मालेगाओं मे गॅस एजेन्सी वाली की चुदाई

हाय, ऑल डीके चुत और गॅंड वाली फीमेल्स मैं साहिल मालेगाओं मे रहता हूँ और मैं एक बहुत ही चुदाई करने वाला लड़का हूँ और हमेशा चुत और गॅंड ढून्डता रहता हूँ और एक जिगलो भी हूँ और अब तक कई फीमेल्स को फुल एंजाय्मेंट दे चुका हूँ अब ज़्यादा टाइम ना लेते हुए स्टोरी पर आता हूँ, ये स्टोरी है एक गॅस एजेन्सी पर मिली डिवोर्स्ड आंटी की चुदाई की जो मुझे एजेन्सी मे मिली, हुआ ये की मेरे गॅस कार्ड पर कुछ फॉरमॅलिटी के लिए मैं गॅस एजेन्सी गया वाहा काउंटर पर एक आंटी बैठी थी जिनकी उमर कोई 35 साल होगी, मगर उन्होने अपने बदन को इतना अछा मेनटेन किया था की उनके बूब्स बहुत बड़े बड़े थे जिन्हे देख कर मेरी नज़र बार बार उनके बूब्स देख रही थी और वो जब उन्होने कार्ड देख रही थी तो मैं उनके बूब्स देख रहा था और उन्होनो मुझे नोटीस कर लिया था और स्माइल देकर बोली आप अपना मोबाइल नंबर दे दो मैं क्लियर कर के आप को कॉल कर दूँगी, मैं ओके बोल कर चला आया और रात को मेरे फोन पर मेसेज आया.

फिर मैने भी रिप्लाइ किया और फिर मेसेज आया “सिर्फ़ नज़र से रेप करते हो या रियल मे भी कर सकते हो”, मैं शॉक्ड हो गया और फिर बहुत पूछने पर उन्होने बताया की वो गॅस एजेन्सी वाली आंटी है और मैं समझ गया की वो एक बहुत ही प्यासी आंटी है जभि तो उन्होने मुझे इतना शोक्ड आन्सर दिया था तो मैने भी सोचा जब चुत खुद ही लॅंड चाहती है क्यूँ देर की जाए, उन्होने बताया की उनके हज़्बेंड भी सेक्स मे काफ़ी कमज़ोर थे और वो आज तक सेक्स को सही तरीके से एंजॉय नही किया है और मेरी नज़रों से समझ मे आया था की वो सेक्स को काफ़ी जानता हूँ उनकी चुत आज भी गाजर और मूली ही शांत रखती आई है लेकिन रियल सेक्स जब तक ना मिले प्यास नही बुझती, वो बोली “तुम मेरी प्यास बुझाओंगे ना”, मैं बोला “बिल्कुल बुझाउन्गा यही तो मेरा काम है”, फिर मैने बताया की मैं एक जिगलो हूँ और अब तक कई आंटी की चुत और गॅंड की हवस मिटा चुका हूँ तो वो बहुत खुश हो गयी.

और बोली बस अब तो मेरी चुत और गॅंड के बुरे दिन दूर हो जाएँगे और बताया की जल्द ही वो मुझे अपने घर इन्वाइट करेंगी, मैं भी काफ़ी खुश था और रोज़ उनके बूब्स को इमॅजिन करके मूठ मारता और सोचता कैसे उनकी चुत होगी कैसे उनकी गॅंड होगी बहुत बेसब्री से उस दिन का वेट करने लगा, और फिर कई दिन तक सेक्स चॅट करते रहे फोन सेक्स भी फिर एक दिन उन्होने मुझे अपने घर बुलाया और मैं काफ़ी एग्ज़ाइट्मेंट मे आ गया और नेक्स्ट डे मैं एक दम अछी तरहा तैयार हो कर उनके घर पहुँच गया वहाँ पहुँच कर बेल बजाई, आंटी ने दरवाज़ा खोला वाउ आंटी ने मॅक्सी पहन रखी थी और उन्हे देख कर लग रहा था उन्होने अंदर कुछ नही पहना था और उनके बूब सॉफ झलक रहे थे, मैं बूब्स देख कर गरम होने लगा तो आंटी ने कहा अब अंदर आओगे या बाहर ही सब करोगे और मैं शर्मा गया फिर अंदर एक सोफे पर बैठ गया और आंटी मेरे लिए चाय लाने कुचन मे गयी.

और चाय लेकर आई और मैं चाय पीने लगा और आंटी ने मेरे लेग्स टच होके बैठ गयी फिर उन्होने बताया की वो तीन साल से प्यासी है और आज तुम मेरे साथ जो चाहो कर सकते हो, तो फिर आंटी ने अपने होंठ मेरे होंठ पर रख दिए और मैने उनको रेस्पोन्से देने लगा और फिर आंटी ने पैंट के उपर से ही मेरा लॅंड सहलाने लगी मेरा लॅंड फुल खड़ा हो गया था, वो बोली चलो बेडरूम मे चलते है हम बेडरूम मे जैसे ही एंटर हुए तो आंटी ने मुझे बेड पर गिरा दिया और झट से मेरी पैंट खोलकर मेरा लॅंड बाहर निकाल कर मूह बहुत ज़ोर ज़ोर से चूसने लगी मेरा लॅंड दर्द देने लगा था, फिर मेरा पानी निकल गया और फिर उसने खूब रगड़ कर पूरा पानी पी लिया और मैं भी जोश मे आकर उनके उपर आ गया और उन्हे पूरा न्यूड करके मैने उनके बूब्स पर टूट पड़ा ओूऊऊव बहुत टेस्टी बूब्स थे आंटी मैं उन्हे निचोड़-निचोड़ कर चूसने लगा और वो भी बहुत तेज़ आवाज़ से मज़े लेने लगी.

फिर उन्होने मुझे नीचे धकेला मैने उनकी चुत पर अपनी जीभ चलाने लगा वो चिल्लाने लगी आआअहह मज़ा आ रहा है एससस्स साहिल कम ऑन सस्स्सहिल खा जाओ मेरी चुत बहुत सालों बाद असली मज़ा आ रहा है और फिर मैने अपनी एक उंगली उनकी गॅंड मे डाल दी वो चिल्ला उठी मर गयी प्लीज़ फक मी साहिल, अब मेरा लॅंड भी उफ्फान मारने लगा था तो मैने आंटी को करवट मे लेटा कर बेड के नीचे उतार कर अपना लॅंड उनकी चुत पर रगड़ने लगा और वो बोली “प्लीज़ अब डाल दो”, तो मैने लॅंड को चुत पे प्रेस किया तो वो मुँह सिकोड कर मज़ा लेने लगी और मैने तेज़ तेज़ धक्के लगाने लगा तो वो भी अपनी गॅंड उछाल-उछाल कर चुदवाने लगी और फिर मैं डॉगी स्टाइल मे चोदने लगा, वो चिल्ला-चिल्ला कर मुझे और जोश दे रही थी और फिर आंटी ने मुझे लेटा कर मेरे लॅंड पर उछलने लगी, फिर उन्होने मेरा लॅंड बाहर निकाल कर अपनी गॅंड के छेद पर रख कर धीरे-धीरे चुदने लगी, मुझे बहुत ज़्यादा मज़ा आ रहा था.

Pages: 1 2