देल्ही मेट्रो मे मिले गॅंड के मज़े

हेलो, मैं मॅक्स न्यू देल्ही मे रहता हूँ और देल्ही मे ही एक अछी कंपनी मे जॉब करता हूँ, पहले मैं सारी लड़कियों और आंटीओ को नमस्कार कहता हूँ और आज मैं जो स्टोरी सुनाने जा रहा हूँ वो मेरे साथ देल्ही मेट्रो मे हुई थी (प्लीज़ देल्ही की फीमेल्स मुझे मैल ज़रूर करना सेक्स के बारे मे किसी भी तरहा की बात करने के लिए मेरी मैल आईडी है “[email protected]”) ये वाक़या करीब दस दिन पहले का है मैं रोज़ की तरह ऑफीस “नोईडा सएक 16 मेट्रो” से अपने घर लौट रहा था और मेट्रो मे बहोत भीड़ थी और शाम को ऑफीस टाइमिंग्स की वजह से बहोत भीड़ होती मेट्रो मे, मैं धक्का मुक्की करके जैसे तैसे चढ़ गया मेट्रो मे पर ट्रेन मे पैर रखने की भी जगह नही थी, अगले स्टेशन पे कुछ लोग उतरे तो थोड़ी जगह हुई और मैं अंदर घुस गया पर उससे दुगने लोग चढ़ गये और फिर वही कंडीशन हो गयी, अब मैं जहाँ खड़ा था वाहा मेरे आगे 29-30 साल की एक मॅरीड आंटी खड़ी थी जो की सारी पहने हुए थी और अकेली थी.

वो बहोत सुंदर थी और फिगर भी मस्त था और उनकी गॅंड मेरे आगे थी, पहले मेरा कोई इंटेन्षन नही था पर भीड़ के कारण मेरा लॅंड उनकी गॅंड पे दब रहा था जैसा की आपको पता है लॅंड पे किसी का कंट्रोल नही है और थोड़ी देर बाद वो खड़ा हो गया, अब वो आंटी की गॅंड मे दबने लगा और आंटी ने एक दो बार पीछे देखा पर कुछ बोला नही और खड़ी रही, मैने थोड़ा चान्स लिया और अपना हाथ उनकी गॅंड से टच किया तो भी वो कुछ नही बोली और धीरे-धीरे करके मैने उनकी गॅंड पे पूरा हाथ रख दिया, उन्होने पीछे देखा और मुझसे थोड़ा पीछे होने को बोला तो मैं समझ नही पा रहा था की वो चाह क्या रही है, तो मैं थोड़ा पीछे हो गया और अब मैं टच नही हो रहा था पर अक्षरधाम से भीड़ एक दम बढ़ी और मैं फिर उनसे चिपक गया और अब वो मुझे हटा भी नही सकती थीं क्यूकी अब जगह की गुंजाइश ही नही थी और इस बार मेरा खड़ा लॅंड उनकी गॅंड की दरार मे फिट हो गया.

उन्होने हाथ पीछे किया और मेरा लॅंड कस के दबा दिया तो मुझे बहोत दर्द हुआ, फिर मैने भी उनकी गॅंड कसके दबा दी और वो उचक सी गयी और फिर मैं उनकी गॅंड पे हाथ ले गया और सहलाने लगा, वो थोड़ा थोड़ा रोक रही थी पर मैं हाथ उनकी आस क्रॅक पे ले गया और सहलाने लगा और अब उन्हे भी मज़ा आने लगा और वो अपनी गॅंड मेरे लॅंड की तरफ दबाने लगी, मैने घूम के देखा तो सब खड़े थे और भीड़ की वजा से कुछ नही दिख रहा था की हम क्या कर रहे है और फिर मैं अपना हाथ उनकी चुत पे ले गया और उपर से ही सहलाने लगा बाइ गॉड दोस्तो मज़ा आ गया, थोड़ी देर मे राजीव चौक आ गया और वो उतरने लगी तो मैं भी उनके पीछे उतार गया और उनके पीछे जाने लगा और मैने उन्हे हाय कहा तो उसने भी हेलो कहा, मैने कहा आपका नंबर मिल सकता है तो थोड़ा भाव खाने के बाद उसने अपना नंबर दे दिया और फिर हम मेट्रो के अंदर ही केफे कॉफी डे मे बैठे रहे और अब हम बाय्फ्रेंड गर्लफ्रेंड की तरहा बर्ताव करने लगे.

फिर हम अलग-अलग चले गये और नेक्स्ट संडे मैने उसे फोन किया और घूमने चलने को बोला वो तैइय्यार हो गये और फिर हम इंडिया गेट गये और उसने टॉप और जीन्स पहनी थी, उसने बताया की उसका हज़्बेंड सेल्स मॅनेजर है और ज़्यादातर आउट ऑफ टाउन रहता है और वो एक कंपनी मे मॅनेजर है और फिर हम आज़ ए बाय्फ्रेंड और गर्लफ्रेंड घूमने लगे. फिर मैने उसे होटेल मे चलने को कहा तो वो थोड़ा भाव खाने के बाद तैयार हो गयी और फिर हम ऑटो करके एक होटेल मे आए और वाहा हमने कमरा बुक किया और हम दोनो बेड पे लेट कर बाते करने लगे, बातो-बातो मे मैने उसकी लेग्स पे हाथ रख दिया और उन्हे सहलाने लगा तो उसने आँखे बंद कर ली और फिर मैं उसे किस करने लगा, वो भी मेरा साथ देने लगी और फिर मैने उसका टॉप उतार दिया और वो ब्लॅक कलर की ब्रा मे थी तो मैने ब्रा को भी निकाल दिया वाउ क्या बूब्स थे, फिर मैं उन्हे 15 मिनट तक चूस्ता रहा और वो कहने लगी कितने जनम की प्यासे थे और हम हसणे लगे.

फिर मैने उसकी जीन्स निकाल दी और ब्लॅक कलर की पैंटी भी खींच दी और मुझे उसे चोदने की जल्दी थी तो वो पूरी नंगी मेरे सामने थी क्या बतौ दोस्तो क्या मस्त माल थी वो, फिर मैंने भी कपड़े निकाल दिए और उसके उपर आ गया और बोला तुम्हारी बुर वो समझ गयी और मेरा लॅंड पकड़ के चूसने लगी और मोन करने लगी, फिर उसने मुझे बताया की उसके पति का छोटा सा है और ज़्यादा देर तक भी नही टिकता और हम कम सेक्स कर पाते है, वो बोली तुम्हारे तो मस्त लंबा और मोटा है और फिर मैने कहा चलो आज तुम्हे जन्नत दिखाता हूँ और ये कहके मैने उसके पैर उठाए और उसकी चुत चाटने लगा, थोड़ी देर मे वो झड़ गयी और फिर पोज़िशन मे आया और उसके पैर अपने कंधे पे रखे और लॅंड चुत के मूह पे रख के झटका लगाया और उसकी चुत चिकनी थी लिक्विड से तो लॅंड आधा चला गया और वो चिल्लाने लगी शायद उसकी चुत सही से नही खुली थी, फिर मैं उसे किस करने लगा और फिर से दूसरा झटका मारा और पूरा लॅंड उसके अंदर था.

Pages: 1 2