ऑफिस वाली की चूत को चोद डाला

हाय फ्रेंड्स, केसे हो आप सब ? मेरा नाम पार्थ है और में अपनी चुदाई का अभुनव आप लोगो के साथ शेयर करना चाहता हूँ | मैं एक प्राइवेट कम्पनी में नौकरी करता हूँ| ये बात करीब दो साल पहले कि है जब में इस कम्पनी में नया था| हमारे डिपार्टमेंट में एक लड़की काम करती थी उसका नाम दिव्यांशी था| देखने मे वो बहुत ही ज्यादा सुन्दर थी| उसकी ऐज 24 थी उस समय | उसका फिगर 28-30-34 इतना सेक्सी फिगर कि मेरा तो लंड ही खड़ा होता जाता देख कर | उसकी हाईट 5 फुट 5 इंच थी और रंग एक दम दूध जैसा गोरा था |वो काफी फ्रेंडली नेचर की थी तो उससे मेरी दोस्ती हो गई थी | हम हर रोज साथ में ही लंच करते थे | में इस शहर में अकेला रहता था तो मैंने एक दिन उसके साथ में डीनर के लिए इनवाईट किया और वो मान गई | वो अपनी फॅमिली के साथ रहती थी | लेकिन मेरे कहने पर वो मान गई थी |

 

उस दिन उसने मुझे अपनी स्कूटी में मेरे घर से ली  और हम साथ में होटल गए और फिर बात करते करते मैंने उसे कहा तुम बहुत सुन्दर हो और तुम्हारी इस खूबसूरती का राज जानना चाहता हूँ | उसने उस दिन घुटने तक का ब्लैक फ्रॉक पहना था | मैंने उसे कहा कि यार तुम मुझे बहुत ज्यादा एटरेक्ट करती है तो वो मुस्कुराने लगी और कहा जूठी तारीफ़ मत किया करो और मैं इतनी भी ज्यादा सुन्दर नहीं हूँ | तो मैने कहा नहीं में जूठ नहीं बोल रहा हूँ सच में तुम मुझे एटरेक्ट करती हो और सच कहूँ तो शायद मै तुम्हे पसंद करने लगा हूँ | मुझे उसकी नीली आँखे बहुत पसंद थी| हम डिनर के बाद गार्डन में घूमने के लिए गए | वो मुझसे पूछने लगी कि मेरी आईज के अलावा और क्या पसंद है तुम्हे ? तो मैंने कहा मुझे तुम्हारे गुलाबी होंठ बह्गुत अच्छे लगते है | उसके होंठ करीब करीब एंजलिना जैसे थे | तो उसने कहा सच में तो मैंने उसे कहा हाँ और तुम्हारा फिगर इतना अच्छा लगता है कि मन करता है सहला दूं | जब तुम चलती हो तो तुम्हारे हिप्स हिलते हुए बहुत मस्त लगते है | वो मुकुराते हुए बोली मुझे भी तुम अच्छे लगते हो और उसने रात को मुझे वापस घर छोड़ कर दिया |

कुछ दिन तो हम दोनों के बीच ऐसे ही समय बीता | फिर एक दिन उसने मुझसे कहा चलो आज फिर साथ में डिनर का प्रोग्राम करते है और मूवी के लिए भी चलेंगे | तो मैंने हां कर दिया और वैसे भी मैं अकेला रहता था,  हम बाहर मूवी देखने के और साथ में डिनर के लिए निकल पड़े | उसने मुझसे कहा कि मूवी तो सिर्फ एक बहाना है | में तुम्हारे साथ सेक्स करना चाहती हूँ | ये सुन कर तो मैं एक दम दंग रह गया| वैसे मैं भी उसे चोदना चाहता था | लेकिन उसने सामने से मुझसे कहा ये बात थोड़ी अजीब थी | मैंने कहा हाँ  मुझे भी तुम्हारी चूत चोदना है तो वो मुझे मेरे अपार्टमेंट में ले आई जहाँ वो रहती थी | हम सीधा उसके बाथरूम में चले गए | उस समय वो बहुत ही हॉर्नी लग रही थी, उसने जल्दी से मेरे कपडे उतारना शुरू कर दी | मैंने भी उसका ब्लैक फ्रोक निकाल दिया क्या लग रही थी वो उसने ब्लैक स्लीव लेस वाली ब्रा और थोंग पहनी हुई थी | वो पहले से ही तैयार हो के आई हुई थी|

 

थोंग में उसके हिप्स बहुत अच्छे दिख थे और हिप्स बड़े होने की वजह से उसकी थोंग एक दम अन्दर चूतड़ में फंस गई थी | हम दोनों एक दुसरे को पेस्नेटली किस कर रहै  थे| मैंने उसका थोंग उपर कर उसकी ब्रा निकाल दी| में उसके हिप्स दोनों हाथो से मसल रहा था| उसके हिप्स बहुत सॉफ्ट काग रहै  थे और वो मेरी पीठ पे अपने हाथ फेर रही थी| अब मैंने उसके ब्राउन निपल्स चूसने लगा और उसके बूब्स दबाने लगा| थोड़ी देर बाद उसने मुझे धक्का दे के बेड पे गिरा दिया| उसने मेरी पेंट और अंडरवियर निकाल दी| वो मेरा 7 इंच का लंड देख कर खुश हो गई | उसकी आईज में अनोखी चमक दिखाई दे रही थी| अब वो मेरे लंड को हाथ में ले कर हिलाने लगी और मुझे सेक्सी स्माइल दी | वो उसे चाटने लगी फिर पूरा मुहं में ले के चूसने की कोशिश कर रही थी| मेरा तना हुआ लंड पूरा उसके मुह मे जा नहीं पा रहा था पर वो उसे फिर भी मुंह में भर कर चूसने लगी तो मेरे मुंह से आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह की सिस्कारियां निकलने लगी |

 

थोड़ी देर चूसने के बाद वो मेरे फेस पे आ कर बैठ गई और मैं उसकी चूत चाटने को लगा तो उसके मुंह से भी आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह  की सिस्कारियां निकलने लगी | मैंने उसे पलटा के लेटा दिया और मैं उसके ऊपर आ कर उसकी चूत चाटने लगा और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह  करते हुए मेरी मुंह पर अपनी चूत रख कर चूत ओको दबा रही थी | बहुत मादक खुशबु आ रही थी | मुझे चूत की खुशबु बहुत पसंद है मैं बहुत उत्तेजित होता जाता हूँ | मैंने दो ऊँगली धीरे से उसकी चूत में डाल दिया और आगे पीछे करने लगा | वो बहुत एक्साईट हो गई थी और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह  करते हुए मजे ले रही थी | मैंने पूरी जीभ चूत में डाल दी और एक ऊँगली उसकी चूतड़ में डाल दिया | वो धीरे से चीखी लेकिन मैंने धीरे धीरे पूरी ऊँगली उसकी चूतड़ में डाल के आगे पीछे करने लगा और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह  करते हुए सिसकियाँ भर रही थी | उसकी चूतड़ बहुत टाईट थे | थोड़ी देर चूत चाटने के बाद मैंने उसकी चूतड़ से ऊँगली निकाल दी| उसने कहा कि पर्स से कंडोम निकाल लो | अब में मेरा लंड उसकी गीली चूत पर रख कर सहलाने लगा लगा| मेरा लंड उसकी चूत के पानी से गीला हो कर चमकने लगा था |

Pages: 1 2