मेरी बीवी की गांड का छेद उसके यार ने खोला

biwi ki chudai uske yaar se मेरी बीवी ज्योति की उम्र 35 साल और फिगिर 38 34 36 है. मुझे मेरी बीवी ज्योति की चुत बासी मिली थी शादी से पहले वो अपने पुराने यार से चुद गयी थी लेकिन गांड एक दम वर्जिन था. आज उसके गांड मराई की कहानी सुनाता हूँ. इससे पहले आपने पढ़ा की कैसे ज्योति ने मुझसे अपने ऑफिस के यार राज को बुलवाया. और उसके लंड को चुसके मज़ा लिया. और बिस्तर पे नंगे लेट गयी और राज ने उसकी चूत को मस्त चोदा. स्वीटी सो रही थी उसी बेड पे ज्योति और राज नंगे एक दुसरे की बाहों में थे. राज ने कहा कितने दिनों से इस दिन का इंतजार कर रहे थे हम. ये कमाल कैसे किया तुमने. ज्योति ने कहा जैसे ही अरुण ने कहा की आज रात वो अपने दोस्त के घर रुकेगा तभी से मैं सोच रही थी की कैसे आपको बुलाया जाए मुझेडर भी लग रह था की अरुण क्या सोचेंगे पर मुझसे रहा नहीं गया. मेरे सब्र का बाँध टूट गया. ज्योति ने आगे कहा की आपको पता है कई रात मैंने जाग कर बिताई आपके नाम पे. राज ने कहा की चूत तो गीली हो जाती होंगी मेरे नाम पे. ज्योति ने कहा जब अरुण मुझे छुते थे तब लगता था की आप छु रहे हो वो जब चुचे दबाता तो लगता की आप दबा रहे हो वो जब लिप्स किस करते तो लगता की आप चूस रहे हो. राज ने कहा छोड़ो पुराणी बात आओ आज नया इतिहास लिखते है और ज्योति की चूची को दबाते हुए उसके लिप्स अपने होटो में लेकर चूसने लगा.

ज्योति बाएं हाथ से राज के लंड को सहलाने लगी. राज ज्योति पे चढ़ के उसके मम्मे दबाने लगा निप्पल चूसने लगा. ज्योति ने हलके धक्के दे कर राज को हटाया और कहा आज की रात मेरे नाम है आज मैं आपको मज़े दूंगी आप निचे आओ . राज पे चढ़ कर ज्योति उसके सीने को जीभ से चाटने लगी. राज के कानो पर जीव फिरने लगी. उसके होटो को मुह में भर कर चूसने लगी. राज भी निचे से अपना कड़कता लंड ज्योति की गांड में गड़ाने लगा. राज ने मज़े लेते हुए कहा की तुम्हे देख कर कोई नहीं कह सकता की तू इतनी सेक्सी हो और इतनी मस्त सेक्स करती हो. मज़ा आगया. ज्योति ने कहा अभी तो शुरुआत है आगे आगे देखो कितना मज़ा देती हूँ. सीने और पेट पे जीभ फिराते हुए ज्योति ने राज के मस्त लंड को मुह में लेकर चूसने लगी. ज्योति ने लंड चूसते हुए कहा की आज तो इस नाग को मैं खा जाउंगी. राज ने कहा की ये नाग तेरा है तुम नाग को खाओ और अपने बिल को मुझे चाटने दो. राज और ज्योति दोनों 69 के पोजीशन में आ गये.

ज्योति राज का लंड गपा गप चूस रही थी और राज चूत में जीभ डाल के उसके चूत को चाट रहा था दोनों मस्ती के सातवे आसमान पे पहुच गए. साथ ही राज दोनों मम्मे को दबा भी रहा था. अचानाक ज्योति ने सिसकारी भरते हुए कहा की अब बर्दास्त नहीं हो रहा है प्लीज राज अपने साप को मेरे बिल में उतार दो. राज ने ज्योति को निचे उतरा उसे लिप्स किस किया और उसे लिटा के उसके जांघो के बीच आगया और अपने कड़क लंड के सुपारे से ज्योति की चूत रगड़ने लगा. ज्योति ने कहा आह आह बहुत गर्म है तेरा नाग अब इस लंड को चूत में डाल दो अब और रहा नहीं जाता. राज ने निचे झुक के ज्योति के निप्पल मुह में लिया और फिर ज्योति के कान में फूस फुसाया मेरी जान चुदने के लिए हो जाओ तैयार. मेरा काला नाग तेरी चूत के बिल में घुसने जा रहा है. ज्योति ने कहा की चूत भी तैयार है नाग भी तैयार है तो फिर देरी किस बात की.

राज ने ज्योति के दोनों पैरो को अपने कंधे पे रखा कमर के निचे एक तकिया लगाया. ज्योति की चूत पूरी तरह से गीली थी उसके चूत पे लंड रख तेज ने हल्का सा धक्का मारा तेज का लैंड गप से ज्योति की चूत में आघा उतर गया. ज्योति के मुह से हलकी चीख निकल गयी. उसने कहा की दर्द हो रहा है राज ने कहा की ज्यादा दर्द हो रहा है तो मैं लंड निकाल लूँ. ज्योति ने कहा की इस रात का इंतज़ार मैं कई रातो से कर रही थी इसलिए मेरी दर्द की परवाह मत करो और अपने पुरे नाग को बिल में उतार दो. ये कहना था की दुगुने जोश से राज ने हलके से लंड को चूत से बाहर निकाल और एक जोरदार धक्का लगाया और पूरा का पूरा लंड ज्योति की चूत में उतार दिया. ज्योति ने चीखते हुए कहा की मार डाला साले तुमने चूत फाड़ दी. लेकिन ज्योति की दर्द की परवाह किये बगैर राज धक्के लगाये जा रहा था और हर धक्के के साथ दर्द कम और मज़ा बढ़ने लगा था. अब ज्योति भी गांड उठा उठा के राज का साथ दे रही थी. ज्योति ने सिसकारी लेते हुए कहा की राज आज आपने जो मज़ा दिया इसका इंतज़ार मुझे बरसो से था. अरुण मुझे प्यार तो बहुत करते है पर चुदाई का असली आनंद तो मुझे आज ही मिला. और जोर से चोदो राज और जोर से.

Pages: 1 2 3