टीचर आंटी को जाम कर चोदा

हाय, मेरा नाम सॅम है और मैं चंडीगर मे रहता हूँ और ये जो कहानी मैं आप लोगो को बताने जा रहा हूँ वो 3 साल पुरानी है, तब मैं 12थ मे था और मेरी उमर उस वक्त 18 साल थी और अब मैं बी.टेक कर रहा हूँ, मैं चंडीगर मे अपने पेरेंट्स के साथ रहता था और मैं साइन्स मे थोड़ा वीक था और ख़ास करके बायलॉजी मे पर हमारे पड़ोस मे एक फॅमिली रहती थी जिसमे अंकल, आंटी और उनका 8 साल का बेटा था और आंटी साइन्स की टीचर रह चुकी थी पर अब अंकल उन्हे जॉब नही करने देते थे जिस वजा से उनकी लड़ाई होती रहती थी, तो मेरी मॉम ने मुझे गर्मियों की छुट्टियों मे उनके पास पढ़ने के लिए भेजना शुरू किया, उन्हे अभी शिफ्ट किए कुछ महीने ही हुए थे और आंटी घर से ज़्यादा बाहर भी नही निकलती थी तो मैने आंटी को कभी ध्यान से नही देखा था, मैने पहले उनके पास ट्यूशन जाने के लिए मना किया पर मॉम के इन्सिस्ट करने पर मैं मान गया और मैं पहले दिन उनके घर गया.

अंकल जॉब पे गये हुए थे और उनका बेटा अपने नानी के घर गया हुआ था और वो घर पे अकेली थी इस लिए उन्होने नाइटी पहनी हुई थी और उन्होने गेट खोला, वाउ उन्हे देख कर मेरे तो होश ही उड़ गये क्या फिगर था उनका 38,30,40 और उपर से गोरा रंग और मेरा तो वही लॅंड खड़ा हो गया, मैने अपनी बुक्स उसके सामने रख के अपना खड़ा लॅंड छुपाया और मैं अंदर आ गया और उन्होने गेट बंद कर दिया, हम रूम मे बैठ गये और वो मुझे पढ़ाने लगी और हमने फिज़िक्स के चॅप्टर से शुरू किया तो उन्होने मुझे पहले 2 चॅप्टर्स के कॉन्सेप्ट समझाए और कहा की उसके नुमेरिकल्स सॉल्व करो और मैं नहा के आती हूँ और इतना कह कर वो बाथरूम मे चली गयी, उनके जाने के बाद मैं तो उनी के बारे मे सोचता रहा और थोड़ी देर बाद वो आई और हाए क्या लग रही थी, रेड कलर का सूट डाला हुआ वो भी डीप नेक जिसमे से उनकी क्लीवेज दिख रही थी और उपर से सिल्की बाल मेरा लॅंड फिर से खड़ा हो गया.

उन्होने भी नोटीस किया की मैं थोड़ा अनकंफर्टबल हो रहा हूँ तो मैने उनको बोला की मैं नुमेरिकल्स घर जाके कर लूँगा और मैं घर आ गया, मैं सीधा बाथरूम मे गया और उनको सोच कर के मूठ मारी, अगले दिन मैं सारे नुमेरिकल्स सॉल्व करके फिर उनके घर पहुँच गया और आज उन्होने ब्लॅक सारी डाली हुई थी, तो हम अंदर बैठे और मैं नुमेररिकल्स चेक करवाने लगा और मेरे सारे नुमेरिकल्स ठीक थे तो उन्होने शाबाशी दी और कहा की ऐसे ही करते रहोगे तो 1स्ट आओगे, फिर हम पढ़ने लग गये और आज बायलॉजी का रिप्रोडक्षन चॅप्टर शुरू किया और मेरा तो बुरा हाल हो गया शुरू मे ही मेरा तो हाल्ल बुरा था ही पर वो पूरे मज़े लेके समझा रही थी सब कुछ और पढ़ते-पढ़ते कभी वो अपने दातों से लिप्स दबा लेती और कभी अपनी जीभ को अपने लिप्स पे लगाती और मैने थोड़ी देर बाद हिम्मत करके मॅम से पूछ ही लिया.

आंटी कुछ याद आ रहा है क्या तो आंटी ने बड़े कॅष्यूयली जवाब दिया की नही कुछ याद तो नही आ रहा पर कुछ करने को मन कर रहा है, मैने कहा क्या मतलब? तो उन्होने बुक्स बंद की और कहने लगी की कल मुझे देख कर अपना खड़ा लॅंड मुझसे छुपा रहा था और आज पूछ रहा है की क्या मतलब मुझे सब पता है की तुम मुझे चोदना चाहते हो, मुझे कोई प्राब्लम नही है पर फीलिंग्स मत बनाना कोई सिर्फ़ सेक्स करना है तो मैं रेडी हूँ और वैसे भी तेरे अंकल तो बहुत बोरिंग है, ये सब सुनके तो मुझे जैसे लाइसेन्स ही मिल गया और मैने झट से उनका पल्लू उतार दिया और उन्हे किस करने लगा और फिर मैने उन्हे लीप किस करना शुरू कर दिया, वो भी पूरा साथ दे रही थी और मेरा एक हाथ उनके मुलायम बूब्स दबा रहा था और दूसरा उनके पेटिकोट के अंदर उनकी चुत सहला रहा था, 10 मिनट तक तो हम लीप किस ही करते रहे और फिर मैने उनका ब्लाउस और ब्रा उतार दी और अब उनके बड़े-बड़े और मुलायम बूब्स आज़ाद हो चुके थे.

मैने उन्हे चूसना शुरू किया और वो धीरे-धीरे सिसकिया भरने लगी आआहहहह अहहह्हा ऊहह ऑश येआअह्ह्ह आ आ आ अहह, फिर उन्होने मेरी जीन्स उतार दी और मुझे बिल्कुल नंगा कर दिया और अपना पेटिकोट और पैंटी भी उतार दी और मेरा 7 इंच का लॅंड देख कर उन्होने स्माइल दी और मूह मे डाल कर चूसना शुरू कर दिया, क्या फीलिंग आ रही रही तब मैं तो सातवे आसमान पे था और फिर हम 69 पोज़िशन मे लेट गये और मैं उनकी चुत चूस रहा था और वो मेरा लॅंड, लगभग 5 मिनट के बाद मेरा माल निकला और सारा माल उन्होने अपने मूह मे ही छुटावा लिया और वो सारा माल पी गयी और वो भी झड़ चुकी थी, फिर उनसे सबर नही हुआ और उन्होने कहा की सॅम अब बस डाल दे अंदर और मैने उन्हे सीधा लेटाया और खुद उनके उपर लेटा और लॅंड अंदर डाल दिया और एक ही झटके मे मैने पूरा लॅंड अंदर डाल दिया और उनकी चीख निकल गयी पर उन्हे मज़ा भी आ रहा था.

Pages: 1 2

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *