नशे में चोद दिया ससुर जी ने सोते हुए

Sasur Bahu ki Sex Kahani : मेरा नाम मीरा है। मैं २६ साल की हूँ , मैं बहुत सेक्सी किस्म की औरत हु। पर आज तक मन से चुद नहीं पाई। शादी के दो साल हो गए है। पति फ़ौज में है वो सिर्फ साल में एक महीने के लिए आता है। पर मुझे ज्यादा टाइम नहीं दे पता है क्यों की उसका सेक्स सम्बन्ध अपनी ही सगी बहन के साथ है। वो वह भी मुँह मारते रहता है क्यों की मेरी ननद का पति चोद नहीं पता इसलिए भाई बहन के बिच में जायज वाला नाजायज रिश्ता है। क्यों की मेरी ननद को बच्चा चाहिए और उसका पति दे नहीं सकता।

मन मसोस कर रह जाती हु, चाहती हु खूब चुदुँ , कोई ऐसा मिले की मेरे जिस्म की भूख को शांत कर दे। मेरी चूचियां रगड़े, मेरे गांड में ऊँगली डाले, मेरे चूत में ऊँगली करे और उसके बाद जो चूत से पानी निकले उसको अपने जीभ से चाटे। मेरे जिस्मो से खेले, निप्पल को दांत से काटे और मैं आह आह आह की आवाज निकालूँ। पर ये सब ख्वाब सा ही रहा मेरे लिए।

एक दिन की बात है। ससुर जी रात को करीब १० बजे आये थे। घर में और कोई नहीं रहता है। पति बॉर्डर पर सास है नहीं वो पहले ही चल बसी और ये हैं एकलौते तो मैं घर पर और ससुर जी घर पर। मैं खाना खाकर और नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम पर कहानियां पढ़ते पढ़ते और अपने चूत को सहलाते हुए कब सो गई पता ही नहीं चला। ससुर जी आये और मुझे ऐसे देखा की अर्धनग्न हालत में। उनसे कण्ट्रोल नहीं हुआ। और वो धीरे धीरे मेरे चूत पर हाथ फेरने लगे। फिर मेरे शर्ट का बटन खोल दिया। मेरी चूचियां बाहर आ गई। क्यों की रात को मैं अक्सर ब्रा नहीं पहनती। उसके बाद क्या था मेरे ससुर जी को चूत और चूचियां मिल गई अब तो वो मुझे शायद ही छोड़ने वाले होते। वो भी भूखा क्यों की सास को गए करीब १० साल हो गए थे। वो मेरी चूचियों पर टूट पड़े और मेरी चूत को सहलाने लगे।

मैं जाग गई थी पर अनजान बनते हुए उठ खड़ी हो गई और बोली पिताजी आप ये क्या कर रहे हैं ? आपको पता होनी चाहिए की अपने बहू के साथ ऐसी गन्दी हरकत नहीं करते। वो आगे बढे दूसरे कमरे में गए और १०० रूपये की एक गड्डी लाकर दे दिया और बोले मेरा है कौन सब कुछ तो तेरा है। ये रख और मुझे रोक मत। मैं तुम्हे काफी दिन से देख रहा हु। तू नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम पर कहानियां पढ़ती है और फिर अपने चूचियों को दबाते है और फिर अपने चूत को सहलाती है। तू भी तो परेशान है लंड नहीं मिलने की वजह से। मैं तुम्हारी भावनाओं को समझ रहा हु। फिर मुझे भी मत रोक और तू भी मजे ले और रानी बन कर रह।

मुझे बात जम गई। फिर मैं बोली अगर इनको ये बात पता चल गई तो? तो वो बोले कौन बताएगा उसे ऐसे ही वो साल में एक बार आता है। और वो मेरे करीब आते गए और मुझे अपनी बाहों में ले लिया और कुत्ते की तरह चाटने लगे। मैं भी सेक्स की भूखी थी और मैं भी ससुर जी का लंड लेने के लिए तैयार हो गई। उसके बाद तो शुरू हुआ असली खेल। मैं लेट गई और वो मेरे शर्ट को खोल दिए फिर मेरा घाघरा और फिर पेंटी उतार दी। उसके बाद मेरी बड़ी बड़ी और गोल गोल चूचियों के साथ खेलने लगे। वो पूरी तरह से पागल हो गए थे और मुझे भी पागल कर दिया था। मैं अपने होठ को दांत से दबा रही थी क्यों की उनकी हरकते हि ऐसी थी वो मेरी चूत के बिच जो दाने है उसको जीभ से रगड़ रहे थे मैं पानी पानी हो रही थी। और वो चाट रहे थे। मैं ससुर जी के लंड को हाथ में ली मैं यकीं नहीं कर पा रही थी की इतना बड़ा लौड़ा। पति का तो इससे आधा है। और मोटा और तना हुआ। अब तो मैं पागल हो गई मोटे लौड़े को अपने हाथ में लेके।

फिर क्या था मेरी सिसकियाँ निकलने लगी। आह आह आह आउच उह उह आउच उफ़ उफ़ और तकिये को अपनी मुठ्ठी में लेती होठ दांतो के अंदर दबाती और अंगड़ाई लेती। क्या दोस्तों आपका लंड खड़ा हो रहा है की नहीं। आप कल फिर आइये इस वेबसाइट नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम पर पर फिर हॉट कहानी दूंगी आपको। प्लीज आएयेगा। उसके बाद मैं बोली पिताजी जी अब बस करो जल्दी चोद दो। तो पिताजी बोले मुझे पिताजी मत कहो। मेरा नाम रामखेलावन है रामखेलावन बोलो। मैं बोली ठीक है। तभी वो मेरे चूचियों को चपड़ चपड़ पिने लगा। मैं बोली क्या कर रहे हो रामखेलावन चोदो ना जल्दी प्लीज। वो मुझे गाली देते हुए बोले। मादरचोद अभी तो पूरी रात बाकी है। आज मैं तेरे भोसड़े को भोसड़ा बना दूंगा। आज तेरी गर्मी शांत कर दूंगा। ताकि तू सेक्स कहानियां पढ़ पढ़ कर जो चूत सहलाती है अब सहलाना नहीं पड़ेगा। आज मैं खूब छोडूंगा और गांड भी मारूंगा। तो मैं बोली तुम्हे कौन मना कर रहा है रामखेलावन चोद दे मुझे। और फिर वही हुआ।

Pages: 1 2