भूत का डर दिखाकर चाची की चूत मारी

चाची को भी आनन्द आने लगा। मैं कमर उठा उठाकर उनको गच्च गच्च पेल रहा था। उनके गुलाबी सेक्सी होंठ चूस रहा था।
दोस्तो, इस तरह बहुत सेक्सी मौसम बन गया, मैं चूस चूसकर सेक्स करने लगा।

निकिता चाची ” ऊई..उई..उई … माँ … ओह्ह्ह्ह माँ … अहह्ह्ह…’ की तेज आवाजें निकाल रही थी। मेरा लम्बा लंड जड़ तक उनकी चूत की गुफा में घुस रहा था और हम दोनों को अत्यधिक सुख दे रहा था। चाची की गर्म गर्म चीखें बता रही थी कि वो भी स्वर्ग में भ्रमण कर रही थी। मैंने तो उनके होंठ छोड़े ही नहीं… चूस चूसकर खूब पेला उनको।
उनकी चूत अभी भी काफी टाईट थी, एक साल ही शादी को हुआ था। इसलिए निकिता चाची की चूत सिर्फ एक साल ही चुदी थी।

15 मिनट मैंने बिना रुके उनको चोदा, फिर रुक गया। अब उनके कसे कसे दूध को हाथ से दबाने लगा, मैं चाची की चूची को मसल रहा था और सहला रहा था। फिर उनके ऊपर लेट कर दूध मुंह में लेकर जल्दी जल्दी चूस रहा था।
इस बीच मैंने अपने लंड को उनकी भोसड़ी में घुसाए रखा, निकाला नहीं जिससे ज्यादा से ज्यादा मजा उनको मिलता रहा। उनके दूध की निप्पल तो अंगूर जैसी थी। मैंने उनको मुंह में लेकर मन भर के चूसा, 10-15 मिनट तक दोनों मम्मों को पिया।

मैंने एक बार फिर से जोरदार चुदाई शुरू कर दी, इस बार भी उनको खूब चोदा, फिर हाँफते हुए चूत में माल छोड़ दिया।
फिर चाची भी मुझे किस करने लगी।
रात में मैंने 2 बार उनकी गांड भी चोदी।

सुबह मैं पुराना राज बन गया और सामान्य बात करने लगा। चाची भूत के भय के मारे किसी को ये चुदाई वाली बात बता भी नहीं सकी।

Pages: 1 2 3

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *