ये टमाटर क्या रेट दिए

मैं उस पर टूट पड़ा और उसको किस करने लगा और उसके बूब्स दबाने लगा. मैं उनको बाहर निकालना चाहता था बट सूट और टाइट हो गया था वो हासणे लगी मैने गुस्से मे आ कर उसका सूट फाड़ दिया और परिंदो को आज़ाद कर दिया .उसने पिंक कलर की मॉडर्न ब्रा पहनी हुई थी उसकी तानिया एकदम खीची हुई थी और दो कबूतेर कह रहे थे बस हमे आज़ाद कर दो .मैने उस से कहा की सीमा जी अब तो इन्हे आज़ाद करदो इनकी वजह से ही आज मैं आपके मजे ले रहा हू.वो हस कर बोली तू किस काम का है तू ही कर दे .मैने जैसे ही उसके रसेले बूब्स पर हाथ रखा उसकी ब्रा की पीछे से हुक टडाक!!!!! कर के टूट गया . और उसके बूब्स मेरे हाथ मे आ गये. मैं सोच रहा था की भगवान जन्नत और कहा बस यही पर है .

मैं उनको धीरे धीरे दबाने लगा और किस करने लगा. मैने जैसे ही उसके पिंक लिप्स पर जीभ रखी वो इक दम से सिहर उठी. आआअहह ह्म्म्म्ममममम और मैं उसके लिप्स चूसने लगा मैने अपना हाथ उसकी सलवार मे डालने लगा उसने रोका यहा नही चलो अंदर चलते है. हम अंदर आ गये मैने उसको बेड पर लिटाया और धीरे से उसका नाडा खोला और सलवार नीचे करदी उसने पिंक कलर की पैंटी पहनी हुई थी .

उस से मदहोश करने वाली खुशबू आ रही थी मैं पैंटी के उपर से ही उसको सहलाने लगा वो सस्स्स्स्स्स्स्स्स्शह कर रही थी. मैने उसकी पैंटी उतारी और उसकी पिंक चुत देख कर मेरा लॅंड सलामी देने लगा मैं उसको सहला रहा था वो कह रही थी प्ल्ज़ डाल्लो ना .डाआाअल्ल्लूऊऊऊऊऊऊओ प्लज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़.मैने कहा इतनी जल्दी नही जानेमन बहुत दिन इंतेज़ार किया है पहले कुछ मजा तो कर ले वो समज गई. उसने मेरे को बेड पर लिटाया और मेरे लॅंड को मूह मे लेकर चूसने लगी. मुझे तो इतना मजा आ रहा था की मानो बस मेरे लिए दुनिया मे कुछ और नही.वो बिल्कुल पॉर्नस्टार ऑड्री बिटोनी की तरह लॅंड को मजे दे रही थी.

अब मैने उसको नीचे किया और अपना लॅंड उसकी गुलाबी रसीली चुत पर रखा और उसके उपर रगड़ने लगा .वो कह रही थी डालो.मैने इक ज़ोर का झटका मारा और मेरा आधा लॅंड अंदर वो चीलाई नही जो मैं एक्सपेक्ट कर रहा था शायद वो एक्सपीरियेन्सस थी इसलिए .

मैने इक और झटका मारा और सारा लॅंड अंदर .उसने हल्की सी सिसकी ली.और आँख बंद करके मजे लेने लगी. मैं आगे पीछे होने लगा कभी लॅंड अंदर कभी बाहर .वो आआअहह घमम्म्ममममम. सस्स्स्स्स्स्स्शह कर रही थी मैं उसकी गरम चुत मे लंड पेले जा रहा था वो भी चुत उठा उठा कर मजे ले रही थी .मुझे कभी भी इतना मजा नही आया था .फिर मैने उसको घोड़ी बनाया और चड़ने लगा .उसका मु लाल हो चुका था और मजे ले रही थी कह रही थी आज मत रुक . फिर हम दोनो इक साथ झड़ गये .मैने उसको किस किया और अपना लॅंड बाहर निकाला तो देखा की मेरा लॅंड लाल हो चुका है.वो भी हाफ़ रही थी. मैं उसके पास लेट गया. वो मेरी तरफ़ देख कर बोली ” क्यू जानेमन लग गया टमाटर का रेट ” हमे अपना फीडबॅक [email protected] पर मैल ज़रूर करे. कहानी पढ़ने के बाद अपने विचार नीचे कॉमेंट्स मे ज़रूर लिखे, ताकि हम आपके लिए रोज़ और बेहतर कामुक कहानियाँ पेश कर सके – डीके

Pages: 1 2