गर्लफ्रेंड के घर पर चुदाई

मेरा नाम राज है. मैं बंगलोर मे इंजिनियरिंग की पढ़ाई कर रहा हूँ. मैं दिखने मे एवरेज हूँ.मेरी हाइट 5’7″ है. और मेरे लंड की साइज़ 6.5″ है जो किसी भी लड़की या औरत को सॅटिस्फाइ करने के लिए काफ़ी है.ये मेरी सच्ची कहानी है और ये बात तब की है जब मैं अपने कॉलेज से हॉलिडे मे घर आया हुआ था. मैं और मेरी गर्लफ्रेंड रोज बात किया करते थे फोन पर. हम लोग ने बहुत बार फोन सेक्स भी किया है. मेरी गर्लफ्रेंड का नाम सीमी है.वो बहुत ही अछि दिखती है.उसका फिगर साइज़ 34-28-36 है.मैं रोज उससे मिलने के लिए बुलाता था लेकिन कोई जगह नही होने के कारण वो हर बार मना कर देती थी.एक दिन उसने मुझे कॉल किया और बोला की आज मेरी मम्मी और भाई दोनो ही घर पर नही रहेंगे. वो बोली क्या तुम मेरे घर आ सकते हो. मैने उसे कहा हान क्यूँ नही. तब मैं नहा कर उसके घर चला गया. वो मुझे अंदर ले कर आई.

फिर मैने उसे किस किया और उसने भी मुझे किस किया. उसने मुझे बैठने के लिए बोला. वो भी मेरे पास बैठी. मैं एक हाथ से उसका बॅक सहलाने लगा. फिर मैं अपना हाथ नीचे ले जाने लगा. वो काफ़ी टाइट जीन्स पहनी थी. फिर मैं उसके मुम्मे छूने लगा. वो गरम होने लगी. अब मैं उसका टी शर्ट खोल दिया. उसने काले कलर की ब्रा पहनी थी. उसके गोल-गोल मुम्मे मेरे लंड को और भी खड़ा कर रहे थे. मैं अब उसकी ब्रा खोलने लगा लेकिन वो मुझसे नही खुल रहा था. मैं बोला ब्रा फाड़ देता हूँ तब वो बोली मम्मी को शक हो जाएगा तब उसीने खुद से अपनी ब्रा खोल दी. अब मैं एक हाथ से उसके मुम्मे को ज़ोर से दबाने लगा और दूसरे हाथ से उसकी पैंटी मे डालने लगा. उसकी चुत थोड़ी गीली हो गई थी. मैने उसे बेड पर लिटा दिया. मैं उसके गले के पास किस करने लगा.

फिर मैने उसके मुम्मे अपनी मूह मे लिया और उसको मज़े से चूसने लगा. उसके मूह से अब सिसकारियों की आवाज़ आने लगी थी. वो मेरा मूह अपने मुम्मे मे दबाने की कोशिश करने लगी. अब मैं उसके जीन्स खोलने लगा.उसने पिंक कलर की नेट वाली पैंटी पहनी थी.मैने उसके पैंटी को भी खोल के फेक दिया. उसकी चुत मे एक भी बाल नही थे. अब वो अपने बेड मे पूरी तरह नंगी थी. मैने मुम्मे से थोड़ा नीचे उसके पेट के पास किस करने लगा. उसका पूरा बदन अकड़ने लगा था. अब वो मेरा लंड लेना चाह रही थी जो की तंबू की तरह जीन्स मे खड़ा था. उसने मेरी टी-शर्ट निकाली. और मेरे बदन को चूमने लगी. मैने अपना जीन्स खोल दिया. मैने अंडरवेर नही पहनी थी.

अब वो मेरे लंड को घुरे जा रही थी. मैं उसे लंड को चूसने के लिए बोलने लगा लेकिन वो मना कर रही थी. लेकिन वो कुछ देर बाद मान गयी. अब वो मेरे लंड को चूस रही थी. मैं कभी-कभी उसके मूह मे अपना लंड अंदर तक डाल देता था. अब मैने उसको 69 की पोज़िशन मे आने के लिए बोला. हम दोनो एक दूसरे को बहुत मज़ा दे रहे थे. मैं अपने जीभ को उसकी चुत के बहुत अंदर डाल रहा था जिसके कारण वो 2 बार मेरे मूह मे ही झड़ गयी थी. मैने उसे अब बेड पर लिटा दिया और अपना लंड मे को उसकी चुत मे डालने लगा. उसकी चुत बहुत टाइट थी. लेकिन चुत गीली होने की वजह से मैने तेल का इस्तेमाल नही किया.

मैने अपने लंड उसकी चुत के उपर सहलाने लगा. उसे बहुत अछा लग रहा था. अब मैं धीरे से अपना लंड उसकी चुत मे डाल दिया तो वो चिल्लाने लगी. मैं वही रुक गया और उसे किस करने लगा.वो भी मुझे किस कर रही थी. मैं धीरे-धीरे लंड को आगे पीछे करने लगा. उसे थोड़ा-थोड़ा दर्द हो रहा था लेकिन मेरे किस करने की वजह से वो चिल्ला नही पा रही थी. 5 मिनट इसी तरह करने के बाद उसका दर्द कम हुआ तो वो भी मेरा साथ देने लगी. मैं एक हाथ से उसके मुम्मे को मसलने लगा. और ज़ोर ज़ोर से धक्के मारने लगा.

वो ज़ोर ज़ोर से अपना गॅंड उछालने लगी. वो अपने मूह से आआहहहः अहहा की आवाज़ निकालने लगी. मैने उसे डॉगी स्टाइल मे होने को कहा. मैं उसकी गॅंड को पकड़ कर ज़ोर-ज़ोर से चोदने लगा. वो बोल रही थी-और अंदर डालो.छोद दो मुझे. करा दो जन्नत की सैर. और ज़ोर से अया आहह उम्म्म्म उम्म्म आ. वो झड़ने वाली थी. मैं उसे ज़ोर से चोदे जा रहा था. उसने बोला-मैं झड़ रही हूँ. और ज़ोर से उम्म्म अया आआहहह मैं झड़ गयी. अब मैं अपनी स्पीड थोड़ी कम कर दी. मेरा लंड का बुरा हाल हो रहा था. अब मैं उसके एक पैर को अपने कंधे मे लेकर चोदने लगा.

Pages: 1 2