गर्लफ्रेंड की चूत के साथ उसकी माँ की चूत फ्री

कैसे हो दोस्तो, मेरा नाम विकास कुमार नागर है. मेरी उम्र 21 साल है और मैं यू.पी. से हूँ। मेरी हाइट 6.3 फीट है और मेरे लण्ड का साइज़ 7 इंच है। मैं एक गाँव का ही रहने वाला हूँ और देखने में अच्छा दिखता हूँ.

मेरी यह पहली सेक्स स्टोरी है जो मैं आप सब लोगों को बताने जा रहा हूँ जो एक सच्ची घटना है कि कैसे मैंने अपनी गर्लफ्रेंड और उसकी मम्मी को चोदा।

जब मैं स्कूल में था उस वक्त मुझे अपने ही स्कूल की एक लड़की बहुत पसंद थी. मैं उससे प्यार करता था और वो भी मुझे पसंद करती थी.

बात 2 महीने पहले की है, मेरी गर्लफ्रेंड अनामिका जिसकी उम्र 19 साल और फिगर 30-34-36 का है. जब हम दोनों ने बारहवीं पास की और फिर हम दोनों आगे की पढ़ाई के लिए अलग-अलग शहरों में चले गए. फिर भी हम दोनों एक-दूसरे से बिना बात किये नहीं रह पाते थे. हम दोनों को ही एक-दूसरे से बात किए बिना नींद नहीं आती थी.

फिर मैं छुट्टियों में घर आया. वो भी घर आई, मैंने एक दिन उससे मिलने को बोला तो वो मान गई. हमने रात को मिलने का प्लान किया. मैंने उसके साथ अभी तक किस के अलावा और कुछ नहीं किया था, रात को जब वो सभी के सो जाने के बाद मेरी बुलाई जगह पर आई तो हम दोनों में बातें होने लगीं. फिर हमने एक-दूसरे की पढ़ाई के बारे में पूछा और फिर बातों ही बातों में मैंने उसका हाथ पकड़ लिया.
फिर अपनी तरफ खींच कर उसके गुलाबी होंठों पर किस करने लगा. उसने कोई विरोध नहीं किया।

अब वो भी गर्म हो चुकी थी और मेरा साथ दे रही थी। मैं लगातार किस किये जा रहा था और एक हाथ से उसके बूब्स को दबा रहा था। फिर मैंने उसके बूब्स को छोड़ कर नीचे उसकी चूत में हाथ डालना चाहा हो उसने मेरा हाथ पकड़ लिया और फिर बोली- आज नहीं किसी और दिन.
रात का वक्त था और समय भी काफी हो गया था। उसके बाद हम दोनों फिर एक बार ज़बरदस्त तरीके से किस करने लगे. फिर एक दूसरे को बाय बोला और अपने-अपने घर पर आ गए।

दो-तीन दिन बाद उसने दोपहर में फोन किया कि मैं घर पर अकेली हूँ. अगर तुम आ सकते हो तो आ जाओ.
और मैंने झट से हाँ कह दिया.

उसका घर मेरे घर से 1 किलोमीटर की दूरी पर था। मैं वहाँ पर गया और दरवाज़ा खटखटाया तो उसने पूछा- कौन है?
तो मैं बोला- विकास.
फिर उसने दरवाज़ा खोला तो मैं उसे देखता ही रह गया. क्या लग रही थी वह … उसने लाल रंग का सूट पहन रखा था.

फिर मैं अंदर गया तो उसने दरवाज़ा बंद किया और फिर मैंने उसे पीछे से पकड़ कर किस करना शुरू कर दिया। और किस करते-करते उसके रूम में चले गए।
उसके घर में पांच रूम थे।

मैंने किस करते हुए उसके सारे कपड़े निकाल दिये, फिर मैंने भी अपने कपड़े निकाल दिए. अब वो सिर्फ ब्रा और पैंटी में थी. मैं ब्रा निकाल कर उसके बूब्स को चूस रहा था और एक हाथ से उसकी पैंटी के ऊपर से सहला रहा था।
फिर मैं उठा और अपनी अंडरवियर को निकाला. जब उसने मेरा देखा तो घबरा गई, मैंने अपना लण्ड उसके हाथ में दिया और उसे मुँह में लेने को कहा. पहले तो वह मना कर रही थी, फिर मान गई।

मैंने उसकी पैंटी निकाली और उसे देखता ही रह गया. उसकी चूत पर एक भी बाल नहीं था जैसे मानो आज ही शेव किया हो, हम दोनों 69 पोजीशन में आ गए. वो मेरा लण्ड और मैं उसकी चूत चाट रहा था।
मैंने उसकी चूत में अपनी एक उंगली डाली पर चूत इतनी टाइट थी कि मेरी उंगली आसानी से अंदर नहीं जा पा रही थी। फिर मैंने जैसे-तैसे अपनी दो उंगलियों को उसकी चूत में डाल कर उसे चोदना शुरू कर दिया। इसी बीच वो एक बार झड़ चुकी थी।

तब अनामिका ने कहा- अब और न तड़पाओ मेरे राजा. चोद कर फाड़ दो मेरी चूत को, कई सालों बाद आज हमें यह मौका मिला है। चोद कर मेरी चूत का भोसड़ा बना दो आज तुम।
उसके बाद मैंने उसके पैरों को फैलाया और उसकी चूत पर लण्ड रखकर दबाया पर मगर चूत इतनी टाइट थी कि वो चिल्लाने लगी। फिर मैंने उसके होंठों पर अपने होंठ रखकर किस किया।

इसी बीच मैंने एक ज़ोरदार धक्का मार दिया और मेरा 3 इंच तक लण्ड उसकी चूत में जा चुका था। वो चिल्लाना चाहती थी पर मेरे होंठ उसके होंठों पर रखे हुए थे. मैं कुछ देर रुका रहा। वो दर्द के मारे रो रही थी.

जब उसका दर्द कम हुआ तो मैंने एक और ज़ोरदार धक्का मारा जिससे कि मेरा पूरा लण्ड उसकी चूत में घुस गया। वो दर्द के मारे कराह रही थी। फिर मैं कुछ देर तक रुका रहा, जब उसका दर्द थोड़ा कम हुआ तो मैं अपना लण्ड अंदर-बाहर करने लगा.

Pages: 1 2 3