पार्टी में मिली हसीन कली को चोदा

दोस्तो, मेरा नाम रॉकी है, मैं दिल्ली का रहने वाला हूँ. मैं आज अपनी पहली सेक्स स्टोरी आप लोगों को बताने जा रहा हूँ कि कैसे मैंने अपने दोस्त की शादी में स्वीटी को पटाया और उसके साथ सेक्स किया.

मेरी उम्र 23 साल है, मेरे दोस्त की शादी दिल्ली में ही थी और मैं अपने दोस्तों के साथ शादी में गया था. वहां काफी देर हम लोगों ने मस्ती की और फिर हम गेस्ट हाउस के अन्दर डीजे पे डांस करने के लिए गए, तो देखा कि वहां पहले से ही एक खूबसूरत लड़की डांस कर रही थी. उसका फिगर 34बी-30-36 का था और उसकी उम्र लगभग 22 साल की थी. उसने काली और क्रीम कलर की साड़ी पहनी हुई थी.

उसे देख कर मेरे दोस्त उसे देख कर आपस में बात करने लगे थे कि मस्त माल है … यार चुदाई के लिए मिल जाए तो सारी रात चोदेंगे.
मैं बोला- मैं इसको तुम्हारी भाभी बनाकर लाता हूँ.
इतना बोल कर मैं भी जाकर डीजे पर डांस करने लगा. डांस करते समय मैंने उसको एक दो बार टच किया, तो वह यह देखकर वहां से चली गई. मैंने सोचा कि अब लड़की गई हाथ से, लेकिन काफी देर बाद वह मुझे कोल्ड ड्रिंक पीते हुए दिखी. मैं भी वहीं जाकर ड्रिंक लेकर पीने लगा और उसको घूरने लगा.

वह काफी देर बाद मुझसे बोली- ओ हैलो मिस्टर … क्या तुम मुझे जानते हो?
मैं बोला- नहीं.
“फिर?”
मैं धीरे से बोला- नहीं जानते हैं … तो अभी जान पहचान कर लेते हैं.
उसने ये सुन लिया और बोली- बताइये आपको क्या जान पहचान करनी है?
मैंने उसका नाम पूछा, तो वो बोली- स्वीटी … और आपका?
मैंने बोला- रॉकी.
“हम्म …”
फिर मैंने पूछा कि आप लड़की वालों की तरफ से हैं या लड़के वालों की तरफ से?
वह बोली- लड़की वालों की तरफ से हूँ और आप?
मैंने बताया.

इस तरह कुछ देर तक हम इधर-उधर की बातें करते रहे.

उसके बाद वह बोली- आप हार्ड ड्रिंक भी करते हैं?
तो मैं बोला- हां … लेकिन यहां तो कहीं नहीं है.
वो चुप रही, तो मैंने कहा- यदि तुमको पीनी है तो मेरे पास मेरी गाड़ी में रखी है.
वह बोली- ठीक है … चलो वहीं पी लेंगें.

हम दोनों अपनी गाड़ी में जाकर बैठ गए. मैंने एक बियर स्वीट को दी और एक बियर मैं पीने लगा. जब हम दोनों ने बियर खत्म कर ली.
तब स्वीटी बोली- एक और मिलेगी?
मैं बोला- हां क्यों नहीं.

उसकी जुबान एक बियर में ही लड़खड़ाने लगी थी और दूसरी भी उसने आधी खत्म कर दी. मैंने भी दो बोतल खत्म कर लीं. अब वह फुल नशे में टुन्न हो गई थी.
मैंने स्वीटी को बोला- यार, तुम मुझे बहुत अच्छी लगने लगी हो.
वो मेरी तरफ देख कर मुस्कुराई और मुझसे बोली- तुम भी मुझे बहुत अच्छे लगने लगे हो जानू.
मैंने उसकी तरफ खिसकते हुए अपने होंठ आगे बढ़ा दिए तो उसने मेरे होंठों पर अपने होंठ रख दिये और किस करने लगी.

पहले तो मैंने सोचा कि क्या यह चालू माल है … साली इतनी जल्दी चुम्मी कर रही है. फिर मैंने भी सोचा अपने को क्या करना साली माल है, तो मजा लो.
मैं भी उसको किस करने लगा और दो मिनट चुम्मी करने के बाद मैंने उसके मम्मों पर हाथ लगाया तो उसने मेरा हाथ अपने मम्मों से हटा दिया.

वो बोली- यह मत करो यार …
मैंने बोला- करने दो न …
वो बोली- नहीं जानू …
मैंने हाथ हटा लिया और उसको अपनी तरफ खींच कर उससे चिपक कर बैठ गया.

कुछ देर बाद मैं उसके मम्मों को फिर से दबाने लगा. इस बार वह कुछ नहीं बोली और मेरे मम्मे दबाने के लिए मान गई. मैंने उसकी साड़ी का पल्लू हटा दिया और मम्मों को पूरी मस्ती से दबाने लगा. वह गर्म होने लगी थी और मुझे बुरी तरह से जकड़े जा रही थी.

मैंने उससे पूछा- स्वीटी, तुम्हें अपने कमरे पे ले चलूँ?
उसने हां में सर हिला दिया. मेरा घर वहां से लगभग 2 किमी की दूरी पर था. मैंने गाड़ी स्टार्ट की और हम दोनों वहां से कमरे पर आ गए.

मैंने कमरे का गेट बन्द किया और स्वीटी को बांहों में भरते हुए उसे बेड पर गिरा दिया. स्वीटी इस समय एकदम मस्त नागिन सी मस्त लग रही थी. मैं भी स्वीटी के ऊपर आ गया और स्वीटी को किस करने लगा. हम दोनों एक दूसरे को फ्रेन्च किस करने लगे.

करीब 15 मिनट तक किस करने के बाद स्वीटी बोली- अब कुछ करो यार … सब्र नहीं हो रहा है.
मैंने स्वीटी का ब्लाउज, साड़ी, पेटीकोट खोल दिया. अब स्वीटी सिर्फ ब्रा और पैंन्टी में थी.
तभी स्वीटी बोली- इनको भी उतार दो न जानू.
मैंने लगभग झपटते हुए उसकी ब्रा और पैन्टी उतार दी और फिर स्वीटी ने भी मेरे कपड़े उतार दिये.

अब हम दोनों एक दूसरे के सामने नंगे थे मैं स्वीटी के मम्मों को चूसने लगा. लगभग दस मिनट तक दोनों मम्मों को मैंने खूब चूसा.
उसके बाद स्वीटी टांगें फैलाते हुए बोली- जानू अब नीचे भी कुछ करो न!

Pages: 1 2