पापा के दोस्त ने लंड पर केक लगा कर मुझे चोदा

और फिर उन्होंने जो किया वो मैने एक्स्पेक्ट नहीं किया था. अंकल मेरी एसहोल को चाटने लगा. मुझे घिन सी आने लगी थी लेकिन वो मजे ले रहे थे. फिर उन्होंने मेरी गांड में लोडा डाला. मुझे बहुत दर्द हुआ और मैं कुतिया के जैसे काऊ काऊ करने लगी. लेकिन वो रुके नहीं और ठोकते गई मेरी गांड को. मैंने दर्द की वजह से चद्दर को मरोड़ दिया था. और वो जोर से गांड मारते ही गए. फिर उन्के स्पेर्म्स निकल के मेरी गांड में छुट गए.अंकल अपना लोडा गांड से निकाल के मुझे किस करते हुए लेट गए और बोले, डार्लिंग ये मेरा सब से बढ़िया बर्थ डे गिफ्ट था. हम दोनों हंस पड़े, अंकल ने मेरी बॉडी को क्लीन किया और बोले आज की रात मेरे साथ ही सो जाओ मेरी जान.रात को अंकल ने सोने ही नहीं दिया. कभी वो बूब्स चूसते थे तो कभी चूत में देते थे. कभी गांड मारते थे तो कभी लंड चूसने को कहते थे. मोर्निंग में मैंने सब से पहले इमर्जन्सी कॉण्ट्रासेप्टिव पिल ले ली. और फिर गर्म गर्म पानी में नहा लिया. दिन में अंकल ने नोकरो को एक दिन की छुट्टी दे दी. और फिर बोले, आज कपडे नहीं पहनने दूंगा मेरी जान को.और फिर दिन भर भी अंकल ने मुझे पोर्न दिखा के चोदा. अंकल ने मुझे बताया की मेरे आने से पहले वो रंदिया चोदते थे. और उनकी चूतें तो खुली गुफा होती हे इसलिए उन्हें एनाल सेक्स की लत लगी हे. मैंने कहा आप घबराओ नहीं मैं आप की रंडी ही हूँ आप मेरी गांड मर्जी जाहे रब मार सकते हे.अंकल ने आज सुबह मैं जब ये कहानी लिख रही थी तब भी गांड में लंड दिया था. और वो बोले की कहानी लिखना लेकिन किरदारों के और शहर के नाम बदल देना मेरी जान. और उन्के कहने पर मैंने वही किया, बाकी सब की सब हिंदी सेक्स कहानी 100% सच्ची हे!

Pages: 1 2 3

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *