चुदक्कड़ मैनेजर ने मुझको जिगोलो बना दिया

मैं बाय बोल कर बाहर आ गया और अपने स्थान पर बैठ गया. अपना काम करने लगा. काम करते-करते कब 5:00 बज गए, पता ही नहीं चला और 5:00 बजे हमारी छुट्टी हो गई. फिर मैं घर चला गया.

घर पहुंच कर मुझे पता लगा कि मीरा मैडम ने पहले ही मेरे घर पर कॉल करके बता दिया है कि आज ऋषभ की नाइट शिफ्ट है. आपको घबराने की जरूरत नहीं है़. वो नौ बजे फिर से ऑफिस के लिए निकल जाएगा.

मैडम ने वापसी को लेकर मेरे पीजी में कुछ नहीं कहा था, तो मैं भी बिना कुछ कहे निकल आया. मैं घर से तैयार होकर 9:00 बजे निकल गया, जैसे ही मैं घर से बाहर निकला. मैंने मीरा मैडम को कॉल करके बता दिया कि मैं आपके घर आने के लिए निकल चुका हूं … लेकिन मैंने आपका घर नहीं देखा.

उन्होंने मुझे व्ट्सऐप पर अपने घर की लोकेशन पता भेज दी. दस बजे मैं उनके घर के बाहर पहुंच गया. घर के बाहर जाकर मैंने उनके डोर पर लगी घंटी बजाई, तो मीरा मैडम ने गेट खोला.

आज इस समय वह बहुत ही सेक्सी लग रही थीं. उन्होंने ब्लैक कलर की शिफोन की साड़ी पहनी थी और काले रंग का गहरे गले वाला ब्लाउज, उसमें से उनके चूचों की बीच की लाइन साफ दिखाई दे रही थी. उनके 36 साइज़ के चूचे बाहर आने को बेताब हो रहे थे. कुल मिलाकर वह आज किसी वासना जगाने वाली आइटम लग रही थीं.

मैंने उनकी तारीफ करते हुए बोला- मैडम यू आर लुकिंग ब्यूटीफुल टुडे.
उन्होंने रिप्लाई में थैंक्यू बोला और मुझे अन्दर आने के लिए कहा.
मैं अन्दर आ गया तो उन्होंने गेट बंद कर लिया.

फिर हम दोनों सोफे पर जाकर बैठ गए मीरा मैडम मेरे सामने वाले सोफे पर बैठी थीं और मैं उनके सामने वाले सोफे पर मैं बैठा था. हम दोनों के बीच में एक टेबल थी.

मीरा मैडम ने मुझसे पूछा- ऋषभ क्या लोगे चाय या कॉफी?
मैंने कहा- ना चाय ना कॉफी. … आप कृपा करके मुझे एक ग्लास पानी दे दीजिए, मुझे बहुत तेज प्यास लगी है.
उन्होंने आंख दबाते हुए कहा- ठीक है बस पानी चाहिए या उसमें मिलाने के लिए और कुछ भी चाहिए.
इतना कह कर मीरा मैडम खिलखिलाकर हंसने लगीं.

मैंने भी मजाक में जवाब देते हुए कहा- हा हा हा मैडम … अगर कुछ मिलाने के लिए हो … तो वह भी ले आओ … मुझे कोई दिक्कत नहीं है.
मीरा- हां जरूर … क्यों नहीं.
इतना बोलकर मैडम किचन में चली गईं.

मुझे लगा मैडम मजाक कर रही हैं, इसलिए मैंने मजाक में उनसे कहा कि कुछ मिलाने के लिए है, तो ले आओ. लेकिन जब मैंने उन्हें किचन में से वापस आते हुए देखा, तो मैं एकदम से चौंक गया. उनके हाथ में एक वोडका की बोतल, दो गिलास और एक पानी की बोतल थी. जो उन्होंने लाकर टेबल पर रख दी.

मैंने कहा- अरे मैडम … मैं मजाक में बोल रहा था कि कुछ मिलाने के लिए है और आप तो असली में लेकर आ गईं.
मीरा- चलो अब मजाक बहुत हुआ, अब बोतल आ गई है तो दो-दो पैग हो ही जाएं.
मैंने मैडम को संजीदा देखा तो मैंने भी हामी भर दी और ‘जी हां … क्यों नहीं..’ बोल दिया.

मीरा मैडम ने दो पैग बनाए, एक मेरा और एक अपना. मैंने देखा उन्होंने मेरा पैग कुछ ज्यादा ही तगड़ा बनाया था. फिर हमने अपना अपना ग्लास उठाया और चियर्स करके गिलास होंठों से लगा लिए. मैंने एक ही झटके में फिर बॉटमअप कर के पैग अन्दर किया और गिलास खाली कर दिया.

एक ही बार में पैग खाली होते देखा, तो मीरा मैडम ने बैक टू बैक दो पैग और बना दिए. वह भी पियक्कड़ थीं, सो उन्होंने भी गिलास को एक ही सांस में खींच लिया था. हम दोनों ने बॉटम अप करते हुए पैग मारे … और नमकीन लेकर मुँह का स्वाद ठीक किया. मुझे इस वक्त सिगरेट की तलब लगी थी. तभी मैडम ने उठकर अपने बैग में से ट्रिपल फाइव की डिब्बी निकाली और मेरी तरफ बढ़ा दी.

मैं अभी कुछ सोचता इससे पहले मैडम ने कहा- एक ही सुलगा लो, शेयर कर लेंगे.
मुझे इस बात से जरा और अजीब सा लगा कि मैडम तो आज रंग पर रंग दिखाए जा रही हैं. खैर मैंने सिगरेट सुलगा ली. मैंने मैडम की तरफ सिगरेट बढ़ाई तो देखा कि मैडम की साड़ी एकदम खुली पड़ी थी और उनके गहरे गले वाले ब्लाउज से उनकी मदमस्त चूचियां मुझे ललचा रही थीं.

हालांकि मैंने सिवाए देखने के कुछ नहीं किया न कुछ कहा. मैंने गिलास उठाया और होंठों से लगा कर उनकी चुचियों को निहारते हुए शराब की चुस्की लेने लगा.
मैडम ने सिगरेट का कश खींचा और मेरी तरफ सिगरेट बढ़ाते हुए मम्मों की नुमाइश की और कहा- इनको देखने से कुछ नशा बढ़ा … मजा आया?
मैं हंस दिया और बस सिगरेट का कश खींच कर न जाने कैसे उनकी चूचियों पर धुंआ छोड़ दिया.
मैडम हंस पड़ीं.

Pages: 1 2 3