मेरी माँ शादी में दो भाइयों से रंडी की तरह चुदी

shadi mai maa ki samukhik chudai मेरी माँ का नाम नीलू हे और उसकी उम्र 39 साल हे. उसका रंग गोरा हे और माँ का फिगर 42 38 44 जितना होगा करीब करीब. माँ थोड़ी मोटी और हेल्धी हे और उसका बदन एकदम गरदाया हुआ हे. हमारे मोहल्ले के लडको से ले के बूढ़े रतक सब माँ को लाइन मारते हे और उसके मटकती हुई गांड के ऊपर कमेन्ट करते हे. वैसे माँ के सामने कोई कमेन्ट करे तो वो कभी गुस्सा नहीं करती थी. ऊपर से उसे तो जैसे उसमे मजा आता था. क्यूंकि वो ऐसे में स्माइल करती थी गुस्से की जगह पर. शायद माँ इतराती थी की मैं बड़ी हॉट हूँ!

3 महीने पहले की बात हे, मेरी कजिन बहन की शादी थी. तो हमें उसकी शादी में जाना था. पापा नहीं जा पाए क्यूंकि उन्हें अपनी ऑफिस में कुछ काम था. मई और माँ ही इस शादी के लिए गए थे.शादी के दीन हमलोग पहुँच गए. रात को सब ने अच्छे अच्छे कपडे पहने. मैंने जब माँ को देखा तो देखता ही रह गया. वो ब्ल्यू कलर की साडी पहने हुए थी. उसका ब्लाउज स्लीवलेस था जिसके अन्दर से उसका क्लीवेज एकदम साफ़ दिखाई दे रहा था. और साथ ही माँ के कर्व्स भी दिख रहे थे.

रात 11 बजे बारात आई और सब लोग बारातियों के साथ डांस करने लगे. मेरी मोम भी अपनी गांड को मटकाते हुए नाच रही थी. मैंने देखा की बारात में आये हुए दो लड़के माँ को घुर रहे थे. और जब वो साइड में खड़े थे तो मैंने उनकी बात भी सुनी. एक ने कहा, साली ये आंटी अगर अपनी बुर दे दे तो मैं कसम से पूरी रात इसे चोदुंगा. दूसरा बोला, क्या मस्त गांड और चुचिया हे साली की, कसम से लंड तो मेरा भी खड़ा हो गया हे भाई! पहले वाले ने कहा, चलो न उसके साथ बात तो करें. और वो लोग जाकर माँ के साथ डांस करने लगे. मैंने देखा की वो भीड़ का फायदा उठाकर मम्मी की गान्न्द को दबा रहे थे. और सालें बिच बिच में उनकी चुन्ची पर भी हाथ रख देते थे. फिर द्न्नो ने माँ को हाई बोला. मम्मी ने भी सर हला के और मुहं से उनकी हाई का जवाब दिया. फिर उनमें से एक ने माँ को उसका नाम पूछा.

तो मेरी मम्मी ने बड़ी ही स्टायल से कहा, आई एम् नीलू.

लडको में से पहले ने कहा, मैं रोकी और दुसरे की तरफ हाथ कर के उसने कहा ये मोंटी हे. मोम ने कहा जिस लड़की की शादी हे मैं उसकी चाची हूँ. तो लडको ने कहा हमारे भाई की ही शादी हो रही हे आप की भतीजी के साथ में. मम्मी ने कहा फिर तो आप लोगों की सही तरह से खातिरदारी करनी पड़ेगी. और ये कह के माँ ने आँख मार दी.

रोकी ने कहा, क्यूँ नहीं नीलू चाची. माँ ने कहा, प्लीज़ डोंट कॉल में चाची और आंटी! मुझे सिर्फ नीलू कहो ना!

रोकी और मोंटी दोनों समझ गए की माँ किस खेत की मुली हे. वो दोनों जान चुके थे की मम्मी रंडी ही हे और उसके भी चुदने के खवाब थे. साले अब वो दोनों मेरी माँ के साथ चिपक के बड़ी ही मस्ती से डांस कर रहे थे. माँ भी दोनों के बिच में किसी बार गर्ल की तरह ठुमके लगा रही थी. और लौंडे मम्मी की गांड को अब जानबूझ के पकड़ लेते थे. और वो लोगो ने शराब पी रखी थी शायद इसलिए होश भी कम ही था दोनों को.

मैंने सोचा की सालों को जा के कहूँ की जरा साइड में हो के डांस करो. फिर मैंने सोचा की दुल्हे के भाई हे इसलिए क्या कह सकते हे उन्हें, शादी में कुछ प्रॉब्लम हुई तो डांट मिलेगी. वो लोग मम्मी को बोले, नीलू आप बड़ी खुबसूरत हो तो माँ ने नाचते हुए कहा थेंक यु!

दोनों लड़के भी 6 फिट लम्बे और डोले शोले वाले थे. माँ ने कहा तुम लोग भी हेंडसम हो दोनों. मैंने देखा की रोकी बिच बिच में माँ की एस को दबाये जा रहा था और मोंटी चुन्चियों के ऊपर हाथ फेर देता था. थोड़ी हीदेर में बारात घर के दरवाजे पर आ गई. सब ने बारातियों का स्वागत किया. रोकी और मोंटी माँ के साथ में थे और मेरी रंडी मम्मी उनके स्वागत में कुछ एक्स्ट्रा ही बीजी लग रही थी. और वो दोनों साले मेरी माँ की तारीफ़ पर तारीफ़ किये जा रहे थे. मोम हंस रही थी. सब लोग शादी में बीजी हो गए थे अचानक मुझे याद आया की मोम कही दिखाई नहीं दे रही थी. और रोकी और मोंटी भी वहा पर नहीं थे. मैंने उन तीनो को खोजना चालू कर दिया. कुछ देर बाद तो मुझे घर के पीछे मिले. वहा पर थोडा अँधेरा सा था. जैसे ही उन्होंने मुझे देखा तो थोडा खीचक से गए. माँ की लिपस्टिक और बाल बिगड़ गए थे. और रोकी के होंठो पर माँ के लिपस्टिक के रंग का छोटा सा निशान देखा मैंने. मैंने कहा तुम लोग यहाँ क्या कर रहे हो? माँ ने बात बदलते हुए कहा, ये लोग दुल्हे के भाई हे बेटा मैं इन्हें चाचा जी का घर दिखा रही थी. और फिर उसने कहा चलो अन्दर मुहर्त हो गया हे.

Pages: 1 2 3