जीजू ने मुझे पूरा मजा देकर चोदा

माई डीयर फ्रेंड्स, मेरा नाम रेखा है. मैं अपनी पहली कहानी आप लोगों को बताने जा रही हूँ. मैं अभी कॉलेज में हूँ और पढ़ाई करती हूँ. मैं कॉलेज में गयी, तब से मुझे सेक्स के बारे में सब कुछ पता चल गया था. मैं अपनी सहेलियों के साथ कॉलेज जाती थी. मेरी सहेलियों के ब्वॉयफ्रेंड थे और वो लोग मेरे सामने अपने अपने ब्वॉयफ्रेंड की बातें करती थीं, तो मुझे भी मन करता था कि मेरा भी एक ब्वॉयफ्रेंड हो तो मेरी लाइफ भी अच्छी होती.

मैं वैसे दिखने में बहुत सुन्दर हूँ लेकिन मैं लड़कों को ज्यादा भाव नहीं देती थी, इसलिए जो लड़के मुझे लाइन मारते थे उनको मैं अपना ब्वॉयफ्रेंड नहीं बनाती थी. मुझे बाद में ये महसूस हुआ कि मुझे उन लड़कों को देखकर स्माइल करना चाहिए.

मेरी एक सहेली ने मुझे बताया कि अगर कोई लड़का तुमको लाइन मार रहा है और तुम उसको देखकर स्माइल करोगी तो ही वो तुमसे बात करेगा और हो सकता है कि तुम्हारा ब्वॉयफ्रेंड भी बन जाए.

मैं अब उन लड़कों को देखकर स्माइल करने लगी, जो लड़के मुझे देखकर स्माइल देते थे. इस तरह से मैंने एक नहीं, दो ब्वॉयफ्रेंड बना लिए. वो लोग मुझे आकर मुझे अपनी गर्लफ्रेंड बनाने के लिए बोले और मैं भी मान गयी. मेरी सारी सहेलियों के भी कई ब्वॉयफ्रेंड थे, इसलिए मैंने भी दो ब्वॉयफ्रेंड बना लिए.

कुछ ही दिनों बाद मैंने एक ब्वॉयफ्रेंड के साथ सेक्स भी कर लिया था. पहली बार हम दोनों ने एक होटल में सेक्स किया था. जबकि दूसरे ब्वॉयफ्रेंड के साथ अभी तक केवल चूमाचाटी का मजा ही किया था.. ऊपर से उसने मेरे दूध दबाए थे.

अब मैं बहुत खुश थी कि मेरे दो ब्वॉयफ्रेंड हैं, लेकिन क्या करें धीरे धीरे मैं अपने ब्वॉयफ्रेंड्स से अलग हो गयी क्योंकि परिवार की वजह से मुझे ये सब करना पड़ा. मेरा उस चोदू वाले मेरे ब्वॉयफ्रेंड से मेरा ब्रेकअप हो गया क्योंकि मेरे बारे और मेरे ब्वॉयफ्रेंड के बारे में मेरे घर की तरफ के एक लड़के ने मेरे परिवार वालों को सब बता दिया था कि मैं कॉलेज में एक लड़के से बात करती हूँ. उसने हम दोनों को किस करते हुए भी देख लिया था. मैंने उस दिन अपने घर में बहुत डांट खाई थी और मुझे तो मम्मी ने पीटा भी था.

इसके बाद मैं अपने दोनों ब्वॉयफ्रेंड्स से अलग हो गयी और अब अपनी जिन्दगी में अकेली रहने लगी. मुझे अपने ब्वॉयफ्रेंड्स के साथ बिताये वो सब कुछ पल याद आते थे. मुझे बिना किसी ब्वॉयफ्रेंड के रहना मुश्किल सा लगने लगा था.

मैं एक दिन अपने ब्वॉयफ्रेंड को कॉलेज में देखा कि वो एक लड़की से हंस कर बात कर रहा था. ये देख कर मुझे बहुत बुरा लगा था कि हमारे ब्रेकअप को कुछ ही दिन हुए थे और उसने एक और लड़की को अपनी गर्लफ्रेंड बना लिया.
अब मैं अपने कॉलेज में अब ब्वॉयफ्रेंड के चक्कर में नहीं पड़ती थी और इस तरह की सब प्यार मोहब्बत से मेरा विश्वास खत्म हो गया था.

मेरी सहेली ने मुझे बताया कि वो अपने जीजू के साथ सेक्स करती है. हम दोनों लोग एक दूसरे को सब कुछ बताते रहते थे. मेरी ये सहेली ही एक ऐसी थी, जिसको पता था कि मैं अपने ब्वॉयफ्रेंड से होटल में जाकर चुदवा चुकी थी.

दरअसल मेरी इसी सहेली ने सेक्स करने में मेरी बहुत सहायता की थी. मुझे सेक्स के बारे में कुछ भी अनुभव नहीं था. उसने ही मुझे ये सब बताया था. मेरी सहेली की ये बात सुनकर मुझे बहुत अजीब लगा कि वो अपने जीजू से सेक्स करती थी. उसने मुझे बाद में बताया कि जीजू से सेक्स करने में फायदा है कि चूत को लंड भी मिल जाएगा और घर की बात घर में ही रह जाएगी.

मैं भी ये बात समझ गयी थी और मेरी चचेरी दीदी के भी पति जो कि मेरे जीजू थे.. उनके बारे में मैं भी सोचने लगी कि मैं भी अपने जीजू से चुदूँगी तो घर की बात घर में ही रह जाएगी.

मुझे ये बात मेरी सहेली ने बताई थी कि घर में सेक्स करने से यही फायदा है और मुझे ये बात अच्छी भी लगी थी. मैं पहले अपने जीजू से ज्यादा बात नहीं करती थी लेकिन अब जब भी जीजू दीदी को लेकर आते थे तो मैं जीजू से बात करती थी.

मैं अब कॉलेज के ब्वॉयफ्रेंड के बारे में नहीं सोचती थी. मुझे सेक्स करने का मन करता था लेकिन मैं कुछ नहीं कर पाती थी. मैं करती भी तो क्या करती अगर बाहर किसी से सेक्स करती और घरवालों को पता चल जाता था, तो मुझे बहुत मार पड़ती. मैं अपने घरवालों से बहुत डरती थी.

खैर.. जीजू और मेरे बीच में नजदीकियां बढ़ने लगी और हम दोनों लोग रोज एक दूसरे से बात करने लगे. मेरी सहेली से मैं ये सब बताती थी कि मैं अपने जीजू से क्या बात करती हूँ और मेरी सहेली भी मुझे सारी बातें बताती थी कि इसके आगे क्या करना है.

Pages: 1 2 3