मुंह बोली बहन शालू ने मेरा मोटा लंड देख लिया

muuh boli behen ki chudai ki हेलो दोस्तों यह मेरी पहली कहानी है. अगर कोई गलती हो जाए तो माफ करना. आप सभी चूत वाली बहनों को मेरे लंड का प्रणाम. मेरा नाम लव है और मैं २५ साल का हूं, मैं लखनऊ का रहने वाला हूं. मुझे स्टोरी पढ़ना बहुत पसंद है. यह स्टोरी मेरे पापा के दोस्त की लड़की के साथ की कहानी है, उसका नाम शालू है. और वह एक गांव की है जो शहर में रहकर एमएससी कर रही है. शालू की उमर लगभग २२ साल है और फिगर ३२-२८-३२ है, उसकी हाइट ५ फुट ६ इंच होगी, एकदम गोरी और सुंदर लड़की है. वह बहुत ही सीधी सादी लड़की है, हम दोनों भाई बहन की तरह के बिहेव करते हैं, वो मुझे बहुत मानती है और मैं भी उसे बहुत मानता हूं.

पहले मुझे शालु के बारे में कोई गलत खयाल नहीं था, मैं हमेशा उसे अपनी सगी बहन ही मानता था, हमारा एक दूसरे का घर आना जाना लगा रहता था, बस थोड़ा हंसी मजाक ही हो पाता था. यह बात पिछले रक्षाबंधन की है, वह हमेशा मुझे राखी बांधती है. लेकिन कुछ साल से मैं घर पर नहीं था, तो उसे मिल ना पाया. इस बार में घर पर था. वह मुझे राखी बांधने आई. उसने मरुन कलर की ड्रेस पहनी थी, बहुत सुंदर लग रही थी. फिर उसने मुझे राखी बांधी और मैंने उसे एक हजार गिफ्ट दिए, फिर हम लोग हंसी मजाक कर रहे थे. अभी भी मेरे मन में उसके लिए कोई बुरा ख्याल नहीं था.

फिर हमने लंच किया, उसके बाद मैंने अपने लैपटॉप में कपिल शर्मा का शो देखने लगा. घर में सिर्फ मॉम ही थी, वह मेरे बगल में बैठी हुई थी. अचानक मेरी नजर उसके बूब पर पड़ी. उसकी क्लीवेज साफ नजर आ रहे थे, उसी समय मेरा मन डोल गया और मैं बार बार तिरछी नजर से उसे देखने लगा. शालू ने मुझे उसके बूब्स देखते हुए देख लिए, फिर उसने अपना दुपट्टा सही कर लिया, मैं अपने आप को कोसने लगा. फिर शाम को मुझे उसे छोड़ने जाना था उसके घर. मैंने बाइक से उसे पीछे बैठा कर ले गया, रास्ते में वह मुझे ज्यादा सट के नहीं बैठी थी, लेकिन गाव का कच्चा रास्ता था जिसकी वजह से बार बार उसका बदन मेरे बदन से टच हो रहा था, और मेरा लंड खड़ा हुआ जा रहा था. रास्ते भर उसकी पढ़ाई की ही बात करता रहा.

फिर उसके घर पहुंचा तो उसकी मम्मी ने मुझे चाय ऑफर की और मैं चाय पीने बैठ गया. वह भी मेरे बगल में आकर बैठ गयी, फिर मैंने उससे पूछा कि वह व्हाट्सअप यूज करती है कि नहीं तो उसने कहा कि नहीं, और ना ही फेसबुक यूज करती है, फिर मैंने उसका नंबर ले लिया. मैने घर आकर सबसे पहले उसके नाम की मुठ मारी, मैं अक्सर उसे मैसेज करता लेकिन शालू कभी रिप्लाई नहीं करती, बस कभी कभी मिस कॉल करती तो मैं बात कर लेता, अक्सर रात में ही बात होती थी. तो वह मुझे बार बार भैया कह कर बुलाती, मुझे बहुत बुरा लगता. लेकिन मैं क्या कर सकता था? मैं उसे चोदने की प्लानिंग करता रहता, लेकिन बहुत कम ही मिलना होता था. तो मेरा सपना अधूरा सा रह गया.

फिर एक दिन क्या हुआ मैंने उससे डबल मिनिंग वाला मैसेज कर दिया रात में लगभग ९ बजे तो १० बजे के करीब उसकी कॉल आई और मैसेज के बारे में बोला. और खूब हंसने लगी, मैं भी हंसने लगा लेकिन मेरी तो फटी पड़ी थी की कहीं वह बुरा न मान जाए, लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ.

कुछ दिन बाद वह मेरे घर आई..

उसने पूछा और भैया कैसे हैं आप?

मैंने कहा ठीक हूं, अपना बताओ..

उसने कहा मेरा भी सब ठीक ठाक है, आपको कोई भाभी मिली या नहीं अभी तक?

मैंने कहा नहीं यार तुम ही कोई ढूंढ दो.

शालू ने कहा यार भैया.. आपके लिए कोई अच्छी लड़की चाहिए.. ऐसे कैसे ढूंढ लू? आप बताइए आपको कैसी लड़की चाहिए?

मैंने कहा तुम्हारी तरह सुंदर हो और थोडी पतली हो, क्योंकि मैं भी दुबला हूं.

उसने कहा – क्या मैं आपको मोटी लगती हूं, मैं मोटी नहीं हेल्दी हूं भैया..

मैंने कहा अरे हां वही.. मतलब तुमसे थोड़ा पतली हो.

शालू ने कहा भैया आप का लैपटॉप कहां है? चलिए उसमें कुछ देखते हैं.

मैंने कहा ठीक है कपिल शर्मा शो देखोगी?

सनी लियोन वाला एपिसोड देखा
शालू बोली कि ठीक है फिर मैं और वो अपना लैपटॉप एक साथ बैठकर देखने लगे. उस में सनी लियोन वाला एपिसोड आ रहा था. मैंने उसे पूछा ईसे पहचानती हो? तो कहां सनी है..

मैंने कहा पता है पहले यह किस तरह की मूवी बनाती थी?

उस ने कहा गंदी वाली.

मैंने कहा गंदी वाली नहीं उसे पोर्न कहते हैं.. पागल.

शालू ने कहा हां वही.

मैंने कहा तुमने कभी देखा है पोर्न.

Pages: 1 2 3

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *