ट्रेनिंग के दौरान किया चुदाई

हाई फ्रेंड्स, मेरा नाम पवन हैं और मैं पिपरिया का रहनेवाला हूँ मैं एम.टेक का स्टूडेंट हूँ और यही के एक कॉलेज में पढ़ रहा हूँ | आज आप को अपनी स्ट्रेंज सेक्स स्टोरी बताने जा रहा हूँ जिसमे मैंने अपने टीचर की बेटी चुदाई किया था | तो अब मैं कहानी पर आता हूँ |

मेरे कॉलेज का रिजल्ट आ गया था और मैं खुश था | मैं एक छोटी ट्रेनिंग करना चाहता था जिसके लिए मैंने कई जगह पर मेल किये हुए थे | मुझे बंगलौर के एक प्रोफेसर का रिप्लाय आया जो मुझे ट्रेनिंग देने में रूचि रखता था | मैंने सोचा की चलो वही रह लूँगा दूर हैं लेकिन वो प्रोफेसर का नाम अच्छा था और उसके नीचे ट्रेनिंग लो तो सीवी की अपने आप वेल्यु में बढ़ जाती | मैंने प्रोफेसर के मकान के पास ही एक पीजी एकोमोडेशन ले लिया | इस प्रोफेसर की एक बेटी थी और उसके मम्मे बहुत ही बड़े थे और कमर पतली सी और उसकी गांड उठी हुई थी | नसीब से वो भी मेरे साथ अपने पापा से वही ट्रेनिंग ले रही थी | हम लोग अक्सर साथ में पढ़ते थे | प्रोफेसर की बीवी 3 साल पहले ही मर चुकी थी|

loading…
घर में प्रोफेसर और उसकी बेटी रोहिणी ही रहते थे | जब मैं प्रोफेसर के पास जाता तो रोहिणी को ही देखता रहता | उसका मस्त बदन मुझे उत्तेजित करता रहता था | रोहिणी एक मोडर्न लड़की थी जिसे टॉप और स्कर्ट पहनना पसंद था | उसके ढीले टॉप के ऊपर से उसके मम्मे देखना अच्छा लगता था | कभी कभी मैं उसकी जांघ पर जानबूझ कर छू देता था इंस्ट्रूमेंट सेटिंग या दूसरे ऐसे काम के समय | पहले तो उसने नोटिस नहीं किया लेकिन फिर वो मुझे देखती जब मैं उसे छुआ करता जांघ प र| लेकिन वो कुछ नहीं बोली और मैं समझ गया कि उसे भी अच्छा लगता हैं इसमें | मैंने देखा की अब वो भी मुझे लाइन दे रही थी क्यूंकि मैंने उसे अक्सर अपनी ओर ताकते हुए पकड लिया |

कभी कभी मैं प्रोफेसर के घर वक्त से पहले ही पहुँच जाता और तब रोहिणी को बाथरूम से निकलते हुए देखने का मौका मिल जाता | कभी कभी वो टॉवल लपेट के बाहर आती जिसमे उसका क्लेवेज और मम्मे भी दिख जाते थे | मैं यही दृश्य को याद कर के मुट्ठ मार लेता था घर जा कर | मैं रोहिणी को पाना चाहता था और उसकी चूत को कैसे भी चोदना चाहता था |

उस दिन प्रोफेसर हमें कुछ दिखा रहे थे की तभी उनके मोबाइल पर कॉल आई और वो बातें करते करते कमरे से बहार हो गए | रोहिणी ने मेरी और देख के पूछा पवन डेड पढ़ाते हैं वो तुम्हे समझ में आता हैं ? मैंने कहा हाँ आता हैं | तो उसने कहा मुझे कुछ समझ नहीं आता हैं मैं शर्म के मारे कुछ कह भी नहीं सकती क्या मेरी मदद करोंगे ? क्या तुम मुझे अपने फ्री समय में बता दोंगे ? मेरी हालत तो बड़ी खुश हो गई | वो सामने से करीबी ढूंढ रही थी | मैं कहा, हां क्यूँ नहीं जब तुम कहो बता दूंगा तुम्हे !

उसने खुश हो के मुझे थेंक्स कहा और तभी प्रोफेसर कमरे में घुसे | उन्होंने चेयर पर बैठते हुए कहा मुझे कॉलेज के काम से कल से 2 दिन के लिए बाहर जाना हैं तो ट्रेनिंग उतने दिन बंद रहेंगी | मैं कुछ असाइंमेंट दे देता हूँ वो आप लोग कर लेना | प्रोफ़ेसर से छोटा सा होमवर्क दिया और उसी शाम को वो निकल गए | शाम को रोहिणी मुझे कॉर्नर के पिज़्ज़ा शॉप में मिल गई | मुझे देख के वो मेरे पास आ गई और कहा अंकित कैसे हो ? मैंने कहा ठीक हूँ श्रुति, असाइंमेंट कर लिया ? उसने कहा नहीं यार, मेरी फ्रेंड की बर्थडे हैं इसलिए उसने हमें आज ट्रीट दी हैं यहाँ पर | तुम एक घंटे में घर आओंगे हम साथ में कर लेंगे | मैंने कहा ठीक हैं मैं भी अपने लिए खाना लेने ही आया था | मैं तुम्हे मिलता हूँ एक घंटे में |

एक घंटे के बाद मैं उसके घर पहुंचा | नॉक किया तो दरवाजा खुला ही मिला | मैं अंदर घुसा और देखा की रोहिणी बाथरूम में थी | वो मेरे पीछे थी और मैंने उसे देखा और कुछ नहीं बोला | क्यूँ आज नहीं देखोंगे मुझे रोज तो देखने के लिए जल्दी आते हो | मैंने कुछ नहीं कहा और फट से उसका टॉवल पकड के उसे खिंच डाला | बाप रे उसने अंदर एक भी चीज नहीं पहनी थी | ना पेंटी ना ब्रा | उसकी चूत और बड़े मम्मे मेरे सामने थे | रोहिणी ने मुझे हग कर लिया और उसके मम्मे मेरी छाती को गीला करने लगे | मैंने उसके गले पर किस किया और वो मेरे कानो को किस करने लगी तो मैंने अपने हाथ से उसके मम्मे मसल दिए और उसे अपने से अलग कर के खुद भी नंगा हो गया | मेरा लंड देख के वो भी बड़ी खुश हो गई | उसने फट से मेरे लंड को अपने हाथ में ले लिया और सहलाने लगी | मैंने उसे पकड के उसके होंठो पर जोर से किस करने लगा | वो मेरे लंड को पकड के हिलाने लगी | रोहिणी ने कहा चलो बेडरूम में चलते हैं और वो मेरे लंड को पकड के बेडरूम की और चल पड़ी | अंदर घुसते ही मैंने उसे बिस्तर में लेटा दिया और खुद उसके ऊपर जा गिरा | अब हमने 69 पोजीशन बना ली | वो मेरे लंड को चूसने लगी और मैं उसकी चूत के अंदर अपनी जबान रगड़ने लगा | रोहिणी की सिसकियाँ निकलने लगी और वो लंड को अपने गले तक भर कर चूसने लगी | लेकिन मेरा लंड मुश्किल से उसके मुहं में आधा ही जा रहा था | फिर भी जो मजे दे रही थी और रोहिणी के साथ मैंने पूरा 10 मिनिट ऐसे ही चूसा | उसने कहा मेरी बुआ अभी दो घंटे के बाद सोने आएँगी मेरे साथ | तब तक तो हम दो बार कर ही सकते हैं |

Pages: 1 2

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *