मम्मी की प्यासी चूत चोदकर उनका दुःख दूर किया

हेलो दोस्तों कैसे हैं आप लोग? यह कहानी तब की है जब मैं 19 का था मैंने बारहवीं का एग्जाम काफी अच्छे नंबर से पास किया था और मुझे डीयू में एडमिशन मिल गया, क्योंकि मैं फरीदाबाद रहता था. तो मैंने फरीदाबाद से डेली अपडाउन ना कर के वही दिल्ली में एक फ्लैट ले लिया और अकेला रहने लगा, बीच बीच में घर चला जाता था.

एक साल हो गया अब मैं थोड़ा कम घर जाने लगा था यह बोलकर कि यहां बहुत काम है. एक दिन छुट्टियों में मां दिल्ली मेरे फ्लैट पर आ गई मैंने गेट खोला और मोम को देख कर हैरान हो गया, मेरी मॉम ३८ की है लेकिन वह ३० की दिखती है, एकदम गोरी और एकदम लंबे काले बाल हैं. और ब्यूटीफुल ३६-३२-३८ का फिगर है, जब से वह आई थी बस यही देख रहा था, कि मोम इतनी सेक्सी है, जब भी मौका मिलता है मैं मॉम को देखता हूं, उनका भरा हुआ गोरा बदन क्यों आज तक मैंने यह नोटिस नहीं किया, कि मेरे घर में एक अप्सरा है जो मेरी मौम ही है.

loading…
वह सुबह उठती है, घर साफ करती है नहा धोकर ब्रेकफास्ट बनाती है और ऐसे दिन चलता है, क्योंकि मैं एकलोता हु तो में और मोम बहुत क्लोज हैं, एक दिन हम ऐसे ही मूवी देख रहे थे, तो मोम बोली विरेन बेटा तू बहुत ज्यादा शरारती हो रहा है. मैंने कहा मोम क्या हुआ? मोम ने कहा नादान मत बन तेरी नजर एक जगह नहीं रहती इसमें मेरी क्या गलती है? आप हो ही इतनी ब्यूटीफुल.

मोम पर बोली अच्छा मजाक है

में – मोम नहीं, तुम सच में ब्यूटीफुल हो. मेरा बस चले तो मैं आपको दिन भर निहारता रहू.

मोम बोली – थैंक्यू बेटा लेकिन तुम्हारी आंखें किसी और पर रखो मैं तुम्हारी मां हूं.

मैंने कहा – ठीक है, मम्मी जब से यहां आई है बहुत खुश लग रही है, वह मेरे साथ इंजॉय कर रही है, हम पहले से ज्यादा बात करने लगे.

मोम बोली अच्छा किचन का सामान खत्म हो गया कल मार्केट चलना है क्योंकि मुझे निकलना है वापस. अगले दिन में बाजार गया तो मोम सामान खरीद रही थी इतने में मेरा दोस्त आया और बोला यार तेरी गर्लफ्रेंड बहुत अच्छी है, और मॉम ने यह सुन लिया, पर उन्होंने कोई रिएक्शन नहीं दिया. तो मैंने बोला यार जाना अपना काम कर. और वह निकल गया. और फिर घर जाने से पहले मॉम से बोला मॉम कॉफी पीने चलें? तो मोम मुस्कुराई और बोली ठीक है मैं मुस्कुराया फिर हम फ्लैट से पहले कॉफी पीने गए और वहां बातें करने लगे.

मैं – मोम आपने मुझे घर के बारे में नहीं बताया घर पर सब सही है?

मॉम थोड़ा उदास हो गई नहीं बेटा तेरे पापा ज्यादा पीने लग गए हैं और हर बात पर लड़ाई.. मैं तो तंग आ चुकी हूं और थोड़ी नाराज हो गई.

मैं – डोंट वरी मॉम सब सही हो जाएगा.

मॉम – चार पांच साल से यही सोच रही हूं बेटा अब तो तेरे पापा हाथ उठा रहे हैं, मेरे ऊपर और उनकी आंखों से आंसू आ गए. इसलिए तो मैं यहां आई.

मैं – मॉम प्लीज मत रोना, आप मुस्कुराते हुए अच्छे लगते हो. और मैंने उनका हाथ पकड़ा और बोला आप मेरे साथ आ जाओ, मैं बोल दूंगा मैं बीमार हूं पर कॉलेज इंपॉर्टेंट है.

मॉम – देखते हैं बेटा.

मैंने अपनी जेब से फोन निकाला और पापा को फोन लगाने लगा, मॉम बोली किस को कर रहे हो?

इतने में फोन उठा, मैं बोला पापा एक बात है, पापा बोले हां बोलो, मैं बोला पापा मेरी तबीयत खराब है पर कॉलेज जाना जरूरी है, तो मोम मेरे साथ रुक जाए जब तक मैं ठीक नहीं होता, पापा बोले ओके अपना ख्याल रखना.

मैंने फोन काटा और बोला आप मेरे साथ रहे जब तक मैं ठीक नहीं होता, और मुस्कुराया मॉम भी हंसी और बोली पागल.

फिर मोम बोली विरेन वहा अपने दोस्त को कुछ क्यों नहीं कहा? कि मैं तेरी मां हूं. मैं – मां आप को पता है मुझे लाइफ में आपकी जैसी गर्लफ्रेंड नहीं मिल सकती, आप इतनी खूबसूरत हो.

मॉम बोली – कुछ भी मत बोल बेटा, अब कहां सुंदर दिखती हूं, मैं बूढ़ी हो गई हूं.

मैंने मॉम को बोला अच्छा शॉपिंग पर चलते हैं, आप की ड्रेस चेंज करवाते हैं और फिर मैं आपको अपने फ्रेंड से मिलूवाऊंगा गर्लफ्रेंड की तरह से, अगर आपको मेरी गर्लफ्रेंड नहीं माना तो कहना. मोम हसी चल पागल मैंने बील मंगाया फिर उठा और मॉम का हाथ पकड़ कर चलने लगा और मॉम मेरे पीछे-पीछे, मैं मॉम को शॉपिंग पर ले गया और वहां से एक जींस और एक टॉप लिया, और मॉम को ट्रायल रूम में भेजने लगा, तो बोली नहीं बेटा.

मै बोला – मॉम प्लीज, अब तो आप यहीं हो तो वह मान गई और चेंज कर के बाहर कदम रखा मैं तो जैसे हिल ही गया, मॉम ने अपने कंगन उतारा दिए थे, उनके गले में मंगलसूत्र नहीं था, और उन्होंने बाल खोल दिए थे. हम इतनी हॉट लग रही थी पूछो मत.. मैं बस उन्हें ही देख रहा था, वह मेरे पास आई और बोली इतनी भी अच्छी नहीं लग रही..

Pages: 1 2 3 4