मम्मी पापा वाले खेल खेल में चूत चुदाई

यह सुनते ही मैंने उसे बाहों में कस कर पकड़ा और उसके गुलाबी होठों को अपने होठों में डालकर जोर जोर से चूसने लगा. जिसका वह भी साथ दे रही थी. मेरा सपना मानो अभी पूरा होने लगा था, इसलिए मैं उसके ओठो को जोर जोर से चुसे जा रहा था और वह भी मेरा साथ दे कर गर्म होती जा रही थी. हम दोनों की जीभ एक दूसरे से लड़ रही थी और हम एक दूसरे को प्यार से बाहों में जकड़े खड़े थे. अब मोना ने अपना हाथ मेरे लंड पर ले जा कर रख दिया और मुझे खुद से पीछे धक्का देते हुए मेरे सारे कपड़े उतार दिए और मेरे लंड को हाथों में पकड़ कर खुद ही नीचे जमीन में बैठ गई. जब यह सिन मेरे सामने हुआ तो मुझे उस कोपी का सीन याद आ गया और मेरी ख्वाइश पर मुझे भरोसा नहीं हुआ कि जो मैं चाहता था आज वह मेरे सामने था.

फिर मोना ने मेरे सात इंच के लंड को मुंह में भर कर चूसना शुरू कर दिया. उसका मुझे बहुत मजा आया और आता क्यों ना.. यह मेरी जिंदगी का पहला सेक्स था. मोना लंड चूसती रही हो और मैं खड़े खड़े मजा लेता रहा.

अब मैंने उसकी टॉप के ऊपर से बूब्स को हाथों में जकड़ा और हल्के हल्के कर दबाने लगा. जिससे मोना भी गरम होने लगी और मुझे भी बहुत मजा आ रहा था, क्योंकि मैंने अपनी जिंदगी में यह सब पहली बार किया था.

मैंने धीरे से इसकी टॉप उतार दी और ब्रा से ढके हुए बूब्स को निहारता रहा, क्योंकि मैंने अपनी जिंदगी में यह सब पहली बार देखा था इसलिए मैं देखता रहा. और वह भी अब मेरे लंड को मुंह में से निकाल कर मेरे साथ चिपक कर खड़ी हो गई. और मुझे अपने प्यार भरी निगाहों से निहारने लगी थी.

मुझे अब रहा नहीं गया इसलिए मैंने उसकी ब्रा भी उतार दी और उसके गोरे गोरे छोटे बूब को मुंह में भर कर चूसने लगा, जिससे उसके मुह से सिसकिया निकलने लगी और मैं उसके दूध चूसता रहा.

मैंने कहा – मोना मजा आ रहा है?

मोना ने कहा – हां, बहुत बस तुम रुको मत.

मेने सुनते ही उसके निप्पल को मुंह में भरकर दांतों से काट डाला और उसकी स्कर्ट को अपने हाथों से नीचे उतार कर उसकी पैंटी के ऊपर से ही उसकी चूत पर हाथ रख दिया. उसकी फूली फूली हुई और चिकनी पड़ी थी. मैंने उसकी पेंटी उतार डाली और उसे गोदी में भरकर बेड पर ले जाकर लेटा दिया और खुद उसके ऊपर आ गया.

मेरा लंड उसकी जांघ पर लग रहा था और उसके बूब्स मेरी छाती से टकरा रहे थे. यह सब मुझे बहुत अच्छा लग रहा था. मैंने उसे बहुत सारी किस की और उसके हर एक जिस्म को अपनी जीभ से चाटना शुरू कर दिया. फिर मैंने धीरे धीरे उसकी चूत पर पहुंचा जिसमें से बहुत ही अच्छी खुशबू आ रही थी और उसकी चूत थोड़े थोड़े बालों से ढकी हुई थी. मैंने अपनी उंगलियों से उसकी चूत को खोला और उसकी चूत की तस्वीर अपने आँखों में भर ली और उसकी चूत पर अपनी जीभ रख कर चाटने लगा, यह सब करने से मुझे बहुत मजा आ रहा था और मोना को भी बहुत मजा आ रहा था.

अब मेरे लंड को बर्दाश्त नहीं हुआ इसलिए मैं उसके ऊपर आया और चूत के होल पर अपना लंड रख कर उसकी चूत में जोरदार धक्का दिया जिससे उसके मुंह से थोड़ी सी चीख निकल पड़ी पर उसे भी मजा आ रहा था इसलिए वह भी मेरा साथ देने लगी.

यह मेरी जिंदगी का पहला सेक्स अनुभव था इसलिए मेरे लंड ने जल्दी जवाब दे दिया क्योंकि उसकी चूत अंदर से इतनी गर्म थी कि मानो कोई हीटर अंदर चल रहा हो. फिर करीब २ मिनट बाद ही मेरे लंड ने जवाब दिया और हम दोनों का एक साथ पानी निकल गया. और हमने एक दूसरे को बाहों में भर कर प्यार किया और लेटे रहे.

और फिर थोड़ी देर बाद हम उठे और कपड़े पहने और मोना अपने घर चली गई.

हमें जब भी मौका मिलता है हम यह खेल जरूर खेलते हैं.

पर दोस्तों अब हम एक दूसरे के साथ तो नहीं है पर हम दोनों के दिल में एक दूसरे की जगह पर बनी हुई है.

दोस्तों की थी मेरी नई नई जवानी की पहली चुदाई की कहानी जो मैंने आपके साथ शेयर की.

Pages: 1 2