ब्वॉयफ्रेंड के दोस्त संग चुदाई

कोमल की टांगें मणि ने अपने ऊपर कर लीं. आगे से संजय कस कस के कोमल की चूत में लंड के झटके मारने लगा. तभी मणि ने अपना लंड कोमल के मुँह में डाल दिया और वो कोमल का मुखचोदन करने लगा.

कुछ देर बाद संजय ने इशारा किया और मणि को कोमल की गांड मारने के लिए बुलाया. मणि आने लगा तो संजय ने कोमल को अपने ऊपर ले लिया और नीचे से उसकी चूत में लंड पेलने लगा. तभी मणि ने कोमल को पीछे से पकड़ कर गांड चौड़ी करके लंड पेल दिया और संजय नीचे से कोमल की चूत में लंड डाले हुआ था.

अब मणि और संजय ने कोमल को सैंडविच बना दिया. कोमल ने चिल्ला चिल्ला कर अपनी चूत और गांड का बैंड बजवाया. चूंकि संजय का बेडरूम साउंडप्रूफ था. सो किस बात की कोई चिंता ही नहीं थी.

पूरी रात मणि और संजय ने कोमल को जी भर के पेला. उसकी गांड और चूत की चुदाई करके समझो सुजा दिया. कोमल की गांड गड्डा बन गई थी और चूत सूज कर पकौड़ा बन गई थी, उससे चला भी नहीं जा रहा था.
चुदाई के बाद मैंने और संजय ने फिर से पीना शुरू की और थोड़ी सी कोमल को भी पिला दी, ताकि उसको दर्द से राहत मिल सके और नींद आ जाए.

अगली सुबह मणि ने कोमल की चूत में लंड पेल दिया और उसे चोदने के बाद संजय को उठाया.

अगले दो दिन शनिवार रविवार को सब फ्री थे, मणि ने संजय से कहा- आज रात को डिस्को चलेंगे.

रात को तीनों डिस्को चले गए. डिस्को में संजय की एक फ्रेंड हिना भी आई थी. संजय ने कोमल को हिना से मिलवाया. हिना ने छोटी फ्राक ही पहनी हुई थी. हम सब लोग ड्रिंक कर रहे थे. बीच-बीच में मणि संजय हम दोनों को किस कर रहे थे. डिस्को में भीड़ बहुत ज्यादा थी. क्योंकि शुक्रवार था और एक विदेशी ग्रुप भी आया हुआ था. ये डिस्को एक होटल में था.

तभी संजय मणि किसी काम से चले गए. वे बोल कर गए थे कि एक घंटे तक आ आयेंगे.

उनके जाने के बाद दोनों लड़कियों ने ड्रिंक मंगा ली. अकेली लड़कियों के लिए डिस्को रिस्की होता है. वे डांस करने लगी. भीड़ में कोमल और हिना को लड़के छेड़खानी करने लगे. एक तो हिना की छोटी सी फ्राक थी, जिस वजह से एक लड़का तो हिना के चूतड़ चौड़े कर रहा था.

हिना तो उसके साथ एक अंधेरे कोने में जाकर बैठ गई. कोमल हिना के पास ही चली गई. वो लड़का बोला कि रूम में चलते हैं.
वे तीनों एक रूम में चले गए. रूम में जाते ही लड़के ने कोमल को पीछे से पकड़ कर उसकी टांगों में से हाथ डाल कर चूतड़ चौड़े करके गांड में अच्छे से उंगली पेल दी.

तभी कोमल के पास मणि का फोन आया कि हम दोनों आधे घंटे में आने वाले हैं. कोमल ने हिना को ये बताया, तो उस लड़के ने जल्दी जल्दी दोनों को चोद कर खुश कर दिया.

फिर रात को मणि और संजय ने कोमल और हिना को फ्लैट पर लाए. उसके बाद उन्हें दारू पिला कर चुदाई के लिए रेडी कर दिया.

मणि संजय ने कोमल को अपने बीच में पकड़ कर गांड और बोबे दबा दिये. रात को मणि और संजय ने कोमल और हिना को बारी बारी से चोदा. मणि ने कोमल की चूत में लंड पेल दिया और संजय ने कोमल के मुँह में लंड में दिया हुआ था.

इसके बाद चुदाई का खेल खुल कर शुरू हो गया और मणि और संजय ने कोमल और हिना को एक दूसरे के सामने कुतिया बना कर खूब चोदा. इस स्थिति में कोमल और हिना एक दूसरे के आमने सामने थीं. वे एक दूसरे के होंठ चूसने लगीं. पीछे से संजय ने कोमल को चोदने लगा और मणि हिना की चूत में झटके मारने लगा.

इस चुदाई समारोह में दो दोस्तों के साथ दो लड़कियां मादक सीत्कारें लेते हुए मस्ती से चुद रही थीं.

हिना ने अपने बारे में बताया और कहा कि यदि उसको भी इस फ्लैट में रख लो, तो रोज ही समूह में चुदाई का मजा आएगा.
यह सुनते ही संजय ने हां कर दी, वो तो चूतों का रसिया था ही. इसके बाद रोज रात को मणि और संजय कोमल और हिना की चुदाई करने लगे.

दो महीने बाद संजय मुंबई शिफ्ट हो गया और हम सब अपने रूम पर आ गए.

कोमल और मणि फिर वहीं शिफ्ट हुए, जिधर मणि ने मेरी पहली चुदाई की थी. कोमल के आने से पहले मणि ने मेरी बहुत चुदाई की थी. फिर जब कोमल आयी तो मणि कोमल की चुदाई करने लगा और मैं लंड की प्यासी हो गई.
हिना अब इधर से चली गई थी, उसने कोई और लंड ढूँढ लिया है.

आप सभी को मेरी इस ग्रुप सेक्स कहानी से कितना मजा आया. प्लीज़ मुझे ईमेल करके बताइएगा.
धन्यवाद.

Pages: 1 2 3

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *