मेरी सुहाग रात की कहानी

हाय दोस्तो….. मैं कुणाल एक बार फिर हाज़िर हू अपनी दूसरी स्टोरी के साथ. इसके पहले भी मैने एक स्टोरी लिखी थी. काफ़ी सारे मेल्स मिले मुझे थॅंकयू दोस्तो फॉर लाइकिंग माय स्टोरी. आज मैं आपके सामने अपनी लाइफ की एक और सच्ची घटना शेर करने जा रहा हू पसंद आए तो प्लीज़ मैल मी एट सेक्शकशकषलोवेर[email protected]गमाल.कॉम

तो अब सीधे स्टोरी पे आते हैं बट उससे पहले लेट मी इंट्रोड्यूस माइसेल्फ. मेरा नाम कुणाल हैं च्चत्तीसगढ़ के एक गाओं का रहने वाला हू रंग गोरा हाइट 5’9” लंड 6 इंच लंबा 2.5 इंच मोटा. ये बात मेरी शादी की हैं मेरी शादी एप्रिल मे हुई थी. वैसे तो सुहाग्रात शादी के बाद की पहली रात को कहते हैं जिस दिन दूल्हा और दुल्हन 2 जिस्म 1 जान बनाते हैं. बट मेरी सुहाग्रात शादी के 1 वीक बाद हुई. हमारे यहा शादी के बाद भी कुछ कुछ रस्मो रिवाज चलता रहता हैं और तब तक दूल्हा दुल्हन अलग ही रहते हैं. मेरी बीवी का नाम जानवी हैं. मैं उसे प्यार से रानो बुलाता हू.

मेरी रानो बोहोत ही सुंदर हैं गोरी हैं हाइटेड हैं 5’6” एकदम स्लिम एंड सेक्सी. बस गाओं से हैं तो ज़्यादा पढ़ी नही हैं और मुझसे 5 . छोटी हैं. मैं तो पहली बार देखते ही उसपे फ्लॅट हो गया था बस शादी तक का वेट कर रहा था. बट शादी के बाद भी कोई मुझे मेरी बीवी से मिलने नही दे रहा था मुझे बोहोत गुस्सा आ रहा था. आख़िर मे एक वीक बाद सारे रसम ख़ात्मा हुए और सब मेहमान भी चले गये. अब घर मे सिर्फ़ मेरे मॉम डॅड और हम दोनो थे.

मैं बोहोत खुश था की आज फाइनली मेरी रानो मेरी हो जाएगी. मार्केट गया सुहाग्रात की तैयारी करने के लिए ढेर सारे रेड रोज़स और चॉक्लेट्स लिया और परफ्यूम्स भी. जब मैं घर आया तो मोबाइल चार्ज करने के लिए अपने रूम मे गया. जैसे ही मैं एंटर हुआ मेरी आँखे फटी की फटी रह गई. रानो ठीक नहा के निकली थी. ऐसी लग रही थी मानो कोई परी हो उसके भीगे बाल चेहरे पे हल्की पानी की बूंदे कमर से लिपटी रेड सारी…. मैं तो देखता ही रह गया. उस टाइम वो सारी पहन रही थी तो उसका पल्लू बेड पे था उसके ब्लाउस मे बंद टाइट बूब्स क्या लग रहे मानो मुझे बुला रहे हो अपनी तरफ. उसके गले से गिरता पानी का एक ड्रॉप उसके क्लीवेज मे जा के खो गया मैं पागल हो रहा था मन कर रहा था की अभी उसे बाहो मे ले के किस कर लू.

तभी अचानक उसने मुझे नोटीस किया दरवाज़े पे खड़े जो मैं उसे देख रहा था. वो शरमाई और झट से अपना पल्लू उठा के ठीक करने लगी. मैं भी उसके पास गया और उसे किस करना चाहता था बट तभी मेरी मॉम आ गई और रानो को अपने साथ ले गई. मेरा मन इतना मचल उठा क्या बताउ??? मेरी सेक्स की एग्ज़ाइट्मेंट और बढ़ गई…..

थोड़ी देर मे फ्रेश हो के मैं हॉल मे टीवी देखने लगा. रानो किचन मे डिन्नर की तैयारी कर रही थी. बट मेरी आँखो के आगे तो उसका वही सेक्सी लुक आ रहा था. मैं पानी पीने के बहाने किचन मे गया और वही खड़ा रानो को देखने लगा. रानो पूछने लगी क्या हुआ? कुछ चाहिए क्या? मैं भी फ्लर्टी अंदाज़ मे बोला की मुझे जो चाहिए क्या तुम मुझे वो दोगि?? वो बोली हा ज़रूर दूँगी बताइए क्या चाहिए आपको?? मैं झट से बोल पड़ा तुम….. वो बोली क्या?? मैं समझी नही??? मैं हस्ते हुए बोला की बाद मे बताउन्गा फिलहाल तो बस ये पानी लेने आया था. इतना कह के मैने उसके पास पड़ी ग्लास को उठाया और उसके गाल पे किस कर के आ गया.

वो शर्मा गई बट कुछ बोल नही पाई बस फिर क्या था मैं यही करने लगा हर आधे घंटे मे किसी ना किसी बहाने किचन मे जाता और रानो को किस कर के आ जाता. फिर हम सबने डिन्नर किया और मॉम डॅड अपने रूम मे सोने चले गये. रानो अभी भी किचन मे काम कर रही थी. मैं वाहा झट से रूम मे गया और रूम को मस्त से रोज़ से सजाया और कॅंडल्स जला दिए और पर्फ्यूम स्प्रे कर दिया. वो जैसे ही काम ख्त्म कर के रूम मे आई पहले तो चौक गई अंधेरे रूम मे कॅंडल्स की रोशनी और हल्की हल्की खुश्बू…. वो जैसे ही अंदर आई मैने धीरे से डोर लॉक कर दिया और पीछे से उसके कमर को पकड़ के उसे अपनी बाहों मे खिच लिया. वो डर गई थी. फिर मैने उसकी गर्दन पे किस किया और धीरे से उसके कान मे बोला…. मैं हू मेरी जान….. फिर मैने लाइट ऑन किया.

वो रूम की सजावट देख के बोहोत खुश भी हुई और शर्मा भी रही थी. मैं उसे टाइट्ली हग किया और बोला की अब बोलो मुझे जो चाहिए वो दोगि??? वो मुस्कुरा दी उसे लगा की मैं फिर से उसके गाल पे किस करने वाला हू बट इस बार मैं उसके लिप्स पे टूट पड़ा और उसकी रसीले गुलाबी होटो का रस पीने लगा. 5 मिनट तक उसको ऐसे स्मूच करने के बाद मैने उसे गोद मे उठाया और लाइट्स ऑफ करते हुए उसे बेड पे लिटा दिया. फिर खुद भी उसके बगल मे लेट गया और उसे सर से पावं तक निहारने लगा. वो शर्मा के मेरी बाहो मे सिमट गई.

अब मैने उसके कपड़े उतारना शुरू किया. पहले तो सारी उतार के अलग कर दी फिर हल्के हाथो से ब्लाउस के उपर से ही बूब्स को प्रेस करने लगा. फिर उसका ब्लाउस भी उतार दिया. वो शर्म के मारे आँख बंद कर ली थी. अगले मिनट मे मैने अपने कपड़े भी उतार दिए अब मैं सिर्फ़ अंडरवेर मे था उसके उपर फिर उसकी ब्रा भी उतार दी और उसकी बूब्स बारी बारी से चूसने लगा. क्या मस्त और टाइट बूब्स थे उसके. मेरी रानो मदहोशी मे मोन कर रही थी… उम्म्म्म…. आहह….. ओह्ह्ह…… ये सब सुन के मुझे और सेक्स का नशा चढ़ रहा था.

थोड़ी देर मे मेरा भी लंड टाइट होने लगा मैने रानो का हाथ पकड़ के अपने लंड पे रखा वो घबरा के हाथ छुड़ा ली. मैने उसके होटो पे किस करते हुए कहा . मेरी जान पाकड़ो ना मेरा ये लंड सिर्फ़ तुम्हारा ही तो हैं. मेरे मूह से लंड वर्ड सुनते ही वो आँख खोल के मुझे सर्प्राइज़िंग्ली देखने लगी. मैने उसे आँख मार दी और फिर से उसका हाथ अपने लंड पे रखा अबकी बार उसने उसे पकड़ लिया. मैने अपनी अंडरवेर भी निकाल दी. अब उसको लंड को हिलाने के लिए बोला वो वैसा ही करने लगी. मैं तो मानो स्वर्ग की सैर कर रहा था. फिर मैने उसका पेटिकोट और पैंटी भी उतार दी. उसकी चुत मेरे सामने नंगी थी छोटे छोटे बालो मे छुपी गुलाबी चुत क्या लग रही थी. उसकी चुत से पानी टपक रहा था. और एक मदमस्त खुश्बू आ रही थी उसकी चुत से.

मैने एक उंगली डाल दी उसकी चुत मे. और उसे सहलाने लगा… फिर अपने होट उसकी चुत से लगा दिया और उसका रस चूसने लगा. वो आहह…… उम्म्म्म….. उम्म्म्म …….. किए जा रही थी. मैं अपनी टंग को रोल कर उसकी चुत मे डाल के उसे फक करने लगा वो मेरा सिर अपनी चुत मे दबाए जा रही थी. थोड़ी देर मे उसने पानी छोड़ दिया. मैने सारा पानी पी लिया. क्या मस्त टेस्ट था उसकी चुत का.

अब मैने उसे अपना लंड चूसने को कहा बट वो मना कर दी कॉज़ उसे वो अछा नही लगता. मैने भी उसे फोर्स नही किया. और उसके पूरे बदन को किस करने लगा. वो फिर से तैयार हो गई. अब मैने अपना लंड उसकी चुत पे रखा और एक झटके से लंड को अंदर धक्का दिया वो चीख पड़ी. मैने उसे लिपलोक्क किस किया ताकि उसकी चीख रूम से बाहर ना जाए. और धीरे धीरे उसके बूब्स चूसने लगा. जब उसका दर्द कम हुआ तो फिर से धक्का दिया और मेरा पूरा लंड उसकी चुत मे घुस गया. उसकी चुत से खून बहने लगा.

मैं धीरे धीरे अपने लंड को अंदर बाहर करने लगा. उसे भी मज़ा आने लगा और वो बंद आँखो से आअहह…… ऊओह……. ह्म्म्म्ममम……… उफफफफफ्फ़…… यॅ…… करने लगी… कुछ ही मिनट मे उसने फिर से पानी छोड़ दिया. मैं भी बस अपने चरम सीमा पे था. मैने अपनी स्पीड बढ़ा दी.

और उसकी चुत मे ही अपना पूरा वीर्या छोड़ दिया और उसके उपर ही लेट गया. थोड़ी देर बाद वो उठी और बाथरूम की और गई. बेडशीट पे लगे खून को देख के डर गई. मैने उसे बाहों मे लिया और समझाया की फर्स्ट टाइम मे ऐसा होता ही हैं. फिर दोनो बाथरूम गये एक दूसरे को सॉफ किया और साथ मे नहाने लगे. मेरा लंड फिर से टाइट हो गया. फिर हमने दूसरी बार चुदाई की और फिर आ के सो गये.

जब मैं उठा . अपने सामने अपनी रानो को देख के बोहोत खुश हुआ. आँखो मे रात की तस्वीर थी. उसे अपने पास बुलाया और किस किया वो शरमाते हुए बोली की रात बीत चुकी हैं जनाब सुबह हो गई हैं उठिए….. तो दोस्तो ये थी मेरी सुहाग्रात स्टोरी. कैसी लगी आपको??? मुझे मैल ज़रूर कीजिएगा. आई विल वेट फॉर युवर मेल्स. मैल मी एट …. कहानी पढ़ने के बाद अपने विचार नीचे कॉमेंट्स मे ज़रूर लिखे, ताकि हम आपके लिए रोज़ और बेहतर कामुक कहानियाँ पेश कर सके – ड्के