मुझे दूध वाले ने चोदा

मैं रश्मि शर्मा आप पाठकों के लिए अपनी सच्ची सेक्स कहानी लिख रही हूँ. मजा लीजिये.

मेरी उम्र 32 साल है। मेरी हाईट 5 फुट 5 इंच है तथा फिगर 34-29-36 है।
मेरी शादी को लगभग 1 साल से ऊपर हो गया है। मैं बहुत सेक्सी विचारों वाली की लड़की हूं। शादी के पहले मैं किसी से नहीं चुदी थी लेकिन अपनी चूत में मैंने अपनी फ़िंगर जरूर डाली थी।

मुझे ब्लू फिल्म देखने का बहुत शौक है और ब्लू फिल्म देखने के कारण मुझे लंबे और मोटे लंड बहुत अच्छे लगते हैं। शादी के बाद अपने पति का लंड देखकर मुझे बहुत निराशा हुई। उनका लंड सिर्फ 4 इंच लंबा था और वे मुझे ढंग से चोद भी नहीं पाते थे। महीने में कुछ दिन मेरे पति टूर पर रहते थे और मैं अपनी चूत को सहला कर और बैंगन डाल कर ही काम चलाती थी।

हम लोगों के यहां एक दूध वाला, जिसका नाम संदीप था, रोज सवेरे 5-6 बजे दूध देने आता था। वह बहुत हेंडसम, हंसमुख और मजाकिया स्वभाव का था। वह अक्सर द्विअर्थी संवाद में बातें करता था, जैसे कि दूध डालते वक्त बोलता था- भाभी कितना डाल दूं?
मुझे कहना पड़ता था कि ‘पूरा डालो …’ या ‘आधा ही डालो आज!’

एक दिन सवेरे सवेरे संदीप रोज की अपेक्षा ज्यादा जल्दी दूध देने के लिये आया। मैं उस समय सो कर भी नहीं उठी थी, घंटी की आवाज सुनकर दूध का बर्तन लेकर मैं जल्दी से बाहर आई। मैंने घुटने के ऊपर की एक नाईटी जो फ्रॉक जैसी थी, पहन रखी थी और अंदर मैंने एक छोटी सी पैंटी पहन रखी थी।

जैसे ही मैंने दूध लिया, सवेरे की ठंडी हवा चलने लगी और मेरी फ्रॉक ऊपर उठ गई। दूध वाले को मेरी मरमरी जांघों और पैंटी के दर्शन हो गए। हाथ में दूध का बर्तन होने के कारण मैं फ्रॉक नीचे भी नहीं कर पा रही थी।
अब दूध वाले ने मुस्कुरा कर बोला- भाभी, आज तो आपने मेरी मॉर्निंग गुड कर दी।

मैं शरमा कर अंदर भाग कर आ गई। बाद में मैंने अपनी फ्रॉक को उठा कर खुद को आइने में देखा तब यह अहसास हुआ कि संदीप को क्या दिख गया। इसके बाद मैं जब भी दूध लेने जाती तो लोअर पहन कर के ही जाती थी।

दूध वाला मुझे देखकर हमेशा मुस्कुराने लगता था। अब वो मुझसे ज्यादा खुल गया था और बार-बार द्विअर्थी संवाद बोलता था। वह मुझसे बोलता था- भाभी एक बार मेरा मक्खन टेस्ट करके देखो, बहुत टेस्टी है।
धीरे धीरे मैं भी उसकी तरफ आकर्षित होने लगी थी।

कुछ दिनों के बाद संदीप ने मुझसे बोला- भाभी आजकल आप वह वाला ड्रेस नहीं पहनती है क्या जिसमें मेरी मॉर्निंग गुड हो जाती है?
मैंने मुस्कुराकर के पूछा- उस ड्रैस में ऐसा क्या खास है?
वह हंसकर बोला- भाभी उस ड्रेस में जब मॉर्निंग गुड होती है,तब मुझे केले के चिकने तने के दर्शन होते हैं।
मैं मुस्कुराने लगी; मैंने उससे कहा- जब अगली बार तुम्हारे भैया बाहर जाएंगे, तब पहनकर दिखाऊंगी।

मैंने भी अब मन ही मन ठान लिया था कि इस दूध वाले को पटा लूंगी।

जब मेरे पति बाहर जाने वाले थे उस दिन मैंने संदीप को बोला- भैया कल से आधा ही डालना क्योंकि तुम्हारे भैया बाहर जा रहे हैं।
संदीप ने हंसकर बोला- इसका मतलब है भाभी कि कल आप मेरी मॉर्निंग गुड करोगी।
मैं भी हंसकर बोली- रोज से आधा घंटा पहले आओगे, तभी तुम्हें मॉर्निंग गुड वाली ड्रेस पहन कर दिखाऊंगी।
वह हंसकर चला गया।

मैंने उस दिन ब्यूटी पार्लर जाकर वैक्सिंग वगैरह करवा ली और घर आकर अपनी चूत के आसपास के सारे बाल भी निकाल कर चूत को चिकना कर लिया।
अगले दिन जब वादे के मुताबिक संदीप जल्दी आया तब मैं सिर्फ फ्रॉक पहनकर दूध लेने गई; मैंने अंदर पैंटी नहीं पहनी। मेरा प्लान था कि जब हवा से फ्रॉक ऊपर उड़े, संदीप को मेरी चिकनी चूत दिखाई दे जाये।

मुझे फ्रॉक में देख संदीप खुश हो गया। मैं भी उसे देख कर मुस्कुरा दी।
उसने पूछा- कितना डालूं?
मैंने भी मुस्कुरा कर बोला- आज तो आधा ही डालना।
उसने बर्तन में दूध डाला। हम दोनों 4-5 मिनट इधर-उधर की बातें करते रहे। गली में और कोई भी नहीं था। लेकिन आज कमबख्त हवा ही नहीं चल रही थी।

कुछ मिनट के बाद संदीप बोला- भाभी लगता है कि आज मॉर्निंग गुड नहीं होगी क्योंकि हवा ही नहीं चल रही है।
मैं इस पर हंस कर बोली- अगर हवा नहीं चल रही है, तो तुम खुद ही उठाकर मॉर्निंग गुड कर लो।

मेरा इतना बोलते ही उसने मेरी फ्रॉक ऊपर उठाई। मेरी चिकनी चूत को देखते ही उसकी आंखें फटी की फटी रह गई; वो बोला- भाभी, आज तो कुछ ज्यादा ही मॉर्निंग गुड हो गई। मन कर रहा है एक चुम्मी ले लूं।
मैं मुस्कुराकर के आंखों से उसके लंड की तरफ इशारा करते हुए बोला- तुम भी तो मेरी मॉर्निंग गुड करो।

Pages: 1 2 3 4