अनोखी कहानी – प्रोफेसर की बेटी का प्यार

हेलो फ्रेंड्स, मेरा नाम आराव फ्रॉम छत्तीसगढ़.मैं बीटेक का स्टूडेंट हूँ एंड यही पर एक कॉलेज से पढ़ाई कर रहा हूँ. आज मैं आपको अपनी स्ट्रेंज स्टोरी सुनाने जा रहा हूँ जो हो सकता है आपलोगो को फेक लगे बट इट ईज़ ट्रू तो अब स्टोरी पे आते है ये बात है तब की जब मैं अपने वॅक्केशन के बीच मे वापस कॉलेज. जा रहा था एनआइटी त्रिचा मेरे रिज़ल्ट आ गए थे और मुझे माइनर ट्रैनिंग करना था मैने काफ़ी प्रोफेसर को ईमेल किया था फाइनली मुझे चेन्नई मे ही एक प्रोफेसर से इन्विटेशन आया. मैं चले गया वाहा ट्रैनिंग एक मंथ की थी तो मैं वाहा रूम ले के पीजी मे रहने लगा. प्रोफेसर की एक बेटी थी तो एकदम माल थी बहुत सेक्सी थी क्या बताउ उसके बूब्स बहुत बड़े थे और कमर पतली और गॅंड भी बड़े एंड गद्दे दार थे ,वो भी ट्रैनिंग कर रही थी अपने पापा के साथ तो हम सब चीज़ साथ मे पढ़ते थे प्रोफेसर के बीवी एक्सपाइर हो चुकी थी

तो घर पे वो और उसकी बेटी स्तुति रहते थे. जब भी मैं उनके घर जाता तो बस उसकी बेटी को ही देखते रहता था उसकी बेटी बहुत मॉडर्न टाइप की थी तो हमेशा शॉर्ट्स और टॉप मे रहती थी टॉप से उसके बूब्स का क्लिवेज देख के ही मेरा खड़ा हो जाता था और उसके जाँघ और गॅंड की तो बात ही अलग है मैं हर बार बहाने से उसके जाँघ छूते रहता था वो भी नोटीस करने लगी थी बट कुछ बोलती नही थी शायद उसे भी अछा लगता था वो भी मूज़े घुरते रहती थी.

वो कभी टाइम पे रेडी नही होती थी हर बार लेट आती थी क्यू की हमारी क्लास उसके घर पे ही लगती थी तो कभी2 मैं पहले आ जाता था और वो नहा के टॉवेल मे निकलती थी और उसका गीला बदन देख के मैं गीला हो जाता था वो पानी का उसके गले से उसके बूब्स के क्लिवेज तक जाना वो उसके गीले बाल वो मेरा लॅंड सलामी देने लगता था मेरा बहुत मन था की ऐसी लड़की एक बार मिल जाए बस एक बार प्रोफेसर क्लास ले रहे थे तो 10 मिनट का ब्रेक मिला था तो हम ऐसी बात करने लगे अब अपन साथ2 पड़ते थे तो आछे दोस्त बन गए थे तो उसने पापा जो पढ़ाते है समझ आता है मैने कहा हाँ आता है तो बोली मुझे कुछ डाउट है बट उनसे पूछना अछा नही लगता तो क्या तुम पढ़ा दोगे जब फ्री होगे तब और मैने कहा की क्यू नही बिल्कुल मेरे मन मे लड्डू फूटने लगे तभी प्रोफेसर आए और बोले की मुझे 2 दिन के लिए अर्जेंट्ली कोलेज के तरफ से बाहर जाना है कोई पेपर प्रेज़ेंटेशन देने तो हमे एक छोटा सा होमवर्क दे दिया

तो मैने और स्तुति ने डिसाइड किया की असाइनमेंट साथ करेंगे 2 दिन मे मैं घर जा के रात भर जाग के होमवर्क पूरा कर दिया और नेक्स्ट डे मैं जल्दी उठ गया और रेडी हो गया और टाइम से पहले ही उसके घर पहुँच गया क्यू की मुझे उसे बाथरूम से बाहर आते देखना था मैं घर जाकर डोर नॉक किया तो वो खुला था मैं जा के बैठ गया और डोर लॉक कर दिया वो बाथरूम मे ही थी मैने कहा मैं आ गया हूँ जल्दी आओ उसने कहा बस 5 मिनट अरी हू. फिर मैं बुक पढ़ने लगा तभी मुझे एहसास हुआ की मेरे कंधे पे पानी गिर रहा है मैं उपर देखा तो स्तुति मेरे पीछे खड़ी थी पूरी गीली टॉवेल ओढ़ के मैने कहा ये क्या है उसने कहा ज़यादा सीधा मत बनो मुझे पता है तुम मुझे लाइक करते हो

तो मैने उसे हग कर लिया और उसने कहा आज से 2 दिन के लिए मैं तुम्हारी हू तूमे जो चाहिए सब मिलेगा आई लव यू उसके गीले बदन से मेरे भी कपड़े गीले हो गए फिर मैं उसको पागलो टाइप किस करने लगा और वो भी पूरा साथ दे रही थी हम इतने मधहोश थे की वही ज़मीन पे ही लेट गए और किस करने लगे

फिर वो पूरी गरम हो गई थी मैने उसके गले पर किस करना स्टार्ट कर दिया फिर गालो पे फिर नीचे आने लगा उसके बूब्स के क्लिवेज पे किस किया फिर जाँघो पे पहुँच गया पूरे बॉडी को किस करने के बाद उसे उठा के बेड रूम ले गया और उसने शरमाते हुए टॉवेल खोल दिया और वो मैं देखते ही रह गया क्या बूब्स थे उसके और उसने ब्लॅक कलर की ब्रा पैंटी पहनी हुई थी मैने भी टीशर्ट उतार के हग कर लिया फिर बूब्स चूसने लगा और दूसरे हाथ से चुत को सहलाने लगा और वो मोन करने लगी आआआआआः ह्म्म्म्ममम म्म्म्मममम हााआअन्न्नननणणन् म्म्म्मम म्म्म्ममम आआआअहह फिर उसने मेरी ज़िप खोल के लॅंड निकाल लिया और हिलाने लगी और नीचे बैठ के चूसने लगी क्या बताउ क्या चूस रही थी वो मैं भी उपर उसके बूब्स दबा रहा था और 10 मिनट बाद मैं उसके मूह मे ही झड़ गया

Pages: 1 2