मसाज पार्लर में कस्टमर भाभी की मालिश और चुदाई

हाय दोस्तो, मैं अन्तर्वासना का एक नियमित पाठक हूँ. मेरा नाम अनिकेत है.. मैं भिलाई से हूं. मैं 5 फुट 11 इंच की हाइट का एक बहुत ही गोरा और एथलीट बॉडी का मालिक हूँ. मेरे लंड का साइज भी ख़ास बड़ा है. ये नपा हुआ 6.5 इंच लम्बा और 2.5 के पाइप जितना मोटा है.

मैं एक मिडल क्लास परिवार से हूँ. मुझे पढ़ाई के लिए पैसों की बहुत जरूरत रहती थी, तो मैं कॉलेज में एडमिशन लेते ही एक मसाज पार्लर में जॉब करने पहुंच गया. मेरा अच्छा लुक और बॉडी होने की वजह से मुझे जॉब मिल भी गया.

यह बात अभी सितंबर की ही है, गरबा का सीजन था. एक दिन ऐसे ही मालिक और मैं काम खत्म हो जाने के बाद दुकान बंद कर रहे थे, तो किसी का कॉल आया. मालिक ने कॉल उठाया और 2-3 मिनट बात की.
उन्होंने बात करने के बाद मुझसे कहा कि एक कस्टमर आने वाली है, तो तू रुक जा, मैं घर जा रहा हूँ. तुम काम खत्म होने के बाद पार्लर को बंद करके चाबी घर में देने आ जाना.
मैं- ठीक है.

मुझसे इतना बोलने के बाद वो चले गए और मैं भी कस्टमर का इंतजार करने में लग गया.
लगभग 20 मिनट बाद एक लाल कलर की होंडा सिटी दुकान के बाहर रुकी और उसमें से करीब 28 साल की एक औरत निकली. वो घाघरा पहने हुए क्या कमाल की लग रही थी. उसकी नाभि को देख के ही मैं पागल हो गया, वो थोड़ी सांवली सी थी, लेकिन उसका फिगर देख के कोई भी बंदा मुंठ मारने पर मजबूर हो जाए. उसके 32 इंच के बोबे, 30 इंच की बलखाती कमर और 34 इंच की उभरी हुई गांड.. वाह क्या माल दिख रही थी.

ये सब सोचते तक वो मेरे करीब आ चुकी थी. वो मुझसे बोली- बस देखते ही रहोगे या स्वागत भी करोगे?
मैं हड़बड़ाते हुए बोला- सॉरी मैम, प्लीज अन्दर आइये.
वो अन्दर आके सोफे पे बैठी और मैंने उन्हें रेट लिस्ट और मसाज के टाइप और उनके बारे में बताया. उसने एक महंगी सी मसाज को चुना.

उस बीच मैंने उनका नाम पूछा, तो उसने पहले पूछा- नाम का क्या करोगे?
मैंने बोला- डायरी में लिखना होता है.
तब उसने अपना नाम रोशनी बताया. अब मैं भी तैयारी करने लगा और उसे कपड़े बदलने का बोल दिया.

वो 5 मिनट बाद मसाज के कपड़े पहन कर मेरे पास आयी. आह.. क्या बताऊं क्या माल लग रही थी.. साला मेरा तो मन कर रहा था कि इसको यहीं पटक कर चोद दूँ.

मैंने किसी तरह खुद पर संयम किया और उसको मसाज टेबल पे लेटने को कह कर कपड़े निकालने लगा.

क्या बताऊं यारों साली का क्या फिगर था.. मेरा तो लंड सलामी दे रहा था. मैं आइस मशीन लाया और उसके ऊपर चलाने लगा. उसकी बॉडी की सारी गरमाहट मेरे ऊपर आने लगी. उसके मुँह से भी ‘आहहह..’ की आवाज निकलने लगी. फिर मशीन चलाते चलाते मैं उसके मुँह के पास पहुंच गया. मेरा लंड इस वक्त उसके मुँह के करीब था. उसकी गर्म सांसें मेरे लंड में महसूस हो रही थीं. उसने भी ये चीज नोटिस कर ली थी.

वो हंसने लगी और मेरे बारे में पूछने लगी. मैंने भी अपने बारे में उसको पूरी बात बता दी.
फिर उसने अपने बारे में बताया कि वो हैदराबाद की है, उसके हस्बैंड के जॉब के कारण यहां आयी है.

मैं- आप क्या करती हो?
रोशनी- मैं हाउस वाइफ हूँ.. क्यों?
मैं- आप अपनी बॉडी को इतना मेंटेन रखे हो.. इसलिए पूछा.

कुछ देर उससे सामान्य बातें हुईं. उसने बताया कि अभी तक उनका बच्चा नहीं हुआ है.

मैं धीरे धीरे उसके शरीर की मसाज करता रहा. बीच बीच में मैं उसकी गांड के ऊपर से हाथ फिरा लेता, तो वो सिहर जाती.
वो- तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है क्या?
मैं एकदम से चौंक गया क्योंकि किसी कस्टमर ने आज तक मुझसे ऐसा नहीं पूछा था. हमें ये सब बात करने की परमीशन भी नहीं थी. क्योंकि हमेशा कोई न कोई काम करने वाला या मालिक सामने ही रहते ही थे.

मैंने बताया- मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है.
वो- तभी इतना घूर रहे हो. पहली बार किसी लड़की की मसाज कर रहे हो?
उसकी इस बिंदास भाषा से मैं भी थोड़ा खुल गया और बोला- मसाज तो बहुतों की की है, लेकिन आप में तो अलग ही बात है.
यह बात मैंने आँख मारते हुए कही, तो वो हंस दी. मैंने भी समझ लिया कि हंसी तो फंसी.

अब मैंने उसको सीधा लेटने को बोला. उसके तने हुए दूध देखते ही मेरे लंड में अलग ही पावर आ गया. फिर मैंने आइस मशीन हटा कर उसके बदन पर तेल लगाना चालू किया. मेरे लंड का हाल तो बस पूछो ही मत भाई.. लंड साला पूरा तन गया था. मैंने भी सोच लिया था कि आज इस भाभी को चोदूँगा ही.

मैंने धीरे धीरे हाथ चलाना चालू किया और मैं ठीक उसके मुँह के पास आ गया

Pages: 1 2

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *