आंटी की चूत चाटी और गांड चोदा

मै : ले रांड बहुत खुजली है ना तेरी ईस चूत में अभी ईसका भर्ता बना देता हूँ, और मै जोरजोर से लंड को उसकी चूत में डिपली डाल रहा था….. मेरे हर धक्के के साथ वो सिसकारी भर रही थी। ५-६मिनट बाद मै रुक गया,
आंटी : क्या हुआ मेरी चेन्नई एक्सप्रेस…….????
मैं :कूछ नही मेरी जान मुझे तेरी गांड मारनी है…….
आंटी : अरे नही अभी नही मेरे राजा अभी मेरी चूत प्यासी पहले इसकी भुँख पुरी कर बांद मे गांड दुंगी। और कही भागी थोडी जा रही हूँ।
मैने उसे डोगी स्टाइल मे कर दिया और पीछे से पेलने लगा ऊफफफफ कितना मजा आ रहा था दोस्तों मै बयाँ नही कर सकता, मै तो जैसे जन्नत का सुख भोग रहा था दोस्तों । आंटी आपकी तो काफी टाइट है अंकल चोदते नही है क्या…..
आंटी :अरे नही रोहन वो तो रोज चोदते है, लेकिन उनका लंड बहुत छोटा है,ईसी वजह से मै सँटिस्फाय नही हो पाती, तेरे लंड मे बहुत दम है, और ये काफी मोटा भी हैं।
बातों के साथ मेरे धक्के भी बड रहे थे, और ऐसे अश्लीश संवाद से चुदाई का मजा दुगुना हो रहा था।
मे झडने वाला था, मैने आंटी पूछाँ आंटी मेरा होने वाला है,
आंटी : कोई बात नही रोहित मेरा आपरेशन हो गया है, अंदर ही डाल दो अपने अम्रीत को,
और मै जोर से झड गया,, आआआआआहहहहहक्ष
हम दोनों की सासे बड गयी थी आंटी बहुत मुस्कुरा रही थी,
क्या हुआ आंटी,
आंटी : अब आंटी बोलना छोड़ भी मुझे नाम से पुकारा करो, और वैसे भी ये तो शुरुआत है आगे देखो क्या क्या होता हैं।
मै : अच्छा मेरी चुदक्कड छाया ये भी तो ट्रेलर है आगे देख तेरी गांड का कैसे कुआ बनाता हूँ। अपने पास तिन दिन है इनदिनो मै मे तेरी चूत और गांड की हालत कैसे खराब करता हूँ।
बाद मे मैने आंटी को कहाँ कहाँ और कैसे चोदा बाद में मैने आंटी को बीअर पिलाके कैसे चोदा ये आप लोगों को अगली कहानी मै लिखुंगा।

मेरी कहानी आपको कैसी लगी प्लिज दोस्तों मेल जरूर किजिऐगा।
धन्यवाद

Pages: 1 2