कुवारी खाला की गरम चूत चोदा रात के अँधेरे में

और फिर मैंने एक हाथ को निचे ले जा के खाला की सलवार का नाडा खोल दिया. सलवार निचे जमीन पर जा गिरी. और मेरा एक हाथ धीरे से उनकी बुर पर आ गया. मैंने खाला की बुर में छेद ढूंढने लगा. उसके देसी बुर पर हलके हलके से बाल थे. और मैं छेद को पकड के उसमे अपनी एक ऊँगली को डालने लगा. खाला के तो होश ही उड़े हुए थे. वो अह्ह्ह हम्म्म्म ह्म्म्म की आवाजे निकाल रही थी. मैं ऊँगली को खाला के बुर में जोर जोर से अन्दर बहार कर के उन्हें फिंगर फक देने लगा. और बूब्स से मैंने होंठो को हटा के फिर से उन्हें लिप किस दिया. वो बड़ी मस्तियाँ चुकी थी. तभी खाला ने अपनी बुर से पानी छोड़ा और मेरी ऊँगली को भिगो दिया! दोस्तों अब तक मेरे लंड का रोल स्टार्ट नहीं हुआ था. लेकिन वो एकदम कड़ा हो के बस अपनी टर्न की ही राह में था. खाला का हाथ जब उसके ऊपर आया तो वो बोली, मोहसिन तेरा तो बहुत बड़ा हे!!!

ये सुन के मैं और भी खुश और उत्तेजित हो गया. और बड़े जोर जोर से ऊँगलीबुर में अन्दर बहार करने लगा. खाला एकदम गरम हो गई थी! वो पागलो के जैसे मेरे पुरे बदन को चूमने लगी. फिर उसने मेरे लौड़े को अपने हाथ में पकड के अपनी बुर पर घिसना चालू कर दिया. मैं समझ गया की वो पूरी तरह से गर्म हो गई थी लंड ले लेने के लिए! मैंने खाला को बिस्तर में लिटाया और अपने लंड के सुपाडे को उसके छेद पर टिका दिया. एक धक्का लगाया पर खाला का बुर बड़ा ही टाईट था, इसलिए लंड अन्दर नहीं घुसा. खाला को दर्द हो रहा था और वो सिस्कारियां लेने लगी थी. वो वर्जिन थी, कसम से बड़ा ही लकी था मैं! मैंने सही एंगल पर एक जोर का धक्का लगाया और मेरा आधा लौड़ा खाला के बुर में जा घुसा. लेकिन उसे बहुत दर्द हुआ और वो अह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह मोहसिन्न्नन्न्न्नन्न कर बैठी. मैं एक मिनिट के लिए रुका और उसे किस करने लगा. एक मिनिट के बाद मैंने फिर से धक्का लगा दिया. अब की मेरा पूरा लौड़ा खाला के बुर में जा घुसा! खाला अह्ह्ह अह्ह्ह ह्म्म्मम्म करने लगी. खाला के बुर इ लंड डालने में मुझे भी बड़ा मजा आ रहा था.

धीर धीरे कर के मैंने भी अपने चोदने की स्पीड को बढ़ा दिया. और खाला को भी मजा आने लगा था. उसकी सिस्कारियां अब कम हो गई थी. और वो आनंद के चीत्कार करने लगी थी. तक़रीबन 15 17 मिनिट तक मैंने खाला को जम के चोदा और फिर अपना माल उसकी बुर में ही छोड़ भी दिया. वो भी मेरे साथ ही झड़ गई और चिपक गई मेरे से. हम दोनों एक दुसरे के साथ ऐसे ही कुछ देर तक चिपक के लेटे रहे.

और फिर मेरी खाला मुझे हाथ पकड के अपने साथ बाथरूम ले गई. वहां पर जब वो मूत रही थी तो उसकी चूत से सर्रर्रर सर्रर्रर का साउंड आ रहा था जो मुझे उत्तेजित कर रहा था.

फिर हम वापस कमरे में आ गए और और खाला ने मुझे फिर से चूमना चालू कर दिया. और मैं खाला के निपल्स सक करने लगा. थोड़ी देर के बाद खाला उठी और उसने मेरे लौड़े को अपने मुहं में भर लिया. वो जैसे चिकन लोलीपोप खा रही हो वैसे मेरे लंड को चूस रही थी. मैंने भी उनके बाल को पकड के अपने लंड को मुहं में खूब हिलाया. कुछ देर में मेरा लंड फिर से चूत मांगने लगा खाला की. और अब की मैंने उन्हें कुतिया बन जाने के लिए कहा. वो अपने घुटनों के बल लेट गई और पीछे से अपनी गांड को उठा दिया उसने. मैंने लंड को सही एंगल से चूत में घुसेड दिया और जोर जोर से चोदने लगा. कमरे के अन्दर फिर से खाला की मादक सिस्कारियां निकल पड़ी. मेरी खाला उस रात को तिन बार मेरे लंड से चुदी और उसे बड़ा मजा आ गया. फिर सबह तक हम लोग चिपक के सो गए. सुबह फ्रेश होने के बाद वो चाय बना रही थी तो मैं किचन में गया. खाला की आँखों में नवेली दुल्हन वाली नजाकत थी जो अपने शोहर से रात भर चुदवाई होती हे!

Pages: 1 2