सहेली की शादी में मेरी चुत चुद गई-1

कुछ देर तक उन दोनों ने बारी बारी से मेरी चूत और गांड मारी. फिर दोनों ने मेरे मुँह में अपना सारा वीर्य छोड़ दिया और मुझे जाने को बोल दिया.

मैं अपने कपड़े पहन कर सीधे अपनी सीट पर आ गयी और उन दोनों के लंड के अहसास को याद करने लगी. दारू पीकर सैंडविच चुदाई करवा के मुझे बहुत मज़ा आया.

मैं कुछ देर बाद सो गयी.

अगले दिन सुबह मेरी ट्रेन पहुंच गई और मैं वहां से सीधे अपनी सहेली शालिनी के घर चली गयी. वहां पहुंच कर मैंने सबसे मुलाक़ात की, कुछ देर बातचीत की और कमरे में जाने के लिए अपनी सहेली से बोली. उसने मुझे अपने कमरे में ही रुकने का कहा. मैं उसके कमरे में जा कर थोड़ा आराम करने लगी … क्योंकि आज शाम की ही शादी थी.

कुछ देर आराम करने के बाद हम सब तैयार होने लगे. मैं अपनी लाल रंग की नेट वाली साड़ी लाई थी, तो मैंने भी नहा-धो कर अपनी तैयारी शुरू कर दी.

मेरी साड़ी का ब्लाउज बहुत छोटा और फिटिंग का था, जो कि स्लीवलैस था. ब्लाउज को बांधने के लिए पीछे से बस एक डोरी थी, बाकी मेरी पूरी पीठ खुली थी. आगे से भी ब्लाउज का भी गला काफ़ी गहरा था, जिसमें मेरे बूब्स पूरे साफ़ नज़र आ रहे थे. चूंकि पीछे से ब्लाउज पूरा खुला था, जिसकी वजह से मैं ब्रा नहीं पहन सकती थी. इधर मैंने साड़ी को पेट से खूब नीचे से बांधी थी, जिससे मेरा पूरा पेट दिखे और नाभि सभी को दिखे. मैंने बालों में जूड़ा बनाया था जिससे पीछे मेरी पीठ बिल्कुल खुली थी. मैं खूब बढ़िया से सज संवर कर तैयार हो गयी.

फिर सभी लोग शादी वाली जगह जाने लगे थे, मैं भी उन्हीं में से किसी रिश्तेदार की एक गाड़ी से शादी की जगह पर आ गई. वहां पहुंचने पर मैंने देखा कि उधर पहले से बहुत भीड़ थी. बारात भी अभी आनी थी, सभी लोग बारात के आने का इन्तजार कर रहे थे.

मैं भी उस भीड़ में शामिल हो गयी और खाना खाने लगी. मैं घूम घूम कर शादी का मज़ा लेने लगी. मैं जहां से भी जाती तो भीड़ ज़्यादा होने के वजह से कभी कोई मेरी गांड टच कर देता, तो कोई दबा देता. यही हाल मेरे मम्मों के साथ भी हो रहा था. सभी मेरी जवानी का मजा लूटने में लगे थे, मैं भी इस सबका मजा ले रही थी.

मैंने कुछ देर बाद एक वेटर को चुपके से अपने पास बुलाया और उससे दारू के लिए पूछा, तो उसने बताया कि वो पीछे चल रही है.

मैंने उसे अपने मम्मों की झलक दिखा कर चुपके से एक पैग लाने को बोला, तो वो मेरे मम्मों पर मोहित होता हुआ मेरे लिए एक गिलास में नीट दारू भर लाया और एक खाली गिलास ले आया.

अब इस मस्त और कामुकता से भरी सेक्स कहानी के अगले भाग में मैं आपको बताऊंगी कि मेरी चुत का भोसड़ा कैसे बना और मैं किस किस से चुदी.

मेरी हॉट सेक्स स्टोरी पर आप मुझे अपने विचार मेल सकते हैं.
धन्यवाद.

Pages: 1 2 3