Category «Maa ki Chudai»

माँ बेटा सेक्स: बेटे ने मेरी हवस मिटाई

प्रिय पाठको, मेरी कहानी माँ बेटा सेक्स की है, मेरा नाम प्रभा है, मैं 37 साल की विधवा हूँ. मेरे 2 बच्चे है, एक बेटा सोनू 19 साल का और बेटी शिवानी उससे छोटी है. करीब एक साल से मैं अन्तर्वासना पर कहानियाँ पढ़ रही हूँ. और यकीन मानिये यहाँ की कहानियाँ बेहद गर्म होती …

अंकल ने मम्मी की चुदाई की

जैसे की मैने पिछली स्टोरी मे बताया की मेरी मम्मी एक सेक्सी औरत है जिनकी एज बढ़ने पर भी उनकी बॉडी पहले जैसे ही कसी हुई है .मेरे पापा की जॉब छूट गई वो बॅंक मे क्लेर्क थे. उस समय उन्होने लीक का काम शुरू कर दिया था जिसकी वजह से उनकी जान पहचान बढ़ …

मेरे चूत मे आग लगी थी बेटे ने बुझाई

मेरे चुत मे आग लगी बेटे ने बुज़ाई एक सच्ची कहानी मैं गधि थी ना मेरा बेटा गधा था आक्सिडेंट से हुवा संडे था मैं नहा के सिर्फ़ टॉवेल मे अपने बेड रूम मे आई मिरररके सामने खड़ी होके टॉवेल से बदन पोछने लगी तो देखा चुत पर बहोत बाल आए थे मैने सोचा साफ …

मॉं के मसाज फिर चुदाई

हेलो दोस्तो मेरा नाम रवि सिंग है और मई देल्ही का रहने वाला हू और मेरी आगे 23 है. मेरे घर मे हम 4 लोग है मों दाद मई और मेरे बड़े भाई मेरे दाद टाटा मोटेर्स मे जब करते है और 2या 3 मंत मे घर आते है और बड़े भाई एरफोर्स मे है …

मम्मी की सब्जी मॅंडी मे चुदाई

हाय.. एक बार फिर मैं प्रकाश आप लोगो के लिए एक नयी कहानी मम्मी की सब्जी मंडी मे चुदाई लेकर आया हू आशा है आपको पसंद आएगा. आपलोगो को मेरी मॉम के बारे मे पता ही होगा की वो कितनी चुदक्कड स्वभाव की है और उसे अपना एक्सपोज़ करने मे कितना मज़ा आता है. मेरे …

होली मे मिला मम्मी को जवान लंड

हाय.. मैं प्रकाश एक बार फिर से अपनी खूबसूरत रंडी मों की चुदाई की कहानी लेकर आया हू. आप लोगो के बहुत सारे मुझे मेल्स मिले मुझे अछा लगा. ये कहानी तब की है जब मैं बहुत छोटा था. मोम हमारे मुहल्ले की सबसे बड़ी सेक्स बॉम्ब थी और थी क्या अभी भी है. ये …

मा बेटे से पति पत्नी बन गये – 1

ही मेरा नाम विवेक है, और मैं अल्लहाबाद उप से बिलॉंग करता हूँ. अगर मेरी स्टोरी पसंद आए तो प्लीज़ मेरी कहानी को लीके और शेर ज़रूर करें. मैं आपके फीडबॅक का वेट अपनी मेल पर भी करूँगा. अगर कोई लड़की, भाभी या औरत कोई भी मुझसे सेक्स करना चाहता है. तो वो प्लीज़ मुझे …

मम्मी की चुदाई पापा क दोस्त से

हाय.. मैं प्रकाश आप तो मेरी मों को जानते ही है. ये एक रियल घटना पर आधारित है. तब हम अपने गाओ जो की वारानशी से 1 अवर की दूरी पर है वाहा मेरी मम्मी के नानी घर है. लेकिन अब वाहा कोई नही रहता था सब बहुत पहले से कानपुर शिफ्ट हो चुके थे …