ट्यूशन वाली भाभी ने मज़े से चुदवाया

फिर हम 69 की पोजिशन में आ गए. अब भाभी मेरे लंड को पूरी मुंह में लेकर लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी और मैं भी उनकी चूत को चूसता रहा. अचानक भाभी बड़ी जोर से चीखीं और उनकी चूत से नमकीन रस निकलने लगा, जिसे मैं पूरा चाट गया.

फिर मैंने भाभी को सीधा लिटाया और उनकी चूत पर अपने लंड को रगड़ने लगा. अब भाभी जोर से सिसकारी लेने लगी. थोड़ी देर बाद भाभी बोली – अब और मत सता राहुल, डाल दे अपना लंड मेरी चूत में. उनका इतना कहना था कि मैंने जोर से एक झटका दे दिया. लेकिन मेरा लंड अंदर जा ही नहीं रहा था. इस पर भाभी को हंसी आ गई और उन्होंने मुझे कहा – पहले कभी किया है?

तो मैंने कहा – नहीं भाभी.

फिर उन्होंने मुझे नीचे आने को कहा खुद मेरे ऊपर आ गई. इसके बाद उन्होंने मेरे लंड को पकडा और धीरे से अपनी चूत पर रखा और धीरे – धीरे बैठने लगी. उन्हें बहुत दर्द हो रहा था. भाभी की आँखों में आँसू आ गए थे.

तभी अचानक वो जोर से चीखीं और मेरे लंड को पूरा अन्दर ले लिया. उनकी आँखें थोड़ी देर के लिए बंद हो गई थीं. थोड़ी देर रुके रहने के बाद उन्होंने दोबारा ऊपर – नीचे होना शुरू कर दिया.

अब पूरे कमरे में भाभी की सिसकारियाँ गूंजने लगी. वो ‘आ.. आह.. ऊई माँ मर गई..’ जैसे बड़बड़ा रही थीं. कुछ देर बाद भाभी तेज – तेज ऊपर – नीचे होने लगी. थोड़ी देर बाद फिर वह नीचे आ गई और मैं ऊपर से उनकी चूत में लंड अन्दर – बाहर करने लगा.

करीब 5 मिनट तक इस तरह चोदने के बाद मैंने उन्हें कुतिया की तरह चोदना शुरू कर दिया. अब मैं पीछे से उनके चूचे दबाने लगा और तेजी से झटके मारने लगा. तभी भाभी को कुछ हुआ और वह जोर से चीखीं, मगर मैं नहीं रुका और लगातार झटके लगाता रहा.

अब वह झड़ गई थी और ठीली पड़ गईं. फिर मैंने उन्हें बिस्तर पर लिटाया और उनकी एक टाँग को कंधे पर रखकर चोदने लगा. करीब 5 मिनट तक इस तरह चोदने के बाद मैं झडने वाला था तो मैंने भाभी से पूछा कि कहाँ निकालूँ तब उन्होंने मुझे कहा कि अन्दर ही डाल दो. फिर मैंने अपने झटके और तेज कर दिये.

अब पूरे कमरे में भाभी और मेरी सिस्कारियों के साथ – साथ ठप – ठप की आवाज आने लगी थी. तभी मैंने भाभी को कस कर पकड़ा और बहुत देर तक झडता रहा. फिर भाभी ने मुझसे कहा – राहुल, मुझे कभी छोड़ के मत जाना, आई लव यू. अब मैंने भी भाभी को आई लव यू टू कहा.

इसके बाद मैं अक्सर स्कूल से आकर भाभी के पास चला जाता और बाद में मुझसे भाभी को एक लडका भी हुआ, लेकिन वो कहानी फिर कभी.

आपको मेरी कहानी कैसी लगी मुझे जरूर बताएं. मेरी ईमेल आईडी –

Pages: 1 2 3

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *