मैने ताला चाभी वाले उस्मान से चुदाई की

मैं एक खानदानी घरसे तालुक रखती हू मेरे पति का नाम मनु है मैं हटटी कटी गोरी खूबसूरत जवान सेक्सी करीब तीस की हू मेरे पति बिज़्नेसमॅन है दुबले पतले बच्चे बच्चे जैसे छोटे, उनका लंड भी छोटा पतला पर आख़िर वे मेरे पति है सब ठीक चल रहा था मेरी एक लड़की 7 साल की लड़का 9 साल का दोनो मामा के घर गये थे कभी कभी हमारे दरवाज़ा की चावी काम नही करती तो उन्होने चाबी वाले को बुलाया उस्मान नाम था उसका वैसे मैं उसे रोज देखती

जब जब मैं बाज़ार जाती वो मुझे घुरता रहता जवान मस्त तगड़ा हंडसॅम मैं भी कभी कभी उसे देखती वो मेरी गॅंड देखता मुझे सेक्सी नज़रोसे देखता मैं कुछ बोलती नही क्योंकि हम खानदानी लोग थे और वो आया दरवाज़ा पर मेरे पति थे तब भी वो अंदर जानके भी मुझे देख रहा था पति बोला देख तो यह चाबी काम नही करती है उसने चाबी हाथ मे ली और एक हातमे टाला पकड़के मुझे देखके बोला क्या मस्त टाला है मैं समझ गयी सला मुझे देखके बोल रहा है मैने एक बार उसके तरफ देखा उसने चाबी हातमे लेके बोला क्या साहब यह चाबी कितनी पतली और छोटी है

मैं समझ गयी साला जानबूझके मुझे सुना रहा है मैं भी पति के पीछे ही खड़ी थी उसे देख रही थी पति बोला कभी कभी काम करती है पर अब टेढ़ी भी हुवी है उस्मान बोला ऐसे तालेको मस्त जाड़ी लंबी चाबी चाहिए ऐसी पतली नही चलेगी मैं उस्मान को देखके अहिस्तेसे हस पड़ी उस्मान मुझे देख रहा था पति उसकी दोहरी बात समझ नही पा रहे थे पर वो बहोत चालू था पति बोला तो ठीक है तू बना उस्मान बोला पहले मेरी चाबी ढुंदके देखता हू पति बोला देखो और उस्मान ने एक चाबी अंदर ढुंदके निकाली और मेरे तरफ देखके बोला मस्त टाला है तो मैं शर्मा गयी वो बोला ठीक है

मैं दोपहरको आके बना लूँगा एकदम ताले के फिट वाली चाबी पति बोला ठीक है अछी बानादो वो बोला आप चिंता नही करो बार बार डालके देखूँगा वो जाते जाते मुझे देखने लगा मैं मुस्कुराने लगी बाद मे पति भी चले गये मैं उसके बारेमे सोचने लगी साला बहोत हरामी है कैसी कैसी बाते कर रहा था कैसा कैसा मुझे घूर घूर के देख रहा था लूँगी और एल्लो कलर की गॅंजी एकदम हीरो लगता है साले मे कितनी ताक़त होगी और दोपहर को वो आया मैं झटसे बाहर आई वो मुझे देखने लगा मैने उसको बोली बनाई वो बोला भाभी डालके दिखाऊ क्या मैं समझ गयी आख़िर मेरे पातिने बोला हैं ना डालके दिखाने को तो दिखाव वो बोला भाभी यह तालेको ऐसी मस्त चाबी की ज़रूरत है दुबली पतली नही चलेगी मेरी चाबी एकदम फिट बैठेगी वो मुझे घूर घुरके देखके बोल रहा था

अब मैं भी अंदरसे गरम हुवी थी घरमे भी कोई नही था मैने देखा लूंगिसे उसका लंड भी उभरा हुवा था मैं समझ गयी साला मुझे छुना चाहता है बहोत ही सेक्सी नज़र्से देख रहा था और वो ताले मे चाबी डालने लगा मुझे देखने लगा मैं भी उसे देखने लगी और बोली क्या हुवा चाबी जा नही रही है अब दोनोमे आग लगी थी वो बोला थोड़ा तेल लगाना पड़ेगा दोनोंकि नज़रोमे विकार था मैं बोली लेके आती हू और जैसेही अंदर जाने लगी वो भी अंदर डाला और उसने दरवाज़ा बंद किया मैं वही खड़ी खड़ी उसे देखती रही वो आगे बढ़ा एकदम मेरे सामने एक फीट पर खड़ा रहा मेरी नज़र मे नज़र मिलाके और मेरी चुत की तरफ देखके बोला क्या मस्त टाला है मैं बोली चाबी डालके देखो तो उसने तुरंत एक हाथ मेरे सारि मे चुतपर डाला मैं हाहः हहहाः करने लगी

तो उसने दूसरा हाथ मेरी कमर मे डाला और मेरे तन बदन मे आग लगी थी मैने विरोध नही किया मैं आहे भरने लगी हहहहः उसने झट से एक हात से मेरी सारी उपर उठाई और जैसेही उसने खड़े खड़े चुतमे उंगली डाली मैं हाहहहहा व्हीईईईई व्हीई उूुुुुुुुउउ करने लगी ज़ाटपटाने लगी और मैने आँखे बंद की अब उसने मुझे बाहोमे लिया और कान मे आहिस्ते बोला चाबी नही पकड़ेगी एक सामान्या आदमिकी इतनी हिम्मत की उसने मेरे जैसे करोर पति औरत को पटाया मैने हाथ आगे बढ़ाई और उसका लूँगी के उपेर्से लंड दबाया वो मुझे किस करने लगा और एक हात्से ज़ोर से वो चुत छेड़ने लगा मैं उसका लंड ज़ोर ज़ोर्से मुठ्ठी मे लेके दबाने लगी उसने झट से अपनी लूँगी गिराई और हाथ मे लंड दिया मैं पागल हुवी थी ऐसा मोटा लंबा हाथ मे लेके वो बूब्स दबाने लगा

मैं हहहहहहहहावओववववव ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़ अर्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्ररर फफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफ्फ़ अर्र्र्र्रररा ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़ करती रही उसने ब्लाउस के सारे हुक खोले और बूब्स मूह मे लेके चूसने लगा मैं मन ही मन बोलने लगी खूब चूस और लंड मुठ्ठी पकड़के आगे पीछे करने लगी वो बोला भाभी यह चाबी तेरे ताले के लिए फिट बैठेंगी ना मैं हहहहा हहहहः करते करते बोली मेरे तालेके लिए इसी चाबी की ज़रूरत है मैं जैसा ही यह हिम्मत से बोली उसने मेरी सारी खीची और पेटीकोटे की नाड़ी मैं शरामाके उसे कसाके दबाके पकड़ी तो वो मेरे गालो पर पप्पी लेने लगा किस करने लगा और बोला आँखे खोलिए ना मेरा लंड भी तो देखो आख़िर मैने आँखे खोली और उसके लंड को देखती रही तो उसने मेरा अंडरवेर खिछा और बोला भाभी ब्लाउस भी निकालिए ना

Pages: 1 2