टैक्सी ड्राईवर को मिली सेक्सी गर्म चूत

हैलो फ्रेंड्स, मेरा नाम बंटी है, ये मेरा शॉर्ट नाम है. वैसे तो मेरी जिन्दगी में बहुत सी घटना हुई हैं.. लेकिन ये अभी 15 रोज़ पहले ही हुई एक सत्य घटना की है.

मैं आपको पहले मेरे बारे में बताता हूँ. मैं एक टूर वाली टैक्सी का ड्राइवर हूँ, मेरी उम्र 25 साल है. मैं हमेशा टूर पर रहता हूँ. मेरी पर्सनल टैक्सी इनोवा है. मुझे एक एजेंसी के जरिए एक टूर का काम मिला, जिसमें एक पंजाबी पार्टी थी. उनका 13 दिन का राजस्थान का टूर था. मैंने उनको पहले दिन जयपुर से पिक किया था. उस फैमिली में हज़्बेंड और वाइफ, उनके साथ उनका एक लड़का, जो करीब 15 साल का था और एक लड़की थी, जो करीब 19 साल की थी. ये फैमिली बहुत ही रिच थी.

जब एयरपोर्ट पर मैंने उस लड़की को देखा तो देखता रह गया. वो बहुत ही सुंदर और कंटीले फिगर वाली लौंडिया थी. उसका रंग एकदम गोरा था और वो एक मस्त माल लग रही थी. मैं बार बार उसे देख रहा था.

मैंने एक दिन उन सभी को जयपुर घुमाया.. फिर शाम को होटल आ गए. वो मेरे से पूरे दिन हँस कर बात करती रही थी. उस दिन उसने शॉर्ट फ्रॉक पहनी हुई थी, जिसकी वजह से उसकी चिकनी टांगें पूरी साफ़ दिख रही थीं.

शाम को मैंने उनको होटल ड्रॉप किया. मैं उनको छोड़ कर अपने कमरे में आ गया. मुझे रात भर उसके ही सपने आए. मुझे सेक्स चढ़ रहा था तो मैंने उसे इमेजिंग करके दो बार मुठ भी मारी. अगले दिन भी मैंने उनको जयपुर घुमाया.

आज वो मेरे साथ फ्रंट सीट पर बैठ गई थी. वो मुझे देख कर मुस्करा रही थी. मैं भी उसे एक हल्की सी स्माइल दे देता था. आज दिन भर उसके साथ रहने से मुझे बड़ा मजा आया.

फिर नाइट में उनको होटल में ड्रॉप किया, तो उस लड़की ने मुझे रोक कर बोला कि मुझे आपसे टूर के बारे में बात करनी है. आप मेरे साथ बैठो.

मैं रुक गया. उसके मम्मी और पापा रूम में चले गए. तब टूर की बातों के साथ उसने मेरे बारे में भी पूछा और कुछ अपने बारे में बताया. मैं तो बस उसको ही देखे जा रहा था.

अब आप सब जानते ही हो कि पंजाब की लड़कियां कितनी मस्त माल होती हैं. उनकी गदराई जवानी को हर कोई देखता रह जाता है.

फिर मैंने उससे होटल से जाने की बात कही और मैं जाने लगा.
तभी उसने कहा- आप कहां सोते हो?
तो मैंने कहा- होटल में ड्राइवर रूम है, वहां रुकता हूँ.
वो ओके कह कर चली गयी.

तीसरे दिन मैं उनको मॉर्निंग 6 बजे होटल से लेकर उदयपुर के लिए निकला. आज भी वो मेरे पास बैठी थी और उसकी फैमिली पीछे थी. रास्ता लंबा था तो बाकी सब सो गए, वो और मैं बात कर रहे थे. आज वो बिल्कुल ही फ्रेंक हो गयी थी, मुझसे खुल के बात कर रही थी.

लम्बी दूरी तय करके हम लोग उदयपुर पहुँच गए. वे लोग पहले से बुक किए हुए एक होटल में रुके. वो सब रूम में चले गए, मैं गाड़ी में बैठा रहा.

दोपहर के दो बज रहे थे. वो लड़की कुछ देर बाद आई और बोली- चलो हम दोनों ही चलते हैं, वो सब आराम कर रहे हैं.

मैंने गाड़ी स्टार्ट की और निकल पड़े. वो मुझे अपनी लाइफ के बारे में बताने लगी. कुछ देर बाद हम दोनों पिचोला लेक पहुंच गए और उधर पर बैठ कर बातें करने लगे.

फिर मैं उसके लिए आइसक्रीम लाया, तो वो खुश हो गई. अब उसने मेरे बारे में बात करना शुरू कर दी, वो पर्सनल बातें कर रही थी.

हम दोनों 7 बजे होटल आ गए. वो रूम में चली गयी, मैं भी फ्रेश होके अपनी गाड़ी में आ गया.

मैंने बैग से अपनी व्हिस्की की बॉटल निकाली और पैग बनाने लगा. मैंने गाड़ी में बैठ कर ड्रिंक चालू कर दी. दो पैग ही लिए थे.. हल्का नशा हो गया था. वैसे मुझे दारू का नशा चढ़ता नहीं है.

तभी वो मेरे पास आई और बोली कि इधर मेरा मन नहीं लग रहा है, मुझे कहीं बाहर ले चलो.

ये बोलते बोलते उसकी नज़र मेरे हाथ में व्हिस्की के पैग पर चली गई. मैं थोड़ा डर गया.

फिर कुछ 5 मिनट चुप रहने के बाद वो चुपचाप गाड़ी में बैठ गयी और बोली- अकेले अकेले ही मजा ले रहे थे.

उसके मुँह से ये सुनने के बाद मेरी जान में जान आई. मुझे लगा कि वो मेरी कंप्लेंट कर देगी, लेकिन उसने ऐसा नहीं किया.
अब मैंने उससे पूछा- क्या आप भी ड्रिंक करना पसंद करेंगी?
तो उसने हां बोल दी.

फिर मैंने पूछा- आप कौन सी ब्रांड पसंद करती हैं?
तो उसने कहा- जो आप ले रहे हो, वो ही ले लूँगी.
इतना अमीर होने के बाद भी वो बिल्कुल देसी सी लड़की थी.

मैंने कहा- तो बनाऊं?
उसने बोला कि यहां नहीं.. यहां तो सब गाड़ी वाले और होटल वाले देख लेंगे, हम कहीं और चलते हैं.
मैंने कहा- ओके.

Pages: 1 2 3

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *