीभ लगाकर चाटा और धीरे धीरे मुह में रखकर चूसने लगी। मेरे को उसके लंड चुसाई ने बहुत उत्तेजित कर दिया। हिंदी पोर्न स्टोरीज डॉट कॉम

“चूस मेरी रानी!! और मेहनत से चूस!! मजा आ रहा है!! मै कहकर और भी ज्यादा उत्तेजित हो रहा था। मेरा उत्तेजित लंड उसकी चूत में घुसने को तड़प रहा था। मैंने अपना लंड उसके मुह से निकाल कर उसकी पैंटी निकाल दी सुष्मिता भी अपनी चूत चटवाने के लिए बैठे बैठे हो अपनी टांगो को खोल दिया। टाँगे खोलते ही मेरे को उसकी चूत के दर्शन हो गया। मै नीचे बैठ कर उसकी चूत में अपना मुह लगा दिया। दूध की तरह उसकी चूत भी बहुत सॉफ्ट थी। मैंने अपना जीभ चूत पर लगा लगा कर उसकी चूत चटाई कर रहा था। वो भी चूत को बड़े मजे से चटवा कर “उ उ उ उ उ……अअअअअ आआआआ… सी सी सी सी….. ऊँ—ऊँ…ऊँ….” की सिसकारी भर रही थी। “चाटो सर! और जोर से चाटो पी लो मेरी चूत को! चाटो! मेरे को बहुत मजा आ रहा है” कह कर वो अपनी गांड उठाकर चूत चटा रही थी।

चूत के दाने को काटते ही वो जोर से सिसकती थी। कुछ देर तक चूत चाटने के बाद मैंने उसे लिटा दिया। सुष्मिता ने अपनी टाँगे खोलकर मुझे चुदाई करने का सिग्नल दे दिया। मैंने भी अपना लंड उसकी चूत पर रखकर कई बार ऊपर से नीचे रगड़ा। उसके बाद मैंने उसकी चूत में अपना टोपा घुसा दिया। वो मेरे लंड के थोड़ा सा अंदर घुसते ही जोर से “आआआअह्हह्ह ह…..ईईईईईई ई…. ओह्ह्ह्…अई. .अई..अई…..अई..मम्मी….”, चिल्लाने लगी। मैं अपना लंड उसकी चूत में अंदर तक घुसाता गया। पूरा लंड अंदर घुसाने के बाद मैंने उसकी चुदाई करनी शुरू कर दी। मेरे को मेरी बीबी से तो लाख गुना सुष्मिता की चुदाई करने में मजा आ रहा था। वो भी हसी ख़ुशी से चुदवा रही थी। उसे भी मुझसे चुदवाने में मजा आ रहा था। मेरा लंड जल्दी जल्दी उसकी चूत में घुस कर निकल रहा था। उसने मेरे गले को पकड़ कर किस करते हुए चुद रही थी।

पहली बार मुझे सेक्स का इतना मजा मिल रहा है। सुष्मिता भी अपनी कमर को उठा उठा कर “….उंह उंह उंह हूँ.. हूँ… हूँ..हमममम अहह्ह्ह्ह ह ..अई …अई…अई…..” की चीखों के साथ चुद रही थी।

Pages: 1 2 3

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *