सुहागरात को दुल्हन की गांड में डिल्डो

मेरा नाम नीलेश (बदला हुआ) है. मेरी उम्र 22 साल है. मेरी बीवी प्रियंका, बहुत ही हॉट है. उसकी उम्र 21 साल है और रंग गेहुंआ है. उसकी फिगर के बारे में बात करूँ तो 35-26-37 है. मेरी बीवी को अगर मैं मस्त माल कहूँ तो कोई हैरानी नहीं होगी.

अब मैं अपनी कहानी पर आता हूँ. हमारी शादी नवम्बर 2017 में हुई और हम दोनों ने लव मैरिज की थी.

वैसे तो हमने शादी से पहले ही बहुत बार सेक्स किया था लेकिन मेरा बहुत मन करता था कि मैं प्रियंका को एक साथ दो लंड का मजा दूँ. लेकिन यह सब संभव नहीं था. प्रियंका कभी किसी और से चुदने के लिए तैयार ही नहीं हुई. मैं भी कभी सीधे मुंह उससे इस तरह की बात नहीं कर पाया. फिर एक दिन मैंने उससे कह ही दिया कि मैं तुम्हारी गांड और चूत में एक साथ लंड देखना चाहता हूँ. मेरी बात सुनकर वह नाराज़ हो गई. नाराज़ होकर मुझसे झगड़ा कर बैठी.
मैंने अपनी गर्लफ्रेंड (अब बीवी) को सॉरी कहा और वह 2-3 दिन में मान भी गयी. अब मैंने जैसे-तैसे करके उसको डिल्डो (नकली लंड) लेने के लिए मना लिया. पहले तो वह मना करने लगी फिर मैंने उसको प्यार से डिल्डो लेने के लिए मना ही लिया. ये सब बातें शादी से पहले की ही हैं.

प्रियंका ने मेरे सामने शर्त ऱखी थी कि अगर मैं उसके साथ यह सब करना चाहता हूँ तो मुझे शादी के बाद ही करना होगा. मैं भी मान गया क्योंकि उसको खुश रखना भी बहुत ज़रूरी था. फिर जब हमारी शादी हुई तो हमने सुहागरात वाले दिन ही डिल्डो का प्रयोग करने का प्लान बना लिया.

जब मैं सुहागरात के समय अंदर अपने कमरे में गया तो मेरी नयी-नवेली बीवी प्रियंका पहले से ही अपने कपड़े बदल कर तैयार बैठी थी. उसने शादी वाला सुहागन का जोड़ा उतार दिया था. उसने अपने बदन पर एक भी आभूषण नहीं छोड़ा था.
जब मैंने उसे देखा तो वह केवल एक नाइटी में ही बैठी हुई थी. मुझे लग रहा था कि उसको भी कुछ नया ट्राय करने की उतनी ही जल्दी थी जितनी की मुझे. इसलिए वह सारी तैयारी पहले से ही करके बैठी थी क्योंकि उसको आज दो लंड एक साथ लेने थे. एक मेरा असली लंड और एक नकली लंड.

जब मैं अंदर गया तो मैंने उससे कहा- क्या जान, इतनी भी क्या जल्दी है जो तुमने अपने कपड़े भी बदल लिये?
उसने कहा- बहुत टाइम से चुदी नहीं हूं नीलेश, और आज तो वैसे भी मुझे दो लंड के साथ चुदना है. जब तुम्हारे लंड से चुदकर इतना मज़ा आता है तो 2 लंड के साथ चुदने के मज़े के बारे में सोचकर मुझसे रहा ही नहीं गया इसलिए मैं सारी तैयारी पहले से ही करके बैठी हूँ.
मैंने कहा- तो डिल्डो ही लेना है या किसी और का लंड भी लेना है.
मेरी यह बात सुनकर एक बार तो वह थोड़ी गुस्सा हो गई लेकिन फिर जल्दी ही मान भी गई.

वह बोली- ठीक है, लेकिन आज नहीं, अगर हनीमून पर तुम मुझे किसी और से चुदवाना चाहते हो तो मैं तैयार हूँ। लेकिन उस दिन तुम मुझे नहीं चोदोगे. तुम बस मुझे किसी और से चुदते हुए देख सकते हो. जब दो लड़के मुझे चोदेंगे तो तुम बस दूर से देखना. अगर मंज़ूर है तो बताओ?
मैंने भी तुरंत हां कर दी.

उसके मुंह से ऐसी सेक्सी बातें सुनकर मेरा लंड भी खड़ा होना शुरू हो गया था. फिर मैंने उसके होठों को चूसना शुरू कर दिया. मैंने उसकी गर्दन पर किस किया. उसको बाहों में भरकर यहां-वहां चूमने चाटने लगा. फिर मैंने उसकी नाइट ड्रेस को भी निकाल दिया.

अब वह केवल अपनी लाल रंग की ब्रा और पैंटी में मेरे सामने थी. ऐसी ब्रा और पैंटी उसने पहले कभी नहीं पहनी थी. वह थॉन्ग (अंडरगार्मेंट का एक प्रकार)वाली पैंटी थी जिसकी पीछे वाली पट्टी गांड में घुस जाती है. उसे ऐसी पैंटी में देखकर मुझसे रहा नहीं गया और मैंने उसकी ब्रा को फाड़ कर फेंक दिया. उसके बूब्स को अपने दोनों हाथों में लेकर चूसने लगा. वह कामुक होकर सिसकारियाँ भरने लगी.
वह बोली- प्लीज़ नीलेश … अब तड़पाओ मत और मेरी चूत में कुछ डाल दो … मुझसे रहा नहीं जा रहा है अब.
मैंने कहा- जान, कंट्रोल करो, अभी तो पूरी रात चुदाई होनी है तुम्हारी.

उसके बाद मैं उसके पेट पर किस करते हुए नीचे की तरफ आ गया और उसकी चूत पर चूम लिया. मैंने उसकी चूत को चाटना शुरू कर दिया और 15 मिनट तक चाटता ही रहा. वह मुझसे लंड डालने के लिए कहती रही लेकिन मैं उसको तड़पा रहा था. जब उससे कंट्रोल नहीं हुआ तो वह झड़ गई. मैंने उसकी चूत को एक कपड़े से साफ किया.

और तब मैंने डिल्डो निकाल कर प्रियंका को दिखाया. जब उसने डिल्डो देखा तो वह डर गई. मैंने जो डिल्डो मंगवाया था वह 9 इंच लंबा और 3 इंच मोटा था. वह उसको देखकर घबरा गई.
बोली- यह मेरी चूत के अंदर कैसे जाएगा, यह तो मेरी चूत को फाड़ ही देगा.
मैंने कहा- तुम डरो नहीं जान, बस एक बार दर्द होगा उसके बाद तुम्हें मज़ा आने लगेगा.

Pages: 1 2 3