ग़लती से सोतेली मा चुद गयी

हाय, फ्रेंड्स आपका रिहान वापिस आया हू एक और नयी कहानी के साथ की कैसे ग़लती से मेरे से मेरी सौतेली मा चुदि उस बारे मे, तो हुआ यू की जैसा की आप सब लोग जानते है इस समय दिल्ली मे कितनी बारिश हो रही है, वैसे हमारी सौतेली मा अलग ही रहती है उन्हे मेरे पापा ने अलग मकान लेकर दिया हुआ है, उस दिन पापा काफ़ी टूल होकर आए थे और आते ही मेरे कमरे मे जाकर सो गये, क्योकि मेरा कमरा घर मे घुसते ही है, मैने काफ़ी कहा पापा जी उठो ये मेरा कमरा है, आप अपने कमरे मे जाकर सो जाओ, पर वो दूसरे कमरे मे जाना तो दूर हिल भी नही रहे थे, इतनी पी कर आए थे, फिर मैने सोचा चलो कोई बात नही मैं ही इनके कमरे मे जाकर सो जाता हूँ, मैं जाकर लेटा ही था की मुझे याद आया, की गेट तो मैने बंद करा ही नही, फिर मैं उठा और गेट बंद करने के लिए, तो मुझे ध्यान आया की, अभी सुनेना तो आई ही नही है.

फिर मैं कुछ देर सोफे पे बैठ कर अपने फोन मे ब्लू फिल्म देखने लगा, कोई रात के 11 बजे होंगे, डोर-बेल बजी तो मैने दरवाजा खोला सामने सुनेना थी, मैं तो उसे देखता ही रह गया, क्या गजब का माल लग रही थी वो, एक ट्रॅन्स्परेंट ब्लू सारी पहने हुए थी उसने जिसमे से उसके ब्लाउस मे से उसका गोरा गोरा चिकना बदन सॉफ दिख रहा था जो मुझे मदहोश किए जा रहा था, और इस पर भी आग मे घी का काम तो उसका ब्लाउस कर रहा था जिसमे से उसका डीप क्लीवेज दिख रहा जिसे देख कर मेरा लॅंड एकदम खड़ा हो गया, इतने मे हस्ते हुए, सुनेना बोली, क्या बात है बेटा ऐसे क्या देख रहे हो, उसने हस कर कहा, मैं एकदम झेप गया नही मॉम, कुछ नही वो बस ऐसे ही आओ अंदर आओ मैने उसे अंदर बुलाते हुए कहा, वो अपना पल्लू झटकते हुए अंदर आ गयी जब वो अंदर आ रही थी, तो मैं मटकती हुई उसकी मोटी गॅंड देख रहा था, जिसे देख कर मेरा लॅंड और भी ज़्यादा फूँकार मार रहा था, फिर वो मटकते हुए अपने कमरे मे यानी की जो मेरे पापा का कमरा है उसमे चली गयी, गेट लॉक किया और मैं अंदर की तरफ चल दिया.

मैं पहले तो बाथरूम मे गया और मूठ मार कर अपने लॅंड को शांत किया, फिर मैं पापा के कमरे की तरफ चल दिया जैसा की मैने आपको बताया की पापा एकदम टूल होकर आए थे और मेरे कमरे मे ही सो गये, मैं कमरे मे जैसे ही घुसा सुनेना बोली आ गये जल्दी आ जाओ मेरे पास मैने कहा जैसे ही मैं बोलना चाह रहा था उसने कहा कुछ भी मत बोलो बस जल्दी से आ जाओ, बहुत तड़प रही हूँ, तुम्हारा लेने के लिए, और वो खड़ी हुई और मुझे अपनी तरफ खीच लिया अब मेरी गॅंड भी फट रही थी की अगर इसे पता चल गया की ये मैं रिहान हूँ, तो मैं तो बस गया, मैने भी कहा चलो कोई बात नही ये बोलने तो दे नही रही, अब होने दो जो हो रहा है, फिर मैं भी उसकी तरफ चल दिया, उसने सिर्फ़ एक ब्रा और पैंटी ही पहनी हुई थी, ये मुझे जब पता चला जब मेरा हाथ उसके बूब्स पर गया, क्या मोटे-मोटे और टाइट चुचे थे उसके क्योकि उसको कोई भी बच्चा नही था, फिर मैं भी उसके उपर चढ़ गया और उसकी ब्रा के उपर से ही चुचे चूसने लगा उसकी सिसकारिया निकलने लगी और वो बोली क्या कर रहे हो, सतवीर आज तो तुम एकदम मस्त जवान लोंडे की तरह से मज़ा दे रहे हो, अहहहहह अहह हाहााअ.

फिर मैने पीछे हाथ डालकर उसकी ब्रा खोल दी और भगवान की कसम दोस्तो क्या बतौ उसके चुचे तो भाभी के चुचे से भी बड़े थे, मैं तो हैरान रह गया की साली के इतनी उमर मे भी क्या मस्त चुचे है, फिर मैं उसके चुचे ज़ोर-ज़ोर से दबाते हुए चूसने लगा अब तो वो गॅंड उठा-उठा कर अपने चुचे मेरे मूह पर रगड़ने लगी, अब मैं एक हाथ से चुचे दबा भी रहा था और चूस भी रहा था, अब उसकी सिसकारिया और भी तेज़ हो गयी, थी और वो मोनिंग भी कर रही अहहहडड ससीसीसीसीसी स्ककुहशसूऊ फुफूफूफूफुफ करके, और बोल रही थी सतवीर आज तो तुम किसी जवान लोंडे की तरह मज़े दे रहे हो, फिर मैने एक हाथ उसकी पैंटी के अंदर डाल दिया, मेरी दो उंगलिया आराम से उसकी चुत मे चली गयी जिस वजा से उसने मेरा कस्के अपने चुचो पर दबा दिया, और भी तेज़ तेज़ सिसकारिया लेने लगी, फिर मैने उसकी पैंटी खीची, फिर उसने देर ना करते हुए अपनी मोटी गॅंड उपर उठाई और मैने नीचे हाथ डालकर उसकी पैंटी बिल्कुल उतार दी, उसकी चुत एकदम गीली हो चुकी थी, फिर जैसे ही मैने अपनी जीभ से उसकी चुत चाटी, उसने और भी तेज़ सिसकारी ली, आआआआआअहह फफफफफफ्फ़ माआआआआआआअ करके.

Pages: 1 2