कोमल के कमसिन नखरे

hindi sex stories, antarvasna मैं एक मीटिंग के सिलसिले में मुंबई से दिल्ली गया हुआ था मेरे साथ मेरे ऑफिस के और भी क्लाइंट थे, मुझे उस वक्त दिक्कत का सामना करना पड़ा जब मैं होटल से एयरपोर्ट के लिए निकल चुका था लेकिन मेरा कुछ जरूरी सामान होटल में ही रह गया था मुझे समझ नहीं आ रहा था कि मैं अब वह सामान वहां से कैसे लाऊं। मैं जिस ऑफिस में मीटिंग के लिए गया था वहीं की एक स्टाफ मुझे दिखाई दी उसका नाम कोमल है, कोमल से जब मैंने यह बात कही तो कोमल कहने लगी सर आप चिंता मत कीजिए मैं अपने भैया से कह देती हूं। कोमल का घर उस होटल के पास ही था उसने अपने भैया से कहकर वह सामान मंगवा लिया, जब वह सामान मुझे मिल गया तो मैंने कोमल को उसके लिए धन्यवाद कहा, कोमल कहने लगी सर आपको उस वक्त मेरी जरूरत थी तो मैंने आपकी मदद की, कभी मुझे आपकी जरूरत पड़ेगी तो मैं आपसे जरूर मदद लूंगी, यह कहते हुए वह चली गई।

मेरी फ्लाइट भी कुछ देर बाद थी मैं भी मुंबई लौट आया मैं मुंबई लौट आया तो मैं अपने काम में ही व्यस्त हो गया और मुझे जब थोड़ा बहुत समय मिलता तो मैं अपने परिवार के साथ समय बिताता था लेकिन काम का कुछ ज्यादा ही बोझ होने की वजह से मैं कुछ समय से अपने परिवार को समय नहीं दे पा रहा था, मैं सोचने लगा कि जब मुझे थोड़ा टाइम मिलेगा तो मैं अपनी पत्नी और बच्चों को अपने साथ घुमाने के लिए कहीं लेकर जाऊंगा लेकिन मुझे समय नहीं मिल पा रहा था परंतु जब मुझे टाइम मिला तो मैंने घूमने का निर्णय कर लिया, मैंने सोचा क्यों ना अपने परिवार को किसी अच्छी जगह घुमाने के लिए लेकर जाया जाए। मैंने इस बारे में अपने दोस्तों से भी बात की लेकिन सबने मुझे मुंबई के आसपास की ही जगह के बारे में बताया और मैं उन सब जगह पहले ही घूम चुका था इसलिए मुझे किसी नई जगह जाना था। मेरे पुराने मित्र हैं जो कि मध्यप्रदेश में रहते हैं मैंने उनसे पूछा तो वह कहने लगे आप कुछ दिनों के लिए मध्यप्रदेश में आ जाइए यहां पर घूमने की नई नई जगह है, मैंने भी सोचा कि चलो इस बार मध्य प्रदेश ही घूम लिया जाए।

मैं जब मध्य प्रदेश गया तो उन्होंने ही हमारे रुकने की सारी व्यवस्था करवाई थी मुझे किसी भी प्रकार की कोई दिक्कत नहीं हुई, मैं मध्यप्रदेश के पन्ना में भी कुछ दिनों तक रुका, मैं लंबे टूर पर निकला हुआ था तभी एक दिन मैंने अपनी फेसबुक पर देखा कि मुझे कमल ने फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजी है लेकिन मैं उसकी फ्रेंड रिक्वेस्ट एक्सेप्ट नहीं कर पाया था क्योंकि मैं ज्यादातर फेसबुक का इस्तेमाल नहीं करता परंतु जब मैंने उसकी फ्रेंड रिक्वेस्ट एक्सेप्ट कर ली तो उसने मुझे मैसेज करते हुए कहा सर मेरे पास आपका नंबर नहीं था इसीलिए मैंने आपको फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजी। जब उसने मुझसे मैसेज में यह कहा तो मैंने उसे तुरंत रिप्लाई करते हुए अपना नंबर दे दिया, मैंने सोचा कि चलो क्यों ना मैं अपनी कुछ फोटो फेसबुक पर पोस्ट कर देता हूं, वैसे मेरी आदत नहीं है कि मैं अपनी फोटो फेसबुक पर पोस्ट करू परंतु उस दिन मैंने अपनी फोटोऐ फेसबुक पर पोस्ट कर दी, जब वह कोमल ने देखी तो कोमल ने उस फोटो के नीचे कमेंट करते हुए कहा सर आज कल आप लोग कहां घूम रहे हैं? मैंने कोमल से कहा मैं अपने परिवार के साथ मध्य प्रदेश आया हूं और फिलहाल मैं पन्ना में ही रुका हूं। जब यह बात मैंने कोमल से कहीं तो कोमल कहने लगी हमारा पुश्तैनी घर भी पन्ना में ही है जब उसने यह बात कही तो मैंने उससे कहा तो फिर तुम भी कुछ दिनों के लिए यहीं घूमने के लिए आ जाओ, कोमल मुझे कहने लगी ठीक है सर मैं देखती हूं लेकिन वह उस वक्त आ नहीं पाई उसके बाद भी कोमल और मेरी बात अक्सर होती रहती थी। एक दिन मुझे कोमल का फोन आया और वह कहने लगी सर मुझे मुंबई किसी काम से आना है लेकिन मुझे वहां के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है, मैंने कोमल से कहा कोई बात नहीं तुम मुंबई आ जाओ मैं सब कुछ देख लूंगा, मैंने कोमल कि रुकने की व्यवस्था अपने घर पर ही कर दी, कोमल भी कुछ दिनों बाद मुंबई आ गई। मैंने जब कोमल से पूछा कि तुम यहां किस काम से आई हो तो वह कहने लगी सर मुझे कुछ काम था लेकिन उसने मुझे बताया नहीं कि वह किस काम से मुंबई आई हुई है, कोमल मेरे घर पर पूरे अच्छे तरीके से घुल मिल गई वह मेरी पत्नी के साथ बड़े अच्छे तरीके से घुल मिल गई थी, मेरी पत्नी और उसके बीच में बहुत अच्छी दोस्ती हो गई थी उसे हमारे घर पर रहते हुए एक हफ्ता हो चुका था।

Pages: 1 2