बाप बेटे ने कामवाली को चोद्के पेट से किया

मैं नंगा हुवा और उसने मेरा लंड खिछा वो मेरा लंड चूसने लगी फिर बोली जल्दी करो कोई आएगा उसने पैर उपर उठाए और मुझे खिछा मैं उसके चुतमे लंड डालने लगा वो हाहहहहः हूहोहोहोहोह्हूह फफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफ्फ़ अर्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्ररर व्हीईईईईईई एहईईईई ऊऊहहो करने लगी और पूछने लगी अछा लग रहा है मैं बोला बहोत अछा बहोत अछा तू बहोत अछी है मैं तुझे रोज चोदुन्गा और दन्दनादन शॉट मारने लगा वो भी नीचेसे उछलने लगी और चिल्लाने लगी भैया भैया कितनी ताक़त हैरे कितना मोटा हैरे हहहा और धबधबधबधबध शॉट मारने लगा पहली बार चोद रहा था पानी निकल नही रहा था वो भी थक गयी मैं दन्दनादन चोदता रहा और मेरा पानी निकला हम दोनो हाफने लगे हाहहहहहहहः फफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफ्फ़ उउउउउउउउउउउउउ ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़ व्हीईईई और उसने मुझे कसके दबाके रखा जैसा ही मेरा लंड बाहर आने लगा मैं बोला क्या रे तूने देखा ना मैं शरमा के बोला हा तभी तो मैं पागल हुवा था वो बोली मैं जानती हू इसीलिए मैने करने दिया मैं बोला

और एक बार वो बोली मा आनेका टाइम हुवा है कल दूसरे दिन मैं पूरा नंगा हुवा उसे भी नंगा किया क्या साली की चुत थी जीभ डाल डालके रस पीने लगा वो भी मेरा लंड चूस ती वो मेरे से पाँच साल बड़ी थी जवानी का खजाना था बहोत चूसने चूमने के बाद मैने उसके चुत मे लंड डाला गरम गरम चुत मे बोला हहाहहा क्या चुत है तेरी काम वाली बोली तेरे लंड ने भी मेरी चुत को पागल किया बनाया है रे हहहहः घुसवा और अंदर हाहहहहहहहहहः ओववव मैं उसके बूब्स दबा दबाके दन्दनादन शॉट मारने लगा दोनो पैर उपेर उठा उठाके उसे चोदने लगा एक दम मस्त चुत थी दोनो एकदुसरेको धक्के मारते रहे और मैने स्पीड तेज करके सारा माल गिराया और मूह मे मूह डालके चूसने लगा थोड़ी देर बाद बोली भैया

और एक बार अब वो उलटी गॅंड उपर उठाके सोई मैं पीछेसे लंड डालने लगा बहोत टाइट थी दोनो चिल्लाने लगे और मैं कस कसाके उसे चोदने लगा और उस दिन मैने उसे दो बार चोदा उसके बाद रोज मैं उसे मंडे टू फ्राइडे चोदता रहा और पापा सॅटर्डे को चोदते करीब पाँच छे महीने हुवे वो पेट से हुवी मम्मी को भी मालूम पड़ा अब उसका पेट आगे आने लगा सात महीने हो चुके थे अब वो मुझे मना करने लगी पर मैं कंट्रोल नही कर पाता आख़िर उसने सब मम्मी को बोला मेरी बार्विकि परीक्षा भी नज़िक आई थी मम्मी ने उसे समझाके और पैसे देके निकाला जैसेही मेरी एग्ज़ॅम हुवी मम्मी ने मुझे मामा के घर बॉम्बे भेजा कुछ दिन बाद मेरे मम्मी पापा भी बॉम्बे आए मेरी शादी हुवी बच्चे हुवे करीब सोला साल बाद मुझे

फिर एकबार कलकत्ता जाने का मौका मिला जातेही पुराने दिन याद आए मैने सोचा देखता हू अभी भी काम वाली वही है क्या मैं उसके एरिया मे गया दरवाज़े पर नॉक किया दरवाज़ा खुला मैं देखता ही रहा एक खूबसूरत जवान लड़की प्रियंका चोपरा जैसी खड़ी थी मैं उसे देखता ही रहा ऐसी ज़ोपड़ पट्टी मे इतनी सुंदर सेक्सी लड़की उसने मुझे अंदर लिया मैने उसे उसके मम्मी के बारे मे पूछा वो बोली वो बाथरूम मे है और मुझे हाथ लगाने लगी मुस्कुराने लगी मैं भी विवश हुवा इतने मे काम वाली आई मैं देखता ही रहा अब भी वो वैसेही थी जवान उसने मुझे बाहोमे लिया भैया भैया चिल्लाके चूमने लगी और बेटी को बोली जानती हो यह तेरे पापा है वो भी मुझे लपेटी चूमने लगी उसके बूब्स मुझे लगाने लगे वो बेशरम होके मुझे दबाने चूमने लगी काम वाली मुस्कुराके मुझे बोली क्यू बेटी को नही चोदेन्गा मैं हैरान हुवा बेटी मुझे चूम रही थी आख़िर वो होल नाइट मैने दोनोंको खूब चोदा अब वो कॉल गर्ल बनी है मुझे दुख भी हुवा और पर दोनो मा बेटी को चोदने का सुख भी मिला आज भी मैं .कलकत्ता जाके दोनोंके साथ सोता हू. कहानी पढ़ने के बाद अपने विचार नीचे कॉमेंट्स मे ज़रूर लिखे, ताकि हम आपके लिए रोज़ और बेहतर कामुक कहानियाँ पेश कर सके –डीके

Pages: 1 2

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *